जटिल हो रहा कोरोना का जाल

संक्रमित लोगों में करीब 70% प्रवासी

कोरोना वायरस का जाल बिहार में और जटिल होता जा रहा है. कोरोना वायरस के संक्रमण की ज़द में गुरुवार को 149 नए मरीज आए हैं. इसके साथ ही कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 3185 हो गई है.





राजधानी पटना में कोरोना संक्रमित 13 नए मरीज मिलने से स्वास्थ्य विभाग और सजग हो गया है. पटना के धनरूआ में 10 नए मरीज मिले हैं. अगमकुआं में 2 और बाढ़ में एक मरीज मिलने के बाद हड़कंप मचा हुआ है. गया में कोरोना महामारी से 12 लोग तो पूर्णिया में 8 लोग संक्रमित मिले हैं. नवादा में 10 लोग फिर इससे इंफेक्टेड मिले हैं. और भागलपुर मेेे 17 नये पेेेशेेंट मिलेे हैं.
सिवान और खगड़िया में पांच- पांच लोग इस वायरस की चपेट में आ गए हैं तो सुपौल मे 3 व्यक्ति इससे पीड़ित मिले हैं.
गोपालगंज में कोविड – 19 के संक्रमण की चपेट में 2 लोग आ गए हैं तो औरंगाबाद और बेगूसराय में भी एक एक मरीज इस मर्ज की जद में आ गए हैं.
स्वास्थ्य सचिव लोकेश कुमार सिंह ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बताया कि बिहार में 70275 सैंपल की जांच हुई है जिनमें से कोरोना वायरस के संक्रमण से संक्रमित 3185 मरीज मिले हैं.

उन्होंने बताया कि कुल जांच का 4.4 फिसदी लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं. स्वास्थ्य विभाग के अनुसार सूबे में 1050 कोरोना संक्रमित मरीज के इलाज के बाद स्वस्थ्य हुए हैं. वहीं 3 मई के आने वाले प्रवासियों में 2168 कोरोना मर्ज से ग्रसित लोग मिले हैं. स्वास्थ्य विभाग के अनुसार अब तक सबसे ज्यादा महाराष्ट्र से आए प्रवासी कोरोना वायरस से संक्रमित मिले हैं. यहां से आने वाले 520 लोग तो दिल्ली से आए 477 प्रवासी कोविड 19 के वायरस से संक्रमित मिले हैं. वहीं गुजरात से लौटे 313 लोगों में यह मर्ज मिला है.
इधर सरकार कोविड – 19 के नेट को तोड़ने की कोशिश कर रही है. पीआरडी सचिव अनुपम कुमार ने जानकारी देते हुए कहा कि 13484 ब्लॉक क्वॉरेंटाइन केंद्र बनाए गए हैं जिसमें 600000 से अधिक लोग रह रहें हैं. अनुपम कुमार ने बताया क्वॉरेंटाइन की अवधि पूरा करने वाले 5 लाख 79000 व्यक्ति डिस्चार्ज हो कर घर जा चुके हैं.

हीरेश