ऑटो को ही बना डाला एम्बुलेंस जो देता है फ्री सेवा

पटना, 1 मई. भोपाल के एक युवक जावेद खान ने कोविड मरीजों के हेल्प के लिए एक अनोखा काम किया है. उसने अपने ऑटो रिक्शा को एंबुलेंस में बदल दिया है और फ्री में मरीजों को अस्पताल पहुंचा कर एक उम्मीद की रोशनी जगाता है. जहां कोरोनावायरस से लोग एक दूसरे की मदद के बजाय भागते नजर आ रहे हैं वैसे में जावेद द्वारा तैयार किया गया यह छोटा और अनोखा एंबुलेंस ना सिर्फ एक मिसाल है बल्कि उम्मीदों का एक किरण भी है.

जावेद ने अपने ऑटो को एंबुलेंस बनाने के लिए सोशल मीडिया पर इस तरह की कुछ वीडियो देखने के बाद ठाना और फिर अपनी पत्नी के गहनों को बेचकर उसने मरीजो की मदद के लिए ऑटो को एंबुलेंस का रूप दे दिया.




जावेद बताता है कि संकट दौर में एंबुलेंस की कमी को देखते हुए उसने मदद की मन में ठानी और एक छोटा प्रयास कर डाला. उसने एक गैस रिफिल सेंटर पर प्रयास कर ऑक्सीजन की जुगाड़ की और अपने ऑटो में उसे मरीजों के लिए लगा दिया. पिछले 15-20 दिनों से वह इस काम मे लगा हुआ है और अबतक 9 मरीजों की जान बचा चुका है. जावेद का नम्बर सोशल मीडिया पर सार्वजनिक है ताकि जरूरतमन्दों को वह अस्पताल तक पहुँचा सके.

साभार- ANI

PNCB

I