बड़ौरा उर्दू प्राथमिक स्कूल के लिए होगा निर्णायक जनांदोलन

गड़हनी ब्लॉक परिसर में 17 अक्टूबर 19 को लगेगा स्कूल

गडहनी ( भोजपुर ) आइसा-इंनौस और भगतसिंह युवा ब्रिगेड के नेतृत्व में बंद पड़े और जर्जर हो चुके बड़ौरा उर्दू प्राथमिक स्कूल के सवाल पर आगामी 17 अक्टूबर 2019 को गड़हनी ब्लॉक परिसर में विद्यालय लगाया जाएगा।गड़हनी ब्लॉक के बड़ौरा गाँव में स्थित उर्दू प्राथमिक विद्यालय का स्थापना 1947 में किया गया था।सुअरी ,शिवपुर ,सिकटी और बड़ौरा के बच्चे इस विद्यालय में पढ़ने आते थे। गाँव के मुस्लिम समाज के लोगों ने अपनी कब्रिस्तान की जमीन देकर इस स्कूल को बनवाया था।गांव के लोगों ने बताया कि 10 साल पहले यह स्कूल जर्जर हो गया और इस स्कूल को बंद कर दिया गया। ग्रामीणों ने नया भवन बनवाने के लिए BDO ,BEO ,DEO और अगिआंव विधानसभा के वर्तमान JDU विधायक माननीय प्रभुनाथ राम से मिले सभी आश्वासन देकर ही अपना पीछा छुडा लिया। यहाँ तक कि इस साल लोकसभा चुनाव में वोट मांगने आये BJP के उम्मीदवार और सांसद माननीय R.K Singh ने भी भरोसा दिलाया था पर अभी तक सरकार के शिक्षा विभाग , MLA और MP साहब के द्वारा कोई कदम नहीं उठाया गया।फिलहाल अभी यह स्कूल माननीय अरुण यादव के दालान में चल रहा है। भाकपा माले केंद्रीय कमिटी सदस्य मनोज मंज़िल ने कहा कि भाजपा सरकार इस देश के सभी प्राथमिक विद्यालयों को एक-एक कर बंद कर रही है। सरकार गरीब-दलित के बच्चों को शिक्षा से बेदखल उनके सपनों की हत्या कर रही। सरकारी स्कूल गरीब-वंचित पृष्ठभूमि के बच्चों के लिए सस्ती शिक्षा का स्रोत है। सरकारी फंड से शिक्षा पर खर्च करने के बजाए सरकार कॉरपोरेट घरानों को छूट दे रखी है कि वो सरकारी फंड से पैसे ले सकते हैं। बड़ौरा विद्यालय को इस साजिश का शिकार नहीं होने दिया जाएगा।




बड़ौरा गाँव के छात्र-नौजवानों और अभिभावको कि बैठक की गई।बैठक में शामिल लोगों ने कहा कि हम अपने स्कूल के जीवन को बचाएंगे, स्कूल के लिए लड़ेंगे और अपने भाई -बहनों के भविष्य उज्जवल बनाएंगे। बैठक में शामिल थे मो. फिदा हुसैन ,सोहराब अली ,अयूब अली ,गुलाम गौश ,महताब अंसारी ,युवा नेता अरमान अली ,मंज़र अली ,आलिम ,नौशाद ,नेयाज ,रेयाज ,सोनू ,मज़हर और मजहरुल हक़। आइसा-इंनौस-भगतसिंह युवा ब्रिगेड गाँव-गाँव में छात्र-नौजवानों और अभिभावकों की बैठक भी करेगा और आगामी 17 अक्टूबर को गड़हनी ब्लॉक परिसर में स्कूल लगाया जाएगा। जनसंघर्ष और जनएकता के बदौलत इस स्कूल को फिर से बनवाया जाएगा और इस संघर्ष को जीता जाएगा।

गड़हनी से मुरली मनोहर जोशी की रिपोर्ट