अब एयर इंडिया टाटा के हाथ

टाटा एयर लाइंस की फाइल फोटो
जे आर डी टाटा एयर इंडिया के प्लेन के साथ

दिल्ली:एयर इंडिया के लिए पैनल ने टाटा ग्रुप को चुन लिया है. एयर इंडिया के लिए टाटा ग्रुप और स्पाइसजेट के अजय सिंह ने बोली लगाई थी. सूत्रों की माने तो टाटा ने इस बोली जीत लिया है. उम्मीद किया जा रहा है कि दिसम्बर तक टाटा को एयर इंडिया का मालिकाना हक मिल जाएगा .जेआरडी टाटा ने 1932 में टाटा एयरलाइंस की स्थापना की थी.

एयर इंडिया की घर वापसी

दूसरे विश्व युद्ध के वक्त विमान सेवाएं रोक दी गई थीं. जब फिर से विमान सेवाएं बहाल हुईं तो 29 जुलाई 1946 को टाटा एयरलाइंस का नाम बदलकर उसका नाम एयर इंडिया लिमिटेड कर दिया गया. आजादी के बाद 1947 में एयर इंडिया की 49 फीसदी भागीदारी सरकार ने ले ली थी. 1953 में इसका राष्ट्रीयकरण हो गया. लोगों का मानना है कि कई बार उठा पटक के बाद टाटा ने एक बार फिर 2021 में टाटा एयर इंडिया को अपने स्वामित्व में शामिल कर लिया है.जल्द ही एयर इंडिया अब टाटा के हवाले होगा.