आ गया है पटना डीएम का आदेश, कब खुलेगी कौन सी दुकान

हफ्ते के अलग-अलग दिन खुलेंगी अलग-अलग दुकानें 31 मई तक जारी लॉकडाउन के बीच दुकानों को खोलने का पूरा प्रारूप पटना के डीएम कुमार रवि ने तय कर दिया है. दुकानों को अलग—अलग 6 श्रेणियों में पटना के जिला प्रशासन की तरफ से बांटा गया है. अगले आदेश तक इसी नए प्रारूप के हिसाब से पटना की दुकानें खुलेगी. सबसे बड़ी बात यह है कि सभी श्रेणियों की दुकान शाम के 6 बजे तक ही खोली जाएगी. जिला प्रशासन की तरफ से दुकान खोलने के लिए शर्तें भी रखी गई है. डीएम ने कहा कि लोगों के लिए अनिवार्य किया गया है कि कि वह अपने घर के निकट स्थित दुकानों से ही खरीदारी करेंगे. श्रेणी एक प्रतिदिन खुलनेवाले दुकान /प्रतिष्ठानों की सूची- किराना दुकान डेयरी /मिल्क बूथ मेडिकल /दवा की दुकान ई-कॉमर्स सेवा फल सब्जी मंडी पशु चारा की दुकान ऑटोमोबाइल वर्कशॉप/ गैरेज एवं सर्विसिंग सेंटर सभी अस्पताल होम डिलीवरी सेवा ( रेस्टोरेंट आदि से) अनाज मंडी कृषि कार्य से जुड़े सभी प्रतिष्ठान मीट एवं मछली की दुकान अन्य आवश्यक आपातकालीन सेवाएं श्रेणी दो सोमवार ,बुधवार ,शुक्रवार को खुलने वाले दुकानों /प्रतिष्ठानों की सूची- 1/इलेक्ट्रिकल गुड्स, पंखा ,कुलर, एयर कंडीशनर (विक्रय एवं मरम्मत) 2/इलेक्ट्रॉनिक गुड्स -यथा मोबाइल, लैपटॉप ,कंप्यूटर, यूपीएस एवं बैटरी (विक्रय एवं मरम्मत) 3/ऑटोमोबाइल्स, टायर एवं ट्यूब्स,Lubricant (मोटर वाहन /मोटरसाइकिल/ स्कूटर मरम्मत सहित). 4/निर्माण सामग्री के भंडारण एवं बिक्री से संबंधित प्रतिष्ठान यथा सीमेंट, स्टील, बालू स्टोन, मिट्टी, सीमेंट ब्लॉक ,ईंट, प्लास्टिक पाइप ,हार्डवेयर ,सैनिटरी फिटिंग, लोहा ,पेंट ,शटरिंग सामग्री. 5/ऑटोमोबाइल स्पेयर पार्ट्स की दुकानें 6/हाई सिक्योरिटी

Read more

सरकार का आदेश जारी, देखिए कौन-कौन सी दुकान है खुलने वाली

लॉक डाउन के बीच बिहार सरकार ने 6 मई को बड़ा आदेश जारी किया है. गृह विभाग ने सभी डीएम और एसपी को पत्र लिखकर जानकारी दी है कि अब बाजार खुलेंगे. विशेष रूप से हर तरह के निर्माण कार्य, मरम्मत और रिपेयरिंग वर्क आदि दुकानों को खोलने की अनुमति दे दी गई है. बिहार सरकार ने इलेक्ट्रिक गुड्स, पंखा, कूलर, एयर कंडीशनर दुकान खोलने एवं मरम्मत करने वाली दुकान शुरू करने के आदेश दिए हैं. इसके अलावा मोबाइल दुकान, कंप्यूटर दुकान, लैपटॉप, यूपीएस और बैटरी विक्रय और मरम्मत दुकान चालू होगी. निर्माण सामग्री के भंडारण एवं बिक्री से संबंधित प्रतिष्ठान जैसे सीमेंट,स्टील,बालू-गिट्टी, सैनिटरी फिटिंग, लोहा, पेंटिंग सामान खोलने की इजाजत भी दी गई है. इनके अलावा ऑटोमोबाइल्स, टायर, ट्यूब, मोटर वाहन, मोटरसाइकिल, स्कूटर मरम्मत गैरेज सहित ऑटोमोबाइल स्पेयर पार्ट्स की दुकान प्रत्येक एक दिन के अंतराल पर खोली जा सकती हैं. गैराज एवं वर्कशॉप प्रतिदिन खोले जाएंगे. हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट की दुकान प्रमंडलीय मुख्यालय स्तर पर दो तथा जिला स्तर पर एक दुकान खोली जा सकती है. इसके अलावा प्रदूषण जांच केंद्र खोलने का भी आदेश दिया गया है. हालांकि इन सभी के लिए परिस्थितियां देखकर निर्णय लेने का अधिकार जिलाधिकारी के पास होगा. राजेश तिवारी

Read more