लाख समझाने पर भी नहीं मान रहे थे लोग, लीजिए हो गया उपाय

पटना में जिला प्रशासन की सख्त कार्रवाई गृह विभाग, बिहार, पटना द्वारा प्रदत्त निदेश के आलोक में दुकानों/ प्रतिष्ठानों के संचालन हेतु जिलाधिकारी द्वारा पूर्व में आदेश निर्गत है. उच्च स्तरीय निदेश के आलोक में उक्त आदेश में निम्न प्रकार से आंशिक संशोधन किये गए हैं. पटना में फल एवं सब्जी दुकाने/ मंडी तथा मांस एवं मछली की दुकानों के संचालन की अवधि प्रातः 6:00 बजे से 10:00 बजे पूर्वाहन तक ही रहेगी. शेष सभी दुकानों/ प्रतिष्ठानों का संचालन पूर्व निर्गत आदेश में उल्लिखित शर्तों के साथ होगी. यह आदेश 6 सितंबर तक प्रभावी रहेगा. बिहार में अभी तक फल सब्जी और मांस मछली की दुकानों के लिए सुबह 6:00 से 11:00 और शाम 4:00 से 7:00 तक का समय जिला प्रशासन ने दिया था. लेकिन शाम में बाजार में जरूरत से ज्यादा भीड़ हो रही थी जिसमें सोशल डिस्टेंसिंग का कोई ख्याल नहीं रखा जा रहा था. यही नहीं दुकानदार 7:00 बजे के बाद भी दुकान बंद नहीं कर रहे थे. पटना में लगातार संक्रमित व्यक्तियों की संख्या तेजी से बढ़ रही है. लगातार ऐसी शिकायत को देखते हुए अब प्रशासन ने सख्त रुख अपनाया है और 23 अगस्त से 6 सितंबर तक के लिए फल सब्जी और मांस मछली की दुकानों के लिए समय सिर्फ सुबह 6:00 से 10:00 तक ही तय कर दिया है. यानी अब शाम में फल-सब्जी या मांस मछली की दुकानें नहीं खुलेगी. PNCB

Read more

1 अगस्त से पटना में ऐसे होगा काम

बिहार में 16 दिनों का एक और लॉकडाउन लगने के बाद लोगों के जेहन में यह सवाल बार-बार आ रहा था कि आखिर इस दौरान कौन-कौन सी दुकान खुलेगी, कौन-कौन से दफ्तर खुलेंगे और इनके खुलने की अवधि क्या होगी. सरकार ने एक ओर जहां 1 अगस्त से 16 अगस्त तक लॉकडाउन की घोषणा की है, वही हर जिले में परिस्थितियों के मुताबिक जिलाधिकारी को फैसला लेने का अधिकार दिया है. पटना डीएम कुमार रवि ने देर रात निर्देश जारी किया है. पटना में 1 अगस्त से 16 अगस्त के बीच सभी दुकानें और दफ्तर खुल सकते हैं. हालांकि उनके लिए खुलने की अवधि सुबह 10:00 से शाम 6:00 बजे के बीच होगी. निजी प्रतिष्ठान 50% स्टाफ के साथ काम कर सकते हैं. फल सब्जी और मांस मछली की दुकानों के लिए भी समय तय किया गया है. फल सब्जी और मांस मछली की दुकानें सुबह 6:00 बजे से 11:00 बजे तक और दोपहर 3:00 से शाम 7:00 बजे तक खुलेगी. रात 10 से सुबह 5 बजे तक कर्फ्यू रहेगा. किसी भी शॉपिंग मॉल में स्थित दुकान नहीं खुलेगी. रेस्टोरेंट, ढाबा या भोजनालय से सिर्फ होम डिलीवरी या टेक अवे सर्विस होगी. सबसे महत्वपूर्ण, आपको अपनी जरूरत की चीजें घर के नजदीक दुकान से ही लेनी होगी. बेवजह और नियम विरुद्ध सड़क पर पकड़े जाने पर कानून के मुताबिक कार्रवाई होगी. PNCB

Read more

पटना लॉकडाउन में क्या करें और क्या नहीं

पटना जिला मेंं 10 जुलाई से 16 जुलाई तक लाकडाउन लागू किया गया है. लॉकडाउन के दौरान आम लोगों के द्वारा कई प्रकार के प्रश्न पूछे जाते हैं. सामान्य रूप में अधिकतम पूछे जाने वाले प्रश्न एवं उसके उत्तर निम्नवत हैंं- 1/क्या सरकारी कार्यालय बंद रहेंगे? नहीं.अनिवार्य सेवाओं को लॉकडाउन से मुक्त रखा गया है . पुलिस जिला प्रशासन अग्निशमन राजस्व प्राप्ति के कार्यालय निबंधन परिवहन आदि.लॉक डाउन की अवधि में किसी सरकारी कार्यालय को अत्यावश्यक कार्यवश खोला जा सकता है. परंतु संबंधित कार्यालय प्रधान द्वारा कर्मियों की न्यूनतम संख्या के साथ अत्यावश्यक सरकारी कार्यों का निष्पादन किया जा सकेगा. साथ ही यह उप कार्यालय प्रधान की जिम्मेवारी होगी कि सरकार द्वारा निर्गत सभी सोशल डिस्टेंसिंग मानकों का पालन हो रहा हो अथवा कार्यस्थल पर फेस मास्क अथवा फेस कवर का उपयोग करना होगा। 2/क्या वाहनों के परिचालन के लिए पास की आवश्यकता है?नहीं.अति आवश्यक सेवाओं के लिए वाहन का उपयोग किया जा सकेगा तथा सामानों का क्रय आसपास के दुकानों से क्रय किया जाना अपेक्षित होगा. वाहन के परिचालन के क्रम में यातायात नियमों का पालन करना होगा तथा मास्क पहनना एवं सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन अनिवार्य होगा. 3/रेल सेवा/ विमान सेवा/ सार्वजनिक बस सेवा कार्यरत रहेगी?हां.रेल सेवा विमान सेवा सार्वजनिक बस सेवा के परिचालन पर किसी प्रकार की रोक नहीं है. यात्रियों को अपने गंतव्य स्थल तक जाने हेतु पास की आवश्यकता नहीं है वे अपने टिकट को पास के रूप में उपयोग कर सकेंगे वाहन को उपयोग के समय यातायात नियमों का पालन किया जाना आवश्यक होगा

Read more

पटना समेत इन जिलों में लगा लॉकडाउन

बिहार में जिस तेजी से कोरोनावायरस का संक्रमण बढ़ रहा है. उसने सरकार को भी सोचने पर मजबूर कर दिया है. सरकार ने बिहार के सभी जिलों के डीएम को यह अधिकार दिया है कि वे परिस्थिति के मुताबिक अपने जिले में लॉकडाउन लगा सकते हैं. पटना में डीएम कुमार रवि ने 10 जुलाई से 16 जुलाई तक लॉकडाउन की घोषणा की है. हालांकि इस दौरान ना सिर्फ इमरजेंसी सेवाओं को बल्कि परिवहन को भी मुक्त रखा गया है. पटना के अलावा कई अन्य जिलों में भी लॉकडाउन की घोषणा की गई है. भोजपुर में 11 से 15 जुलाई तक; कैमूर में 10 से 17 जुलाई तक, भागलपुर में 9 से 15 जुलाई तक, मुंगेर और पूर्णिया 10 से 16 जुलाई, बक्सर और नवादा 10 से 12 जुलाई, मोतिहारी और खगड़िया 10 से 14 जुलाई तक लॉकडाउन रहेगा.

Read more

10 से 16 जुलाई तक लॉकडाउन

कोरोनावायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए बिहार सरकार ने कड़ा फैसला किया है. बिहार के सभी जिलाधिकारियों को सरकार ने लॉकडाउन लगाने के लिए अधिकृत कर दिया है. पटना में जिलाधिकारी कुमार रवि ने 10 जुलाई से 16 जुलाई तक लॉक डाउन करने की घोषणा की है. इस दौरान पटना पूरी तरह बंद रहेगा. हालांकि आवश्यक सेवाओं को छूट रहेगी. सरकारी और निजी तमाम दफ्तर बंद रहेंगे सभी दुकानें बंद रहेंगी सिर्फ अस्पताल और अन्य इमरजेंसी सेवाओं को खुला रखने की छूट दी गई है बता दें कि पटना में मंगलवार शाम तक 1400 पॉजीटिव हो चुके थे. कोरोना संक्रमण से 12 लोगों की पटना में अब तक मौत हो चुकी है. डीएम के आदेश के मुताबिक दूध, फल-सब्जी और राशन की दुकानें खुली रहेंगी. हालांकि इन्हें खोलने का वक्त भी तय कर दिया गया है. सुबह 6:00 से 10:00 और शाम में 4:00 से 7:00 के बीच ही कोई भी दुकान खुलेगी. दवा की दुकानों के लिए समय का कोई प्रतिबंध नहीं है. राजेश तिवारी

Read more