खाद्य पदार्थों की हुई ऑन स्पॉट जांच,कई के सामान निकले खराब

स्ट्रीट फूड में बिक रहे जहर 30 जांच में आया सामने शहर में घूमी फूड सेफ्टी ऑन व्हील्स की गाड़ी, इट स्मार्ट सिटी चैलेंज के अंतर्गत आयोजित हुआ कार्यक्रम खराब सामान बेचने वाले पर होगी कार्रवाई पटना : फूड सेफ्टी ऑन व्हील्स कार्यक्रम के तहत शहर के रेस्टोरेंट्स एवं स्ट्रीट फूड के खाने की गुणवत्ता की जांच की गई। पटना स्मार्ट सिटी लिमिटेड द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में फूड सेफ्टी विभाग द्वारा एक वाहन शहर में परिचालित किया गया जो कि शहर के विभिन्न दुकान एवं रेस्टोरेंट के फूड सैंपल की ऑन स्पॉट जांच करें। शहर के विभिन्न इलाकों में फूड सेफ्टी की गाड़ियां घूम कर न सिर्फ खाद्य पदार्थों की जांच की बल्कि लोगों को जागरूक भी किया। गांधी मैदान और बोरिंग रोड इलाके में चला कैंपेन फूड सेफ्टी ऑन व्हील्स कार्यक्रम के तह टीम द्वारा गांधी मैदान एवं बोरिंग रोड इलाके में स्थित स्ट्रीट फूड एवं रेस्टोरेंट और होटल का सैंपल लिया गया एवं ऑन स्पॉट जांच की गई। सभी जांच किए गए सैंपल के आधार पर दुकानों को सर्टिफिकेट भी प्रदान किया गया कार्यक्रम के दौरान 4 लोगों की टीम गाड़ी में मौजूद रही। जिसमें फूड सेफ्टी विभाग के अधिकारी एवं कर्मी उपस्थित रहे। कुल 30 स्ट्रीट फूड एवं रेस्टोरेंट का सैम्पल जांच किया गया। जिसमें 4 जगहों के खाद्य सामग्री में गड़बड़ी पाई गई। जिसको बदलने का निर्देश पदाधिकारियों द्वारा दिया गया। कार्यक्रम के दौरान डॉक्टर सत्येंद्र सागर, डॉ महेंद्र प्रताप सिंह, रत्नेश झा, मुनेश चंद्र प्रसाद, विनय कुमार सिंह, सुरेंद्र प्रसाद सहित अन्य लोग मौजूद

Read more

5,10 और 100 के पुराने नोटों पर ये है लेटेस्ट जानकारी

जबसे सोशल मीडिया में यह खबर वायरल हुई है कि भारत में ₹5, ₹10 और ₹100 के पुराने नोट बंद होने वाले हैं उसके बाद से ही आम लोगों में हड़कंप मचा हुआ है. दरअसल एक कार्यक्रम के दौरान आरबीआई के एक अधिकारी ने जो बयान दिया था उसे सोशल मीडिया पर डालने के बाद यह कंफ्यूजन पैदा हुआ. इसके बाद लोगों के दिमाग में आशंका घर कर गई है कि ₹5, ₹10 और ₹100 के पुराने नोट हैं उन्हें बंद कर दिया जाएगा और सिर्फ नए नोट ही प्रचलन में रहेंगे. पिछली नोटबंदी में भारी फजीहत झेल चुके लोगों के लिए यह खबर किसी बड़ी झटके से कम नहीं थी. सोशल मीडिया में इस खबर के वायरल होने के बाद प्रेस इनफार्मेशन ब्यूरो(P.I.B) ने ट्वीट करके अपने फैक्ट चेक के जरिए लोगों को जानकारी दी है यह ख़बर पूरी तरह फर्जी है इसमें कहीं कोई सच्चाई नहीं है. क्या है मामला! दरअसल एक कार्यक्रम के दौरान रिजर्व बैंक के एक अधिकारी ने मंच पर यह कहा था कि हम पुराने नोट जो उपयोग के लायक नहीं हैं, उन्हें वापस लेंगे. यह पूरी तरह सामान्य प्रक्रिया है जो सालों भर चलती रहती है. इसमें कुछ भी नया नहीं है. जो नोट कट जाते हैं या फट जाते हैं या उपयोग के लायक नहीं रहते उन्हें रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया में नए नोटों के बदले बदला जा सकता है और रिजर्व बैंक ऐसे फटे पुराने नोटों को नष्ट कर देता है. इसी खबर को कुछ इस तरह सोशल मीडिया पर पेश

Read more