घनश्याम शुक्ल के निधन पर शोक सभा का आयोजन

गाँधी-जेपी परंपरा के अनूठे और जीवंत कर्मयोगी का निधन चित्र बना दी श्रद्धांजलि आरा, 24दिसंबर. सर्जना न्यास के कार्यालय में आज गाँधी-जेपी की परंपरा के अनूठे और जीवंत कर्मयोगी बिहार के सिवान जिले के पंजवार गांव के घनश्याम शुक्ल के निधन पर एक सभा का आयोजन किया गया. उन्हें स्नेह से सभी गुरुदेव भी कहा करते थे. गुरुदेव शुक्ल महान शिक्षाविद जिन्होंने स्कूल, कॉलेज, संगीत विद्यालय, स्पोर्ट्स अकादमी आदि की स्थापना की और वे आखर के संरक्षक भी थे. न्यास के अध्यक्ष एवं वरिष्ठ चित्रकार संजीव सिन्हा ने उनके साथ बिताएं पल को याद करते हुए कहा की उनसे मेरी पहली मुलाकात भोजपुरिया स्वाभिमान आंदोलन के कार्यक्रम, पंजवार में जब बच्चों के नाटक को लेकर गया था तब हुई थी. नाटक की प्रस्तुति के बाद जब बच्चे मंच से उतरे तब उन्होंने सभी बच्चों को गले लगा कर जो स्नेह किया वह मुझे आज भी याद है. बच्चे भी उनके प्यार को याद करते हैं. भोजपुरी संस्कार गीतों के कार्यक्रम में जब वो आरा आए तब उन्होंने उन बच्चों को खोजा और उनसे मिले. भोजपुरी कला यात्रा, पंजवार में कार्यशाला के दौरान वो बच्चों के बीच बैठ कर भोजपुरी चित्रकला सिख रहे थे और उन्होंने कहा अभी आप मेरे गुरु हैं. ये गौरव उनहोंने मुझे दिया. उनके साथ बिताए हुए पल मेरे जीवन के बेशकिमती पलों में से एक है. उनका व्यक्तित्व, कृतित्व उन्हें हमेशा अमर रखेगा. ऐसे सौम्य व्यक्तित्व को बार बार नमन है, ऑनलाईन जुड़े लोगों में मनोज दुबे, शशि रंजन मिश्रा, बृजम पाण्डेय ने भी उन्हें याद

Read more

कुणाल बीडी राय इंटर कॉलेज के संस्थापक प्रो नवल किशोर राय का हार्ट अटैक से निधन, शिक्षाजगत में शोक

गड़हनी,13 जुलाई. प्रखंड के बँगवा गांव में स्थित कुणाल बीडी राय इंटर कॉलेज के संस्थापक प्रो० नवल किशोर राय की मृत्यु रविवार को हार्ट अटैक से हो गई. उनकी मृत्यु से शिक्षा जगत में शोक की लहर दौड़ गई. मिली जानकारी के अनुसार शुक्रवार को उनकी तबियत अचानक बिगड़ गई,सांस लेने में समस्या होने लगी,जिसके बाद सदर अस्पताल आरा में एडमिट किया गया. स्थिति सामान्य होने के बाद वापस घर आ गए. रविवार की रात हार्ट अटैक आया जिसके बाद आनन-फानन में पटना एम्स ले जाने के क्रम में उनकी मृत्यु हो गई. कुणाल बीडी राय इंटर कॉलेज बंगवा शिक्षक संघ के नेता प्रो अविनाश कुमार ने गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कि प्रो नवल किशोर राय एक नेक दिल इंसान थे. सही को सही और गलत को गलत कहने में तनिक भी नहीं हिचकते थे. उनका इस तरह असमय चले जाने से पूरा महाविद्यालय परिवार शोकाकुल है. प्रो अमित कुमार, प्रो कुणाल कुमार सिंह,कस्यप कुमार,श्यामली राय, प्रो नरगिस बानो, प्रो विनय कुमार सिंह,विशाल कुमार, शिवानी कुमारी, रविशंकर सिंह, प्रो नाजनिम फातिमा, लव जी कुमार, विजेंद्र कुमार सत्यार्थी, राज शेखर , आरती कुमारी सहित सैकड़ों लोगों ने गहरी संवेदना व्यक्त की है. गड़हनी से मुरली मनोहर जोशी की रिपोर्ट

Read more