दूरदर्शन कर्मचारी का हुआ ये हाल

चेन्नई (ब्यूरो रिपोर्ट) | प्रसार भारती ने चेन्नई दूरदर्शन केंद्र की महिला अधिकारी को बिना कोई लिखित कारण के निलंबित कर दिया है. कहा जा रहा है कि दूरदर्शन केंद्र, पोधिगाई (Podhigai) की असिस्टेंट डायरेक्टर (प्रोग्रामिंग) आर वासुमति (R Vasumathi) ने कथित तौर पर चेन्नई में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण के प्रसारण को रोक दिया था. इसी कारण उस महिला अधिकारी के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की गई है. एक अक्टूबर मंगलवार को इस मामले में प्रसार भारती के सीईओ शशि शेखर वेम्पती की ओर से वासुमति के निलंबन का आदेश जारी किया गया है. हालांकि इस आदेश में निलंबन का कोई कारण नहीं बताया गया है और सिर्फ अनुशासनात्मक कार्यवाही की बात कही गई है. प्रसार भारती के सूत्रों हवाले से यह कहा जा रहा है कि आदेशों को न मानने और मोदी के कार्यक्रम की कवरेज न दिखाने को लेकर वासुमति के खिलाफ ये कार्रवाई की गई है. जैसा कि विदित है, 30 सितंबर को चेन्नई में प्रधानमंत्री मोदी ने दो कार्यक्रमों को संबोधित किया था जिसमें एक आईईटी मद्रास का 56वां वार्षिक दीक्षांत समारोह था और दूसरा IIT मद्रास के रिसर्च सेंटर में सिंगापुर-इंडिया हैकेथॉन-2019 शामिल था. पीएम ने चेन्नई हवाई अड्डे पर उतरने के बाद भाजपा समर्थकों की एक सभा को संबोधित किया जहां उन्होंने तमिल भाषा के इतिहास के बारे में बात की, जिसे डीडी पोडिगई द्वारा लाइव टेलीकास्ट किया गया था. दूरदर्शन के पोधिगाई केंद्र ने IIT मद्रास के दीक्षांत समारोह का तो लाइव प्रसारण किया, लेकिन हैकेथॉन में मोदी के भाषण का प्रसारण

Read more

उपसभापति हरिवंश पर खूब बोले प्रधानमंत्री

बिहार में जदयू कोटे से राज्यसभा सांसद हरिवंश आज राज्यसभा के उपसभापति चुन लिए गए. हरिवंश के सामने मुकाबले में थे बी के हरिप्रसाद. वोटिंग में हरिवंश को 125 मत मिले जबकि बी के हरिप्रसाद को 105. हरिवंश वर्ष 2014 से ही राज्यसभा सांसद हैं. हरिवंश के राज्यसभा के उप-सभापति निर्वाचित होने पर प्रधानमंत्री की टिप्पणी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज हरिवंश को राज्य सभा का उप-सभापति निर्वाचित होने पर बधाई दी. चुनाव के कुछ ही समय बाद राज्य सभा में बोलते हुये प्रधानमंत्री ने सदन के नेता अरुण जेटली के बीमारी से उबर कर सदन में वापस आने पर भी अपनी प्रसन्नता व्यक्त की. प्रधानमंत्री ने इस बात का जिक्र किया कि हम लोग आज भारत छोड़ो आंदोलन की वर्षगांठ मना रहे हैं.  उन्होंने कहा कि हरिवंश जी बलिया से आते हैं जो कि 1857 के स्वतंत्रता संग्राम के समय से ही स्वतंत्रता आंदोलन से जुड़ी रहा है. प्रधानमंत्री ने कहा कि हरिवंश ने लोकनायक जय प्रकाश नारायण से प्रेरणा ग्रहण की है. प्रधानमंत्री ने इस बात का भी स्मरण दिलाया कि हरिवंश जी ने पूर्व प्रधानमंत्री चंद्र शेखर जी के साथ भी काम किया था. प्रधानमंत्री ने कहा कि चंद्र शेखर जी के साथ काम करने की वजह से हरिवंश जी को पहले से ही इस बात का पता था कि चंद्र शेखर जी पद त्याग देंगे. प्रधानमंत्री ने कहा कि लेकिन इस बात की खबर उन्होंने अपने समाचार पत्र को भी नहीं लगने दी जो कि सरकारी सेवा और नैतिकता के प्रति उनकी प्रतिबद्धता को दर्शाता है. प्रधानमंत्री ने

Read more