शहीद बीएसएफ जवान आशु रंजन को श्रद्धांजलि देने उमड़ा शहर

गुरुवार की देर रात जैसे ही कुरकुरी के रहने वाले बीएसएफ के शहीद जवान आशु रंजन के पार्थिव शरीर को सेना के अधिकारियो के काफिले के साथ लेकर फुलवारी शरीफ पहुंची तो अपने लाल को सलामी देने झमझम बारिश में भी पूरा शहर से लेकर गाँव तक लोगो का हुजूम सडको पर उमड़ पड़ा. झमाझम बारिश में भी शहर वासियों के जज्बे न हुए कम औरे  देर रात तक शहीद का गाँव में भारत माँ के लाल तुझे सलाम के नारे गूंजते रहे इन्डियन आर्मी जिंदाबाद शहीद आशु रंजन अम रहें आदि नारे गूंजते रहे.

अपनी मिटटी के लाल के शहादत के बाद उसके पार्थिव शरीर के आने पर लोगों ने जगह जगह फुलों की बारिश करके सम्मान प्रकट किया. देर रात ग्यारह बजे के बाद हजारों लोगों के जोशपूर्ण देशभक्ति नारे के बीच जब शहीद जवान के घर कुरकुरी में उसका पार्थिव शरीर पहुंचा तो उसकी माँ शैल देवी ने सैल्यूट देकर अपने कोख के लाल को सलाम किया और बेहोश हो गयी. इससे पहले लोगों ने शहीद जवान की माँ के जोशपूर्ण सलामी देख अपने आंसू नही रोक पाए जो अपने लाल के स्वागत में सीना ताने खडी थी.  वही पत्नी पति की शहादत की खबर सुनकर पहले ही बीमार हो गयी थी जो अपने सुहाग के दीदार के लिए आते ही तिरंगे में लिपटे सुहाग को देख पछाड़ खाकर गिर पड़ी. सेना के जवानों जो साथ आये थे वो शहीद साथी के पार्थीव शरीर को उसके माँ के पास रखकर ताबूत के पास से अन्य लोगों को बाहर करके खुद ही बिलख पड़े. शहीद जवान आशु की बहन मिंकू सहित दोनों बेटियाँ और छोटी बहन दादी चाची अन्य पारिवारिक और गाँव के लोगों के आँखे बरस रही थी जो बाहर बुस्लाधर बारिश को मात दे रही थी वही फुलवारी और आस पास से आये हजारों युवा भारत माता की जयकारे लगते फुल बरसाते रहे. शहीद जवान के पार्थिव शारीर के साथ सेना अधिकारियो सहित स्थानीय थानेदार रफीकुर रहमान और जिला प्रशासन के लोगो का हुजूम मौजूद रहा.




वही देर शाम से ही पटना के फुलवारी शरीफ के कुरकुरी गाँव के रहने वाले बीएसएफ  जवान आशु रंजन के बाड़मेड़ में ड्यूटी के दौरान बटालियन के साथ वापस कैम्प लौटने वक्त अचानक हार्ट अटैक से हुई मौत के बाद उसके पार्थिव शरीर के आने के इन्तेजार में पूरा शहर नम आँखों से अपने लाल की एक झलक पाने के लिए सडक किनारे खड़े रहे. सैंकड़ो युवा हाथो में तिरंगा लिए चुनौती कुआं शहीद भगत सिह चौक से लेकर सभी प्रमुख चौक चौराहे पर शहीद जवान आशु रंजन के पार्थिव शरीर की एक झलक पाने के लिए डटे थे. जैसे ही गुरुवार की रात बीएसएफ जवान आशु रंजन का पार्थिव शरिर फुलवारी शरीफ पहुंचा पूरा इलाका शहीद आशु रंजन अमर रहें भारत माता की जय के नारे से गूंज उठा..

पटना से अजीत