नीतीश कैबिनेट में युवाओं की भरमार

बिहार में कैबिनेट विस्तार के बाद अब नीतीश मंत्रिमंडल में 31 मंत्री हो गए हैं. इनमें से 19 नए चेहरे हैं और सबसे बड़ी बात यह कि बिहार की इस नई कैबिनेट में युवाओं की भरमार है. यह संभवत देश के किसी राज्य की कैबिनेट से ज्यादा युवा कैबिनेट है हालांकि इसमें वरिष्ठ नेता भी शामिल हैं जिनमें उम्रदराज नीतीश कुमार और विजेंद्र यादव भी हैं. बिहार कैबिनेट में शामिल मंत्रियों में सबसे युवा जयंत राज हैं जिनकी उम्र 35 साल है जबकि सुमित कुमार सिंह की उम्र 37 वर्ष है.

वही नितिन नवीन 40 वर्ष के जबकि आलोक रंजन, जनक राम, जमा खान और लेसी सिंह भी 50 वर्ष से कम उम्र के हैं. मंत्रिमंडल में फिर जगह बनाने वाले मदन सहनी भी करीब 50 साल के हैं. यानी इस पूरे मंत्रिमंडल में युवाओं की भरमार है. 9 फरवरी को कैबिनेट विस्तार में भाजपा के 9 और जदयू के 8 मंत्रियों को मंत्रिमंडल में जगह मिली है.




महत्वपूर्ण तथ्य

बिहार मंत्रिमंडल में मुख्यमंत्री समेत कुल 31 मंत्री हो गए हैं. बिहार कैबिनेट में अब 13 मंत्री जदयू कोटे से जबकि 16 मंत्री बीजेपी कोटे से हैं. इसके अलावा हम और वीआईपी कोटे से एक-एक मंत्री हैं. सरकार बनने के बाद करीब ढाई महीने तक कैबिनेट विस्तार नहीं होने को लेकर कई बार सवाल खड़े हुए. 17 वीं विधानसभा से चुने गए सरकार के मंत्रियों ने 16 नवंबर 2020 को शपथ ली थी. इसके 85 दिन के बाद 9 फरवरी को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कैबिनेट का विस्तार किया है. बिहार कैबिनेट में मुख्यमंत्री समेत 31 मंत्री शामिल हैं और अब भी पांच मंत्रियों की जगह खाली है.

किसके पास कौन मंत्रालय

राजेश तिवारी