हत्या के 100 घंटे बाद भी पुलिस के हाथ खाली

चार दिनों बाद भी अपराधियों को गिरफ्तार करने में पुलिस विफल

फरीदपुर बाजार में मुखिया के हत्यारे की मांग को लेकर कैंडल मार्च में उमड़ा समर्थकों का सैलाब




फुलवारी शरीफ,अजीत।। चार दिनों बाद भी नीरज मुखिया के हत्यारे की गिरफ्तारी नहीं होने से ग्रामीणों में आक्रोश का माहौल है. शुक्रवार की शाम करीब 5000 से अधिक की संख्या में रामपुर फरीदपुर पंचायत की ग्रामीण जनता ने नीरज मुखिया के हत्यारों की गिरफ्तारी और पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए कैंडल मार्च निकाला.
बता दें कि 4 दिनों पूर्व रामपुर फरीदपुर पंचायत के मुखिया नीरज कुमार को अपराधियों ने गोलियों से छलनी कर उस वक्त हत्या कर दिया था जब फरीदपुर बाजार में स्थित अपने कार्यालय के बाहर आम जनता की समस्याओं को सुन रहे थे. मृतक नीरज मुखिया के परिजनों और क्षेत्र की आम जनता का कहना है कि जानीपुर थाना अध्यक्ष उत्तम कुमार की लापरवाही के चलते चुनावी रंजिश में विरोधियों ने नीरज मुखिया की हत्या करा दिया. अगर पुलिस सतर्क रहती तो नीरज मुखिया की जान बचाई जा सकती थी. बता दें कि नीरज मुखिया की हत्या के बाद से लगातार आज चौथे दिन भी फरीदपुर बाजार की सभी दुकानें बंद रहे और बाजार में दिनभर सन्नाटा पसरा रहा है. वहीं देर शाम होते ही नीरज मुखिया के कार्यालय आश्रम के पास हजारों की संख्या में महिला पुरुष बच्चे बूढ़े जवान मुखिया के समर्थक जमा होने लगे। करीब 5000 से अधिक की संख्या में रहे आम ग्रामीणों के साथ मृतक के परिजनों ने कैंडल मार्च निकाला. नीरज मुखिया की तस्वीर लिए आक्रोशित लोगों की आंखों में अपने चहेते के मुखिया की हत्या का दर्द साफ झलक रहा था। कैंडल मार्च में शामिल लोग पुलिस प्रशासन मुर्दाबाद हत्यारों को गिरफ्तार करो के नारे लगा रहे थे. रामपुर फरीदपुर की जनता का कहना है कि अगर जल्दी नीरज मुखिया के हत्यारों को पुलिस गिरफ्तार नहीं करेगी तो फिर और आंदोलन को बड़े व्यापक पैमाने पर चलाया जाएगा.

रामपुर फरीदपुर पंचायत के लगातार दूसरी बार नवनिर्वाचित मुखिया नीरज कुमार की हत्या के चार दिनों बाद भी पुलिस प्रशासन और कानून के लंबे हाथ शूटरों के गिरेबान तक नहीं पहुंच पाए । इस हत्याकांड की जांच कर रही पुलिस की विशेष टीम अब तक इस हत्याकांड में शामिल साजिशकर्ताओं तक के नामों का खुलासा नहीं कर पाई है। गौरतलब है कि नीरज मुखिया की हत्या चुनावी रंजिश में कराए जाने की बात सामने आई है। हालांकि नीरज मुखिया की पत्नी ने जानीपुर थाना में अज्ञात अपराधियों के खिलाफ चुनावी रंजिश में हत्या कराए जाने की प्राथमिकी दर्ज कराई है। जानीपुर थाना अध्यक्ष उत्तम कुमार ने बताया कि हत्याकांड में अपराधियों के गिरफ्तारी और शूटरों की पहचान के लिए पुलिस टीम लगी हुई है.

अजीत