क्या आप पहचानते हैं इस चोर को ?

बाईक चोर गिरोह फिर हुआ सक्रिय, 5 दिन बाद भी पुलिस के हाथ नही लगे बाइक चोर
एक ही जगह से लगातार 2 दिन बाइक ले उड़े चोर

आरा, 9 अगस्त. इस तस्वीर को गौर से देखिए…क्या आप इसे पहचानते है? बाइक पर बैठे पीले टठी-शर्ट में मुँह पर कपड़ा बांधे यह कोई और नही बल्कि एक बाईक चोर हैं. इन बाईक चोरों की तस्वीर कैद हुई है हरि जी हाता स्थित डॉक्टर टी.पी. सिंह के क्लिनिक के पास लगे CCTV में…लेकिन कैमरे में कैद होने के बाद भी पुलिस इस चोरों को पकड़ नही पाई है क्योंकि चोरों की तस्वीर तो जरूर कैद हुई है लेकिन इन शातिर चोरों ने चेहरे को कपड़े से ढक रखा था. अमूमन गर्मी के दिनों में लू से बचने के लिए लोग चेहरे को ढकते हैं लेकिन रात में चेहरे को ढकने का क्या मतलब..? रात में चेहरे वही छुपते हैं जिन्हें डर रहता है कि उनकी पहचान उजागर न हो जाये. चोरी के 5 दिन बाद भी पुलिस ने कोई सुराग क्यों नही पाया? अगर मुँह पर कपड़े बांध रात में ऐसे तत्व सक्रिय है तो पुलिस ऐसे लोगों को क्यों नही पकड़ती?अगर पुलिस गस्ती और पुलिस मुस्तैद है तो कहाँ चले गए चोर? ये कई ऐसे सवाल है जिसपर ध्यान आता है और हम उसका उत्तर खोजते हैं. इन सब्जे बीच सवाल यह भी है कि अगर पुलिस की मुस्तैदी के बाद भी अगर बाइक चोर गधे के सिर की तरह वारदात के बाद गायब हो जा रहे हैं तो निश्चय ही भोजपुर पुलिस के लिए खुली चुनौती है. आइए अब बताते है एक बाइक की चोरी की लाइव दास्तान कि बाइक चोरों ने कैसे चुराई बाइक….




बाइक चोरी की यह घटना है 3 अगस्त की. हरि जी के हाता में चश्मावाला के दुकान से पहले स्थित है एक छोटा सा मार्केट जिसमें सबसे अंतिम दुकान है मगध एक्सरे की. मार्केट में CCTV भी लगा है जो मार्केट से गली के अंतिम छोर तक का एरिया कवर करता है. दुकान मालिक संतोष कुमार सिंह प्रतिदिन की तरह 3 अगस्त को भी अपना बाइक मार्केट के बाहर गली में, कैमरे के रेंज में ही खड़ा करते है. रात 8 बजकर 10 मिनट पर उन्होने अपनी गाड़ी खड़ी की और 9.05 पर चोर उसे आसानी से ले चंपत हो गए और किसी को भनक तक नही लगी. CCTV का फुटेज देखने पर एक दुबला पतला लड़का उजला टी-शर्ट और कैपरी पर उजला गमछा लटकाए, पहले बाइक के पास आता है और वह मार्केट के ओर झांककर देखता है कि मार्केट में कोई है तो नही.. ऐसा वो दो बार करता है और सबकुछ शान्त देख अपने हाथ मे रखा चाभी वहाँ खड़ी काली रंग की पल्सर 150 बाइक में लगता है और उसे ऑन कर देता है. चाभी लगते ही बाइक की लाइट जल जाती है और एक दूसरा हेल्दी व्यक्ति आकर उस बाइक पर बैठता है और गाड़ी स्टार्ट करता है.

गाड़ी स्टार्ट होते ही वह छोटा लड़का भी सवार होता है और ये दोनों शातिर बाइक की चोरी कर फरार हो जाते हैं. जब गाड़ी मालिक संतोष बाहर आते हैं घर जाने के लिए तो वे अपनी बाइक को नही पा घबरा जाते हैं. चाभी उन्ही के पास है लेकिन बाइक गायब है तो तुरंत दौड़कर अपना CCTV चेक करते है जहाँ बाइक चोरों की CCTV में कैद उनकी तस्वीरें उनके शातिरपन की दास्तान बयान कर रही होती हैं. CCTV में चोरों की तस्वीर देखने के बाद संतोष सिंह ने हरी जी के हाता स्थित डॉक्टर टी पी सिंह के क्लीनिक के पास लगे CCTV के फुटेज को भी खंगाला ताकि चोरों का चेहरा सामने से देखा जा सके. लेकिन यह क्या! जब फुटेज देखा गया तो देखने वाले सभी हैरान रह गए. चोरों की तस्वीर तो जरूर CCTV में कैद हुई लेकिन चेहरे काले कपड़े से आधा ढके रहने के कारण उन्हें पहचानना मुश्किल हो गया. घटना को ले नवादा थाना में FIR भी दर्ज हुई है लेकिन छठे दिन भी उनका कोई सुराग पुलिस के पास नही है. यही नही 3 अगस्त को हुई इस चोरी की घटना के बाद हरि जी के हाता से ही 4 अगस्त को डॉ टी पी सिंह के पास इलाज कराने के लिए आये एक सज्जन की बाइक रात के लगभग 11.30 बजे गायब हो गयी. CCTV के बाद भी चोर अपना काम कर चंपत हो गए, लेकिन पुलिस अभी भी हाथ मलती नजर आ रही है. नवादा थाना प्रभारी लल्लन कुमार ने बताया कि पुलिस चोरों की तलाश में लगी है कुछ संदिग्धों पर नजर है जल्द ही उन्हें पकड़ा जाएगा. पुलिस की माने तो कोई लोकल गैंग है जो इस तरह के वारदात को अंजाम दे रहा है.

आरा से ओ पी पांडेय की रिपोर्ट