वो प्रधानमंत्री, जिनकी कविताओं से आंदोलित होता था समाज

संभावना आवासीय उच्च विद्यालय में श्रद्धांजलि सभा का आयोजन

विद्यालय से जुड़े हर लोगों ने दी श्रद्धांजलि




आरा,18 अगस्त. पूर्व प्रधानमंत्री और अपने इरादों के लिए अटल रहने वाले भारत रत्न अटल बिहारी बाजपेयी के निधन के बाद पुरुआ राष्ट्र शोकाकुल है. शोक की इस घड़ी में शहर के शुभ नारायण नगर, मझौवां स्थित संभावना आवासीय उच्च विद्यालय में शनिवार को एक श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया, जिसमें छात्रों के साथ विद्यालय के शिक्षक,कर्मचारी, प्राचार्य एवं निदेशक ने भाग लिया. विद्यालय परिवार के सभी लोगों ने दो मिनट का मौन रखकर दिवंगत आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की.

विद्यालय के निदेशक कुमार द्विजेंद्र ने इस मौके पर दिवंगत भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी के व्यक्तित्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि वाजपेयी के निधन से एक युग का समापन हो गया. जननायक वाजपेयी न सिर्फ सफल प्रधानमंत्री रहे बल्कि अपनी राष्ट्रवादी कविताओं मे भारतीय समाज को आंदोलित करते रहे.

श्रद्धांजलि सभा में छात्र-छात्राओं तथा शिक्षकों को संबोधित करते हुए विद्यालय के प्राचार्य डॉक्टर अर्चना सिंह ने कहा कि उन्होंने अपने कार्यकाल में पोखरण परमाणु परीक्षण कर पूरे विश्व में यह संदेश दे दिया कि भारत अब शक्तिशाली देश बन कर उभर चुका है. उन्होंने कहा कि स्वर्गीय वाजपेयी सही मायने में अजातशत्रु थे.

आरा से अपूर्वा की रिपोर्ट