’31 मई तक लॉकडाउन बढ़ाने की मांग’

पीएम के साथ वीसी में हुई डिमांड कोरोना वायरस से सुरक्षा एवं बचाव पर आयोजित आज प्रधानमंत्री की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार शामिल हुए. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम सेअपने संबोधन में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस के संक्रमण से निपटने में केंद्र, राज्य सरकार के सामूहिक प्रयास की सराहना की. उन्होंने कहा कि इस संकट के समय राज्यों नेे भी अपनी जिम्मेवारी का बेहतर ढंग से निवर्हन किया है. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए किए जा रहे कार्यो, लॉकडाउन के दौरान छट में किये जा रहे रोजगार सजन के कार्यों एवं कोरोना संक्रमण की अद्यतन स्थितिके साथ-साथ तथा भविष्य की रणनीति पर विस्तृत चर्चा की गई. मुख्यमंत्री नीतीश कमार ने अपने संबोधन में सभी लोगों का स्वागत करते हुये कहा कि आज की इस चर्चा में बहुत सारी बातें सामने आयी हैं. उन्होंने कहा कि बिहार के संबंध में हमआप सभी को जानकारी देना चाहते हैं कि देश के अन्य हिस्सों से एवं विदेशों से आने वाले लोगों के कारण बिहार में कोरोना संक्रमितों की संख्या 700 से ज्यादा हो गयी है. अभी भी लोग बाहर से आ रहे हैं. उन्होंने कहा कि 4 मई से 10 मई के बीच 1 लाख से ज्यादा लोग आये हैं. उनमें 1,900 लोगों की रैडम टेस्टिंग करायी गयी है, जिसमें 148 लोग कोरोना पॉजिटिव पाये गये हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार के बाहर दूसरे राज्यों में फंसे श्रमिकों, छात्रों जरूरतमंदों को ट्रेनों से लाने की अनुमति देने

Read more

ध्यान से सुनिए पीएम का ये संबोधन

पीएम मोदी ने कोरोना पर देश के नाम अपने चौथे संबोधन में लॉकडाउन तीन मई तक बढ़ाने की घोषणा की. पीएम का संबोधन पूरा सुनने के लिए देखें ये वीडियो-

Read more

पीएम मोदी को आज लाइव सुनने के लिए यहां क्लिक करें

प्रधानमंत्री मंगलवार सुबह दस बजे से लाइव. कोरोना पर पीएम मोदी का देश के साथ ये चौथा संवाद है.

Read more

तो क्या राज्यों को मिलेंगे विशेष अधिकार!

कोरोना संक्रमण की चेन कितने दिन में लॉक डाउन तोड़ पाएगा ये अभी कोई भी बताने की स्थिति में नहीं है. 14 अप्रैल को प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी सुबह दस बजे कोरोना श्रृंखला का अपना चौथा राष्ट्रीय संबोधन देंगे. चर्चा है कि इस संबोधन में प्रधान मंत्री राज्यों को यह अधिकार देने जा रहे हैं कि राज्य अपनी सुविधा और जरूरत के मुताबिक मौजूदा लॉक डाउन का विस्तार कर सकते हैं. बिहार में लॉकडाउन एक्सटेंशन लगभग तय है. इस बार ‘जान भी के साथ जहान भी’ की तर्ज पर लॉकडाउन आगे बढ़ेगा. केंद्र सरकार की गाइडलाइन के अनुसार पिछले तीन सप्ताह से ठप पड़ी गतिविधियां पटरी पर लाने की कोशिश की जाएगी.लॉक डाउन से जान तो बच जाएगी, आगे जीवन कैसे चलेगा ये भी सोचना होगा. केंद्र और राज्य सरकार इसपर विचार कर रहे हैं. विशेषज्ञों का मानना है कि लॉक डाउन अगर ज्यादा दिन तक चला तो मजदूर, श्रमिक वर्ग, गरीबों की स्थिति खराब होगी. भूख से मरने से बेहतर है कोरोना से मरना. कोरोना से बच भी सकते हैं लेकिन भूख से मरना तय होगा. इस पर केंद्र और राज्य सरकार गंभीरता से विचार कर रही है. एक ओर आजीविका जरूरी है वहीं अगर सामाजिक दूरी का पालन नहीं होगा तो कोरोना संक्रमण को रोकना असंभव हो जाएगा.कोरोना की कोई दवा अभी तक नहीं बन पाई है. ऐसे में सामाजिक दूरी ही इससे बचने का एकमात्र उपाय है. सरकार के पास भी सीमित उत्पाद है. लोगों की जरूरत को पूरा करने के लिए उत्पाद इकाइयों का शुरू होना

Read more

10 बजे पीएम करेंगे संबोधित

देशव्यापी लॉकडाउन 14 अप्रैल को समाप्त हो रहा है. लोगों को बेसब्री से इंतजार है कि आगे क्या होगा. लोगों का इंतजार कल सुबह 10:00 बजे खत्म हो सकता है, जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश को संबोधित करेंगे. माना जा रहा है कि लॉकडाउन कम से कम 2 हफ्ते या 30 अप्रैल तक बढ़ाया जा सकता है. हालांकि देश में कुछ उद्योगों को छूट मिल सकती हैं. पीएनसी

Read more

बड़ा फैसला: 1 साल तक 30%वेतन दान करेंगे सांसद

कोरोनावायरस ने ना सिर्फ इंसानी शरीर बल्कि विश्व अर्थव्यवस्था को भी करारी चोट दी है. भारत भी ऐसे देशों में से एक है जहां 21 दिनों के लॉक डाउन के कारण अर्थव्यवस्था पर बड़ा असर पड़ा है. इन सब को देखते हुए केंद्रीय कैबिनेट ने आज एक बड़ा फैसला लिया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत सभी कैबिनेट मंत्रियों और सांसदों की वेतन में 30 फीसदी की कटौती की गई है और यह कटौती एक साल तक की जाएगी. देश के राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और कई राज्यों के राज्यपाल ने स्वेच्छा से सामाजिक जिम्मेदारी के रूप में वेतन कटौती का फैसला किया है. यह धनराशि भारत के समेकित कोष में जाएगी. फैसले की जानकारी देते हुए केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि कैबिनेट ने भारत में कोरोना वायरस के प्रतिकूल प्रभाव के प्रबंधन के लिए 2020-21 और 2021-22 के लिए सांसदों को मिलने वाली निधि यानी MPLAD फंड को अस्थाई तौर पर निलंबित कर दिया है. दो साल के लिए MPLAD फंड के 7900 करोड़ रुपये का उपयोग भारत की संचित निधि में किया जाएगा.

Read more

दूरदर्शन कर्मचारी का हुआ ये हाल

चेन्नई (ब्यूरो रिपोर्ट) | प्रसार भारती ने चेन्नई दूरदर्शन केंद्र की महिला अधिकारी को बिना कोई लिखित कारण के निलंबित कर दिया है. कहा जा रहा है कि दूरदर्शन केंद्र, पोधिगाई (Podhigai) की असिस्टेंट डायरेक्टर (प्रोग्रामिंग) आर वासुमति (R Vasumathi) ने कथित तौर पर चेन्नई में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण के प्रसारण को रोक दिया था. इसी कारण उस महिला अधिकारी के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की गई है. एक अक्टूबर मंगलवार को इस मामले में प्रसार भारती के सीईओ शशि शेखर वेम्पती की ओर से वासुमति के निलंबन का आदेश जारी किया गया है. हालांकि इस आदेश में निलंबन का कोई कारण नहीं बताया गया है और सिर्फ अनुशासनात्मक कार्यवाही की बात कही गई है. प्रसार भारती के सूत्रों हवाले से यह कहा जा रहा है कि आदेशों को न मानने और मोदी के कार्यक्रम की कवरेज न दिखाने को लेकर वासुमति के खिलाफ ये कार्रवाई की गई है. जैसा कि विदित है, 30 सितंबर को चेन्नई में प्रधानमंत्री मोदी ने दो कार्यक्रमों को संबोधित किया था जिसमें एक आईईटी मद्रास का 56वां वार्षिक दीक्षांत समारोह था और दूसरा IIT मद्रास के रिसर्च सेंटर में सिंगापुर-इंडिया हैकेथॉन-2019 शामिल था. पीएम ने चेन्नई हवाई अड्डे पर उतरने के बाद भाजपा समर्थकों की एक सभा को संबोधित किया जहां उन्होंने तमिल भाषा के इतिहास के बारे में बात की, जिसे डीडी पोडिगई द्वारा लाइव टेलीकास्ट किया गया था. दूरदर्शन के पोधिगाई केंद्र ने IIT मद्रास के दीक्षांत समारोह का तो लाइव प्रसारण किया, लेकिन हैकेथॉन में मोदी के भाषण का प्रसारण

Read more

उपसभापति हरिवंश पर खूब बोले प्रधानमंत्री

बिहार में जदयू कोटे से राज्यसभा सांसद हरिवंश आज राज्यसभा के उपसभापति चुन लिए गए. हरिवंश के सामने मुकाबले में थे बी के हरिप्रसाद. वोटिंग में हरिवंश को 125 मत मिले जबकि बी के हरिप्रसाद को 105. हरिवंश वर्ष 2014 से ही राज्यसभा सांसद हैं. हरिवंश के राज्यसभा के उप-सभापति निर्वाचित होने पर प्रधानमंत्री की टिप्पणी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज हरिवंश को राज्य सभा का उप-सभापति निर्वाचित होने पर बधाई दी. चुनाव के कुछ ही समय बाद राज्य सभा में बोलते हुये प्रधानमंत्री ने सदन के नेता अरुण जेटली के बीमारी से उबर कर सदन में वापस आने पर भी अपनी प्रसन्नता व्यक्त की. प्रधानमंत्री ने इस बात का जिक्र किया कि हम लोग आज भारत छोड़ो आंदोलन की वर्षगांठ मना रहे हैं.  उन्होंने कहा कि हरिवंश जी बलिया से आते हैं जो कि 1857 के स्वतंत्रता संग्राम के समय से ही स्वतंत्रता आंदोलन से जुड़ी रहा है. प्रधानमंत्री ने कहा कि हरिवंश ने लोकनायक जय प्रकाश नारायण से प्रेरणा ग्रहण की है. प्रधानमंत्री ने इस बात का भी स्मरण दिलाया कि हरिवंश जी ने पूर्व प्रधानमंत्री चंद्र शेखर जी के साथ भी काम किया था. प्रधानमंत्री ने कहा कि चंद्र शेखर जी के साथ काम करने की वजह से हरिवंश जी को पहले से ही इस बात का पता था कि चंद्र शेखर जी पद त्याग देंगे. प्रधानमंत्री ने कहा कि लेकिन इस बात की खबर उन्होंने अपने समाचार पत्र को भी नहीं लगने दी जो कि सरकारी सेवा और नैतिकता के प्रति उनकी प्रतिबद्धता को दर्शाता है. प्रधानमंत्री ने

Read more

बिहार आ रहे प्रधानमंत्री मोदी, कुछ ऐसा है कार्यक्रम

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एक बार फिर बिहार दौरे पर आ रहे हैं. इस बार वे मोतिहारी जाएँगे जहां चंपारण सत्याग्रह शताब्दी समारोह के समापन समारोह में भाग लेंगे. प्रधानमंत्री 10 अप्रैल को सुबह 10 बजे पटना एयरपोर्ट पहुंचेंगे और वहां से हेलिकॉप्टर से मोतिहारी के लिए रवाना हो जाएंगे. उसी दिन दोपहर करीब ढाई बजे वे मोतिहारी से वापस पटना आएंगे और फिर दिल्ली रवाना हो जाएंगे. पटना डीएम कुमार रवि ने शुक्रवार को पीएम दौरे को लेकर संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक की और जरूरी दिशा-निर्देश दिए. डीएम ने बताया कि ये पीएम का ट्राजिंट विजिट है. अधिकारियों को एयरपोर्ट से राजभवन तक की ट्रैफिक व्यवस्था से लेकर अन्य तमाम इमरजेंसी इंतजाम दुरूस्त करने के निर्देश दिए गए हैं. FILE PIC आपको बता दें कि चंपारण सत्याग्रह के सौ साल पूरे होने पर पिछले साल 10 अप्रैल को एक साल तक चलने वाले शताब्दी समारोह की शुरूआत राष्ट्रपति ने की थी. उसका समापन समारोह अब प्रधानमंत्री के हाथों हो रहा है. इस मौके पर प्रधानमंत्री स्वच्छता से जुड़े एक देशव्यापी कार्यक्रम की शुरुआत भी करेंगे.

Read more

‘मेरा क्या‘ और ‘मुझे क्याें’ की सोंच से निकलना होगा

PM मोदी ने किया नोएडा और दिल्ली के बीच नए मेट्रो लिंक का उद्घाटन ‘राजनीतिक लाभ के लिए नहीं, बल्कि राष्ट्रीय हित को ध्‍यान में रखकर लेते हैं निर्णय’ पीएम नरेन्द्र मोदी ने आज नोएडा और दिल्ली के बीच एक नए मेट्रो लिंक (संपर्क) का उद्घाटन किया. उन्होंने दिल्ली मेट्रो की मंजेटा लाइन के एक हिस्से के उद्घाटन के अवसर पर बॉटेनिकल गार्डन मेट्रो स्टेशन पर एक पट्टिका का अनावरण किया. मेट्रो लाइन का यह हिस्‍सा नोएडा स्थित बॉटेनिकल गार्डन को दक्षिण दिल्ली स्थित कालकाजी मंदिर से जोड़ता है. उन्‍होंने एक सार्वजनिक सभा के लिए कार्यक्रम स्थल पर पहुंचने से पहले मेट्रो ट्रेन से कुछ मिनटों तक सफर भी किया. इस दौरान प्रधानमंत्री ने ‘क्रिसमस’ के अवसर पर शुभकामनाएं दीं. उन्होंने यह भी कहा कि आज ही दो ‘भारत रत्नों’ पंडित मदन मोहन मालवीय और पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी का जन्मदिन है. उन्‍होंने कहा कि हम वर्तमान में एक ऐसे युग में रह रहे हैं जिसमें कनेक्टिविटी अत्‍यंत मायने रखती है. उन्‍होंने यह भी क‍हा कि महज थोड़ी देर पहले जिस मेट्रो लाइन का उद्घाटन किया गया है वह न सिर्फ वर्तमान पीढ़ी, बल्कि आने वाली पीढ़ि‍यों को भी अपनी सेवाएं प्रदान करेगी. उन्होंने कहा कि उनकी यह परिकल्‍पना है कि वर्ष 2022, जब हम आजादी का 75वां साल मनाएंगे, तक हम एक ऐसे भारत में रहने लगेंगे जो पेट्रोल आयात पर अपेक्षाकृत कम निर्भर होगा. उन्‍होंने कहा कि इस सपने को साकार करने के लिए अत्याधुनिक जन परिवहन प्रणाली समय की मांग है.  नरेन्द्र मोदी ने इस

Read more