स्कूल-कॉलेज खोलने को लेकर आ गई सरकार की नई गाइडलाइन

6 फरवरी के बाद बिहार में स्कूल और कॉलेज खुलने वाले हैं. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोशल मीडिया के जरिए इसकी जानकारी दी है 6 फरवरी के बाद स्कूल कॉलज के अलावा पार्क जिम और शॉपिंग मॉल खोलने को लेकर भी सरकार की नई गाइडलाइंस जारी हुई हैं. कोरोना की स्थिति की समीक्षा की गई। कोरोना संक्रमण की स्थिति में सुधार को देखते हुए 8वीं कक्षा तक के सभी विद्यालय 50 प्रतिशत क्षमता के साथ तथा 9वीं एवं ऊपर की कक्षाओं से संबंधित सभी विद्यालय एवं महाविद्यालय तथा कोचिंग संस्थान शत-प्रतिशत उपस्थिति के साथ खुल सकेंगे। सभी सरकारी कार्यालय प्रतिदिन सामान्य रूप से खुलेंगे। केवल टीका प्राप्त आगंतुकों को ही कार्यालय में प्रवेश अनुमान्य होगा। 3. सभी दुकानें, प्रतिष्ठान, शॉपिंग मॉल एवं धार्मिक स्थल सामान्य रूप से खुल सकेंगे। सभी पार्क एवं उद्यान प्रातः 6 बजे से अपराह्न 2 बजे तक खुलेंगे। सिनेमा हॉल, क्लब, जिम, स्टेडियम, स्वीमिंग पूल, रेस्टोरेंट एवं खाने की दुकानें (आगंतुकों के साथ) 50 प्रतिशत क्षमता के साथ खुल सकेंगी। जिला प्रशासन की पूर्वानुमति से सभी प्रकार के सामाजिक, राजनीतिक, मनोरंजन, सांस्कृतिक एवं धार्मिक आयोजन अपेक्षित सावधानियों के साथ आयोजित किए जा सकेंगे। विवाह समारोह, अंतिम संस्कार/श्राद्ध कार्यक्रम अधिकतम 200 व्यक्तियों की उपस्थिति के साथ आयोजित किये जा सकेंगे। हम सभी बिहारवासियों को कोविड के कारण अभी भी सावधानी बरतने की जरूरत है। मास्क के उपयोग के साथ ही सामाजिक दूरी का पालन करना नितांत आवश्यक है। Pncb

Read more

बड़ी खबर: बिहार में सभी स्कूल बंद

कोरोना संक्रमण की बढ़ती रफ्तार ने एक बार फिर स्कूलों पर ब्रेक लगा दिया है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देश के बाद क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप ने बिहार के सभी स्कूलों को 11 अप्रैल तक बंद करने का फैसला किया है. स्कूलों के साथ सभी शैक्षणिक संस्थान भी 11 अप्रैल तक बंद रहेंगे. शिक्षा विभाग ने इस बात की पुष्टि की है. गृह विभाग की ओर से इस बारे में जारी गाइडलाइंस में स्पष्ट किया गया है कि 5 अप्रैल से 11 अप्रैल तक 12वीं कक्षा तक के सभी स्कूल कॉलेज और कोचिंग संस्थान बंद रहेंगे. जिन स्कूल और कॉलेजों में पूर्व निर्धारित परीक्षा चल रही है वह इसे प्रोटोकॉल का पालन करते हुए जारी रख सकते हैं. 30 अप्रैल तक सार्वजनिक आयोजनों के लिए भी कुछ प्रतिबंध लागू किए गए हैं जिनमें श्राद्ध के लिए अधिकतम 50 व्यक्ति और शादी विवाह के लिए अधिकतम 250 व्यक्तियों की सीमा तय की गई है. सरकारी कार्यालयों में आमलोगों का प्रवेश बंद रहेगा. pncb

Read more