भोजपुरी के लिए फिर से आंदोलन की तैयारी

हस्ताक्षर अभियान के साथ हो रही शुरुआत भोजपुरी भाषा की पढ़ाई की मांग लेकर भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन (NSUI) ने आंदोलन का बिगुल फूंक दिया है. चरणबद्ध आंदोलन की रूपरेखा तैयार कर विश्वविद्यालय प्रशासन एवं राज्य सरकार को सूचना दे दी गई है. patnanow से बात करते हुए NSUI के सीनियर लीडर अभिषेक द्विवेदी ने बताया कि 24 अगस्त से इस मांग को लेकर हस्ताक्षर सह जागरूकता अभियान शुरू किया जाएगा. हस्ताक्षर के लिए स्कूल कॉलेज के कैम्पस से लेकर मुहल्लों तक पहुंच बनाई जाएगी. 29 अगस्त को विश्वविद्यालय कैंपस में धरना दिया जाएगा. अगर इतने पर भी मांग नहीं मानी गई तो पदयात्रा और राजभवन मार्च किया जाएगा. गौरतलब है कि एक वर्ष पहले भोजपुरी बचाओ अभियान में सभी संगठनों ने जुड़कर भोजपुरी के लिए आवाज बुलंद की थी. जिसका सफल नेतृत्व करते हुए दो युवाओं ,ओ पी पांडेय और मंगलेश तिवारी ने किया था. पिछले साल 5 सितंबर को हुए इस बन्द ने सबको भोजपुरी के लिए एक किया था. पूर्व में भी विभिन्न छात्र संगठनों द्वारा इस मुद्दे पर धरना, प्रदर्शन और आंदोलन हुए, विश्वविद्यालय बन्द कराया गया, रेल भी रोका गया पर जिसमे NSUI की भी जबरदस्त भूमिका थी. लेकिन एक साल बीतने के बाद भी भोजपुरी भाषा पढ़ाई शुरू नहीं हो पायी. विश्वविद्यालय प्रशासन ने अपने स्तर से स्नातक और स्नातकोत्तर में भोजपुरी की पढ़ाई को लेकर हरसम्भव प्रयास किया. ड्राफ्ट और आर्डिनेंस तैयार कर विश्वविद्यालय सिंडिकेट की मुहर के साथ राजभवन भेज दिया गया पर इसका कोई नतीजा नहीं निकला. राजभवन अपने वादे से मुकर

Read more

9 माह बाद भी नहीं शुरू हो सकी भोजपुरी की पढ़ाई

भोजपुरी के लिए महाजुटान और महाचिन्तन भोजपुरी के लिए महाधरना में एक हुए लोग अलग पार्टियों में होने के बाद भी बैठे एक मंच पर अबतक दिल्ली में कई बार जंतर-मंतर पर भोजपुरी को 8वीं अनुसूची में शामिल करने के लिए आवाज उठाने वाली संस्था ‘भोजपुरी जन-जागरण अभियान’ ने अब प्रदेश में भी अपना विस्तार किया है. इसका उदाहरण गुरुवार को भोजपुरी के लिए महाधरना के रूप में आरा में देखने को मिला. जिला समाहरणालय के समक्ष लगभग सैकड़ों लोगों की जमात भोजपुरी के लिए उठी. लोगों की भीड़ की वजॆह से यातायात को सुचारू करने में यातयात पुलिस के पसीने छूटते रहे. भोजपुरी में फैले अश्लीलता को दूर करने, भोजपुरी को आठवीं अनुसूची में शामिल करने और भोजपुरी की पढ़ाई सभी महाविद्यालयों में चालू करने की मांगों के साथ भोजजअ के प्रदेश अध्यक्ष कुमुद पटेल की अगुआई में यह महाधरना आयोजित किया गया. कई पार्टियों के लोग आये एक मंच पर भोजपुरी बचाओ अभियान के पिछले साल 5 सितंबर के भोजपुर बंदी के दौरान जिस तरह सभी दलों के लोगों ने एक साथ आकर भोजपुरी के लिए आवाज उठाई थी, ठीक उसी तरह इस महाधरना में भी भोजपुरिया लोगों ने दलगत भावना से परे होकर इसे समर्थन दिया और इस महाधरना में शामिल हुए. शामिल हुए लोगों में सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता हाजी नूर मदनी, सिने अभिनेता सत्यकाम आंनद, कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता गुंजन पटेल, श्रीधर तिवारी, विनोद सिंह, ब्रह्मांड पार्टी के जितेंद्र कुमार (अधिवक्ता), जद यू के जमीनी और कदावर नेता भाई ब्रह्मेश्वर सिंह और नंदकिशोर यादव,मृत्युंजय भारद्वाज,अम्बा के राकेश

Read more