रेमडेसिविर को अब बिहार सरकार ने भी नकारा

रेमडेसिविर इंजेक्शन को लेकर मची हाय तौबा के बीच 21 अप्रैल को नालंदा मेडिकल कॉलेज अस्पताल (NMCH)ने एक पत्र जारी करते हुए स्पष्ट कर दिया है कि कोरोना मरीजों के इलाज में इस इंजेक्शन से कोई फायदा नहीं होता. इसलिए कोई भी डॉक्टर इस इंजेक्शन को प्रिसक्राइब ना करे. नालंदा मेडिकल कॉलेज अस्पताल के अधीक्षक ने एक पत्र जारी किया है इसमें लिखा है कि डब्ल्यूएचओ ने भी इस दवा को नकार दिया है क्योंकि कोविड-19 के इलाज में इस दवा की कोई उपयोगिता नहीं है. इसलिए चिकित्सकों से अपील की जाती है कि वह कोविड-19 इलाज के दौरान मरीजों के परिजन से रेमडेशिविर इंजेक्शन लाने के लिए ना कहें. pncb

Read more

पटना एम्स में कई डॉक्टरों ने लिया टीका

एम्स निदेशक सहित कई डॉक्टरों ने लगवाया टीका फुलवारी शरीफ ।। पटना एम्स निदेशक डॉ प्रभात कुमार सिंह सहित कई चिकित्सको ने पहले दिन कोरोना टिका का पहला डोज लिया. जानकारी देते हुए एम्स मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉ सीएम सिंह ने बताया कि एम्स निदेशक डॉ प्रभात कुमार सिंह , डॉ सुदीप , डॉक्टर क्रांति भावना ने भी कोरोना वैक्सीन लिया है. इस मौके पर डीन उमेश भदानी,उप निदेशक परिमल सिन्हा ,कोरोना वैक्सीन टीकाकरण नोडल पदाधिकारी डॉ संजय पांडेय सहित अन्य उपस्थित थे. हॉस्पिटल अटेंडेंट अभिषेक कुमार को लगा एम्स में कोरोना का पहला टिका दूसरे सर्जरी विभाग के डॉ अभिषेक कुमार ने ली कोविड 19 वैक्सीन की पहली खुराक एम्स निदेशक ने कोरोना वैक्सीन टीकाकरण का किया शुभारंभ 50 से अधिक हेल्थ वर्करों को लगाया गया कोरोना वैक्सीन पटना एम्स में शनिवार को चिर प्रतिक्षित कोरोना टीकाकरण का शुभारंभ हो गया. इसका विधिवत उद्घाटन के निदेशक डॉ प्रभात कुमार सिंह ने किया. एम्स में फ्रंट लाइन पर कोविड-19 की लड़ाई में आगे रहे हेल्थ वर्करों में सबसे पहला टीका हॉस्पिटल अटेंडेंट सफाई कर्मी अभिषेक कुमार को लगाया गया वहीं दूसरा टिका सर्जरी विभाग के डॉक्टर अभिषेक कुमार को दिया गया. इस मौके पर निदेशक डॉ प्रभात कुमार सिंह ने कहा कि आज कोरोना की जंग जीतने जैसा अनुभव हो रहा है. पटना एम्स में कोविड 19 से मानव जगत की लड़ाई में सबसे आगे बढ़ चढ़कर हम लोगों ने मरीजों की सेवा की है. हर मुश्किल घड़ी में एम्स पटना में सबसे बेहतर चिकित्सा सुविधा मुहैया कराकर लोगों का इलाज

Read more