10 दिनों बाद अनुशासन समिति ने पीरो का किया दौरा

मंगलवार को भोजपुर के पीरो में भाजपा के बिहार अनुशासन समिति के अध्यक्ष और पूर्व विधानसभा उपाध्यक्ष अमरेंद्र प्रताप सिंह ने पीरो में पीड़ित लोगों से मुलाकात की. पीड़ित लोगों ने बताया कि प्रशासन ने निर्दोषों पर कानून का डंडा बरसाया है. प्रशासन का यह रवैया नाकामी का प्रतीक है.




पीरो से लौटने के बाद उन्होंने सर्किट हाउस आरा में पत्रकारों से बात करते हुए कहा पीरो में प्रशासन नाकाम हुई है,जिसका परिणाम 10 दिन बाद भी क्षेत्र में ज्यादातर दुकानों का बंद होना वहां की दहशत का संकेत है. उन्होंने साथ में यह भी कहा कि अब सरकार बदल गई है तो सिस्टम को भी बदलना होगा. निर्दोष लोगों पर प्रशासन कोई भी कार्रवाई ना करें. उन्होंने पीड़ितों से मिलने के बाद लोगों को यह आश्वासन भी दिया कि सरकार निर्देशों के साथ कोई भी जाती नहीं होने देगी.

गौरतलब है कि 1 अक्टूबर को मुहर्रम जुलूस निकलने के क्रम में पीरो में दो गुटों में आपसी टकराव की वजह से तनाव का माहौल कायम हो गया था. जिसके बाद कई वाहन और दुकानों में आगजनी और पथराव में 2 दर्जन लोग भी घायल हुए थे. 72 घण्टे तक टेलीफोन कंपनियों के नेटवर्क को प्रशासन ने शांति बहाली के लिए बंद कराया था.

 

आरा से ओपी पांडे