बड़हरा हंगामा मामले में ASI समेत 2 सस्पेंड

आरा के बड़हरा में बवाल मामले में एक ASI और चौकीदार को सस्पेंड कर दिया गया है. भोजपुर पुलिस अधीक्षक क्षत्रनील सिंह ने हंगामे के बाद ये कार्रवाई की है. इसके साथ ही बड़हरा में 10 उपद्रवियों को पुलिस ने हिरासत में लिया है. इस बीच बड़हरा CO की गाड़ी पर उपद्रवियों ने फायरिंग की जिसमें ड्राइवर बाल-बाल बच गया. घटनास्थल पर भोजपुर डीएम डॉ बीरेंद्र यादव और एसपी क्षत्रनील सिंह कैंप कर रहे हैं और स्थिति फिलहाल नियंत्रण में बताई जा रही है.




क्या है पूरा मामला?

भोजपुर के बड़हरा थाना पुलिस की कस्टडी में शनिवार को एक युवक की मौत हो गयी. इसे लेकर परिजनों व अन्य लोगों ने आरा सदर अस्पताल में कुछ देर तक हंगामा किया. मृतक बड़हरा गांव निवासी 40 वर्षीय रामसज्जन ततवा उर्फ छेना ततवा को पुलिस ने उसकी बेटी की शिकायत पर ही शनिवार को हिरासत में लिया था. बाद में उसकी संदेहास्पद स्थिति में मौत हो गयी. उसके सिर पर जख्म के निशान हैं. मृतक की मां हथकली कुंअर ने पुलिस पर मारपीट कर हत्या कर देने का आरोप लगाया है, जबकि पुलिस का इससे साफ तौर पर इनकार है. पुलिस का कहना है कि जीप से कूदकर भागने में उसकी जान गयी है.


बता दें कि रामसज्जन ततवा की बेटी की शिकायत पर बड़हरा थाना पुलिस ने उसे शनिवार को गिरफ्तार किया. मृतक की मां का आरोप है कि पुलिस ने गिरफ्तार करने के बाद थाने में उसके बेटे के साथ मारपीट की. वह जब थाने पर गयी, तो उसे भगा दिया गया.
वहीं बड़हरा थानाध्यक्ष सुदेह कुमार ने बताया कि उसकी बेटी के आवेदन पर ही रामसज्जन को गिरफ्तार किया गया था. आवेदन में बेटी ने कई तरह के गंभीर आरोप लगाये थे जिसके बाद उसे थाना लाया जा रहा था. उस समय वह शराब के नशे में था. बीच रास्ते में वह जीप से कूदकर भागने लगा, इसी दौरान उसे गंभीर चोट लग गयी. इलाज के लिए उसे तत्काल आरा सदर अस्पताल ले जाया गया, जहां उसने दम तोड़ दिया.

युवक की मौत की खबर के बाद स्थानीय विधायक सरोज यादव सदर अस्पताल पहुंचे. विधायक समर्थकों व अन्य लोगों की भीड़ भी जमा हो गई थी. SDPO संजय कुमार ने बताया कि जीप से कूदने के कारण मौत हुई है. परिजन पुलिस मारपीट का आरोप लगा रहे हैं, तो इसकी भी जांच की जायेगी.


रविवार की सुबह गुस्साए ग्रामीणों ने थाने को आग के हवाले कर दिया. इस दौरान पुलिस ने भीड़ को नियंत्रित करने के लिए दर्जनों राउंड फायरिंग भी की.. कई महिलाओं को भी पीटा गया. थाने के सभी कागजात जला दिया गया है. दो दर्जन गाड़ियां फूँक दी गई.
रिपोर्ट- आरा से ओपी पांडे के साथ बक्सर से ऋतुराज

ये भी पढ़ें