शराबबंदी से राजस्व का घाटा नहीं -नीतीश

बिहार में शराबबंदी लागू होने के बाद पर्यटकों की संख्या और बढ़ी-नीतीश मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने नशा मुक्ति को लेकर दिलायी शपथ मद्य निषेध रथ एवं प्रचार बसों को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना शपथ एक बार ली जाती है बार-बार नहीं. 5 साल में कितनी बार शपथ लेंगे एक छोटी सी वस्तु के लिए. दहेज के लिए भी लोगों ने खाई थी शपथ ?? क्या हुआ ?? खबरें रोज मिल ही रही है ..कर शपथ, कर शपथ ..कर शपथ, बार-बार शपथ या हमने शपथ ले ली है बिहार के विकास के लिए शपथ .ऐसी नौबत न आये कि एक दो बार और शपथ लेना पड़े. दो साल पहले की बात है.10 महिला सिपाहियों ने शपथ नहीं ली तो सस्पेंड कर दी गई , 250 जवानों ने शपथ लेने के बाद शराब पी ली तो सस्पेंड हो चुके है बात शराबबंदी की है तो जन जन को पता है कि बिहार में नशे के कारोबार का अरबों में है.आज जेल आधे से अधिक शराबियों से भरे हैं. पटना, 26 नवम्बर 2021:- मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आज सम्राट अशोक कंवेन्शन केंद्र के कार्यक्रम के शुरुआत के पूर्व सम्राट अशोक कंवेन्शन केंद्र परिसर में मुख्यमंत्री ने मद्य निषेध प्रचार-प्रसार अभियान हेतु मद्य निषेध रथ एवं प्रचार बसों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया.मुख्यमंत्री ने ज्ञान भवन के निचले तल्ले में नशा मुक्ति पर पेंटिंग, कोलॉर्ज एवं टेराकोटा प्रदर्शनी का उद्घाटन तथा अवलोकन किया। अवलोकन के पश्चात मुख्यमंत्री के समक्ष ‘नशा मुक्त परिवार खुशहाल परिवार’ पर आधारित शैडो डांस लघु फिल्म का प्रदर्शन किया

Read more

जहरीली शराब पीने से आठ की मौत, कई गंभीर

लालू यादव ने कहा हर साल हजारों लोगों की मौत हो चुकी है देउरवा गांव में शराब बनाने का काम चलता रहा है बिहार में शराब बंदी के पांच साल तीन महीने बाद भी नहीं थम रहा है मौतों का सिलसिला दर्ज प्राथमिकी में जहरीली शराब से मरने का आरोप बिहार में शराब पर पूर्ण प्रतिबन्ध के बावजूद लोगों की मौत लगातार शराब के कारण हो रही है. राज्य के पश्चिम चंपारण के लौरिया प्रखंड में दो दिनों में संदिग्ध रूप से जहरीली शराब पीने से कम से कम आठ लोगों की मौत हो गई है, जबकि कई लोगों का इलाज अभी भी जारी है. लोक इन मौतों के पीछे जहरीली शराब पीने के कारण रहे हैं. इस मामले की प्राथमिकी लौरिया थाना में दर्ज कर ली गई है. चंपारण के पुलिस उपमहानिरीक्षक (डीआईजी) ललन मोहन प्रसाद ने बताया कि इस मामले में पीड़ित व्यक्ति के बयान पर लौरिया थाना में एक प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है. प्राथमिकी में दो लोगों को आरोपी बनाया गया है. उन्होंने कहा कि दर्ज प्राथमिकी में जहरीली शराब से मरने का आरोप लगाया गया है. देउरवा गांव में शराब बनाने का काम चलता है, जहां लोगों ने शराब पी थी और सभी की तबियत बिगड़ने लगी. ग्रामीणों के मुताबिक मरने वालों में देउरवा गांव के रहने वाले बिकाउ अंसारी, लतीफ मियां, रामवृक्ष चैधरी, बुलाई गांव के नईम हाजम, सीतापुर गांव के भगवान पांडा, जोगिया गांव के सुरेष साह, बगही के रातुल मियां और गौनही के झुन्ना मियां की मौत हुई है. विभिन्न अस्पतालों

Read more