प्राइवेट स्कूलों ने सरकार से मांगा 2 महीने के वेतन के बराबर ओवरड्राफ्ट

एसोसिएशन ऑफ़ इंडिपेंडेंट स्कूल्स की मांग प्राइवेट स्कूलों के शिक्षकों के वेतन के लिए बैंकों से ओवरड्रॉफ्ट दिलाए सरकार एसोसिएशन ऑफ़ इंडिपेंडेंट स्कूल्स के अध्यक्ष डॉ सी बी सिंह ने मुख्यमंत्री से मांग की है कि वे प्राइवेट स्कूलों के खाताधारी बैंकों को दो माह के वेतन के बराबर ब्याजरहित ओवरड्राफ्ट देने का निर्देश दें. डॉ सी बी सिंह ने बताया कि लगभग सभी विद्यालयों ने फ़ी की आवक कम होने के बावज़ूद मार्च का वेतन तो येन केन प्रकारेण दे दिया है, लेकिन उनके समक्ष अप्रैल का वेतन देने की विकट समस्या कुछ ही दिनों में आने वाली है. शुल्क आने की गति अत्यन्त धीमी है और यह लगभग असम्भव ही दिखता है कि अप्रैल के वेतन के बराबर किसी एक भी स्कूल में फ़ी एकत्र हो सके. उन्होंने कहा कि अनेक कार्यालय खुल चुके हैं, किन्तु प्राइवेट स्कूलों के कार्यालयों के खुलने की अनुमति अभी प्राप्त नहीं है. जिसके कारण दूर-दराज के विद्यालयों में स्थिति अत्यधिक दयनीय हो चुकी है. हालांकि सरकार के द्वारा मात्र शिक्षण शुल्क लेने की अनुमति दी गई है किन्तु कुल एक चौथाई अभिभावक भी फ़ी देने के लिए प्रस्तुत नहीं हो रहे हैं. डॉ सीबी सिंह ने कहा कि अनेक विद्यालयों ने अपने बैंकों से ओवरड्राफ्ट देने की बात की है, किन्तु बैंकों ने लगभग मना कर दिया है. ऐसी स्थिति में एसोसिएशन ने मुख्यमंत्री से हस्तक्षेप की मांग की है. उन्होंने भरोसा दिलाया कि इसी सत्र के दौरान दिसम्बर के पूर्व सभी विद्यालय पाई-पाई चुका देंगे. एसोसिएशन के महामंत्री डॉ राजीव रंजन

Read more

सरकारी अस्पतालों में शुरू होंगे ये दो अति महत्वपूर्ण कार्य

कोरोना वायरस ने दुनिया में तबाही की नई कहानी लिख दी है. इस वायरस के संक्रमण के डर से पूरी दुनिया में लॉक डाउन है. एक तरफ इस बीमारी से बचाव और इलाज के लिए सभी सरकारों ने अपनी पूरी ताकत और संसाधन झोंक दिये हैं. लेकिन कोरोना के आतंक की वजह से अन्य बीमारियों से ग्रस्त लोगों की जिंदगी खतरे में पड़ गई है. क्यों कि अन्य किसी बीमारी का इलाज संभव नहीं हो पा रहा है. इसकी वजह है लॉकडाउन और अस्पतालों का बंद होना. बिहार में इस गंभीर समस्या को देखते हुए सरकार ने बड़ा फैसला ले लिया है. रविवार को कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर 1 अणे मार्ग स्थित नेक संवाद में वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से सीएम नीतीश कुमार ने स्वास्थ्य विभाग के साथ समीक्षा की. मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमण के अलावा अन्य बीमारियों के इलाज के लिए भी कार्य करना होगा. इसके लिए जिला अस्पतालों एवं अनुमण्डलीय अस्पतालों में सामान्य मरीजों का उपचार शुरू किया जाय. प्रधान सचिव स्वास्थ्य संजय कुमार ने बताया कि सबसे पहले आपातकालीन सेवा तथा संस्थागत प्रसव का कार्य शुरू करने की योजना है. उसके बाद OPD सेवा भी प्रारंभ कर दी जायेगी ताकि अन्य मरीजों के उपचार में कोई दिक्कत न हो. मुख्यमंत्री ने कहा कि AES और जापानी इंसेफ्लाइटिस से निपटने के लिये पर्याप्त तैयारी रखें. पेडियोट्रिक इनटेंसिव केयर यूनिट (PICU) अस्पताल को अविलम्ब पूर्ण कर इलाज के लिये तैयार रखें. सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुये JE के पूर्ण टीकाकरण का कार्य आरंभ होना

Read more

हे सरकार, सुनो तेजस्वी की पुकार

वक़्त की दरकार, जनहित में हमारी पुकार:- अधिक से अधिक जाँच केंद्र स्थापित करे बिहार सरकार. पहले कम से कम हर प्रमंडल और फिर ज़िला में जाँच केंद्र हो. हॉट स्पॉट्स पर अधिक से अधिक लोगों का टेस्ट किया जाए. रैंडम टेस्ट किए जाए. स्वास्थ्यकर्मियों को पर्याप्त जाँच व सुरक्षा उपकरण मुहैया कराए सरकार जांच केंद्रों में तत्काल सारी सुविधा पहुँचे. पर्याप्त वेंटीलेटर की व्यवस्था हो. किसानों को क्षतिग्रस्त फ़सल का मुआवज़ा यथाशीघ्र मिले तीन माह के बिजली बिल माफ़ हो छात्रों की तीन माह की फ़ीस माफ़ हो ग़ैर-राशन कार्डधारियों को भी आर्थिक सहायता मिले प्रवासी कामगारों तक राशन-भोजन की व्यवस्था हो बेरोज़गारों को विशेष आर्थिक सहायता भत्ता मिले जनप्रतिनिधियों के अलावा उच्च अधिकारियों के वेतन में भी कटौती हो ग़रीबों और प्रवासी मज़दूरों के राशन एवं राशि भुगतान में किसी प्रकार की अनियमितता नहीं हो प्राथमिकता पर इसमें पारदर्शिता सुनिश्चित की जाए.

Read more

केन्द्र की राह चले नीतीश

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी केंद्र की राह पर चलते नजर आ रहे हैं. बुधवार को बिहार कैबिनेट की बैठक में नीतीश कुमार ने मुख्यमंत्री समेत तमाम विधायकों और विधान पार्षदों के वेतन में 15 फ़ीसदी कटौती की घोषणा की है. बिहार कैबिनेट ने एक साल के लिए मंत्री और विधायकों के वेतन में कटौती का फैसला लिया. इसके तहत एक साल तक बिहार के सभी विधायकों और मंत्रियों के वेतन में 15 फीसदी की कटौती की जाएगी. पहली बार वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई बिहार कैबिनेट की बैठक में सरकार ने कुल 29 फैसले लिए. बिहार के मंत्रियों व विधायकों के वेतन को कोरोना उन्‍मूलन कोष में दिया जाएगा. बता दें कि बिहार में नीतीश सरकार ने कोरोना उन्‍मूलन कोष का गठन किया गया है. इसमें सांसदों, विधायकों व विधान पार्षदों से 50-50 लाख देने का अनुरोध किया गया था. बता दें कि इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केंद्रीय कैबिनेट से मुहर लगवा कर सभी सांसदों के वेतन में 1 साल के लिए 30 फ़ीसदी की कटौती कर दी थी.

Read more

किसानों के लिए गुड न्यूज, अगस्त में अच्छी बारिश के संकेत

मुख्यमंत्री ने बाढ़ और सुखाड़ को लेकर की समीक्षा बैठक मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज 1 अणे मार्ग स्थित ‘नेक संवाद’ में बाढ़-सुखाड़ के सन्दर्भ में समीक्षा बैठक की. बैठक में मुख्य सचिव, विकास आयुक्त के साथ ही संबंधित विभागों के प्रधान सचिव/सचिव के अतिरिक्त वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से सभी प्रमंडलीय आयुक्त एवं जिलाधिकारी जुड़े थे. समीक्षा बैठक में मौसम विभाग के अधिकारी ने माॅनसून-2018 की वर्तमान एवं संभावित स्थिति के संबंध में प्रेजेंटेशन दिया, जिसमें अगस्त माह में बिहार में अच्छी बारिश होने की संभावना जताई गयी है. जल संसाधन विभाग के प्रधान सचिव ने मुख्यमंत्री के समक्ष बाढ़ एवं सुखाड़ की स्थिति से निपटने के लिए बनायी गयी विभागीय योजनाओं और तैयारी के संबंध में प्रस्तुतीकरण दिया. प्रेजेंटेशन में सोन नहर प्रणाली, गंडक नहर प्रणाली, कोशी नहर प्रणाली के साथ ही अन्य सिंचाई परियोजनाओं के जरिये किसानों के खेतों तक पानी उपलब्ध कराने, प्रमुख जलाशयों में वर्तमान जल संचयन की स्थिति, योजनावार खरीफ सिंचाई योजना के लक्ष्य एवं उपलब्धि, नहरों से जलापूर्ति की अवधि, बाढ़-2018 की तैयारी के निमित लिए गए एहतियाती फैसले, खरीफ सिंचाई-2018 हेतु नहर प्रणालियों के जलस्राव के अलावा गंगा, गंडक एवं कोशी के जलस्तर के सन्दर्भ में विस्तृत प्रतिवेदन मुख्यमंत्री के समक्ष प्रस्तुत किया गया. कृषि विभाग के प्रधान सचिव ने बाढ़ एवं सूखे की स्थिति से निपटने के लिए तैयार की गयी विभागीय योजनाओं एवं लिए गये फैसलों का प्रतिवेदन मुख्यमंत्री के समक्ष प्रजेंटेशन के माध्यम से जिलावार प्रस्तुत किया. प्रेजेंटेशन में विगत चार वर्षों का वर्षापात, पूरे बिहार में वर्तमान वर्षापात की सामान्य

Read more

‘नीतीश ने सामाजिक न्याय की राजनीति को अन्याय की राजनीति में बदल दिया’

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) । राजद के वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी का कहना है – बहुत कुछ गवाँ कर नीतीश कुमार को शराबबंदी के तालिबानी क़ानून में संशोधन का ख़याल आया. पहले तो बिहार की गली-गली में नीतीश सरकार ने शराब की दुकान खुलवाई. शराब का लत लगाकर लोगों को शराबी बनाया. इतनी बदतर हालत हो गई थी कि शराबियों के उत्पात से गाँव-देहात में महिलाओं का घरों से बाहर निकलना कठिन हो गया था. जगह-जगह महिलाओं ने नीतीश कुमार की सभाओं में शराब की इस प्रकार की खुली और व्यापक बिक्री का विरोध करना शुरू किया. लेकिन नीतीश कुमार से जवाब मिलता था कि अगर शराब की बिक्री बंद हो जाएगी तो लड़कियों को जो सायकिल और पोशाक का पैसा मिल रहा है वह कहाँ से आएगा ! लेकिन अचानक नीतीश जी को शराबबंदी के सहारे चेहरा चमकाने का ख़याल आया. समाज में बग़ैर शराबबंदी के पक्ष में जागरूकता फैलाए आनन-फ़ानन में तानाशाही मंडन में तालिबानी क़ानून बना कर लागू कर दिया. हमारे समाज में ग़रीबों और दलितों के शोषण का एक ज़रिया शराब भी रहा है. शराब के नशे में मदहोश कर उनसे अमानवीय काम करवाना तो हमारे यहाँ की आम रवायत रही है. आज भी है. कई दलित, आदिवासी और पिछड़ी जातियों में नशा तो उनके जीवन का अंग बन गया था. शराब पीना भी अपराध हो सकता है यह उनके सपना में भी नहीं आया होगा. इसलिए बग़ैर जागरूकता फैलाए सत्ता के झोंक में लिए गए नीतीश सरकार के शराबबंदी क़ानून के क़हर का सबसे ज़्यादा शिकार यही

Read more

नीतीश से मिलेंगे अमित शाह, नाश्ते और डिनर पर भी होंगे एक साथ

File pic 12 जुलाई को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह पटना आ रहे हैं. पर इससे ज्यादा महत्वपूर्ण ये कि बिहार के सीएम नीतीश कुमार उन्हें भोज दे रहे हैं. जी हां, बीजेपी ने अमित शाह का जो कार्यक्रम जारी किया है उसके मुताबिक बीजेपी अध्यक्ष सीएम नीतीश से दो बार मुलाकात करेंगे. एक तो सुबह के नाश्ते पर और दूसरा डिनर पर. अमित शाह 12 जुलाई को सुबह 10.00 बजे पटना के लोकनायक जयप्रकाश नारायण अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंचेंगे जहाँ बिहार भाजपा के नेतागण उनकी आगवानी एवं स्वागत करेंगे. भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह पटना पहुँचने के बाद राजकीय अतिथिशाला जायेंगे, जहाँ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एवं वरिष्ठ नेताओं के साथ सुबह का जलपान करेंगे. दिन भर की गतिविधियों के बाद अमित शाह मुख्यमंत्री आवास पर नीतीश के साथ रात्रि भोजन करेंगे.  भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह का बिहार दौरा बहुत ही ऐतिहासिक एवं भव्य होगा. हमारे माननीय राष्ट्रीय अध्यक्ष  के नेतृत्व में भाजपा देश ही नहीं दुनिया की सबसे बड़ी राजनीतिक संगठन बनी है जो हम सभी पार्टी कार्यकर्ताओं के लिए बड़े ही गर्व और हर्ष का विषय है। स्वाभाविक तौर पर हम उनके स्वागत में कोई कोर कसर नहीं रहने देना चाहते हैं- नित्यानंद राय, प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष   अमित शाह का शेड्यूल 12 जुलाई- बापू सभागार में 11.30 बजे से 12.30 बजे तक आयोजित सोशल मीडिया की बैठक में भाग लेंगे ज्ञान भवन में 12.45 बजे से 1.45 बजे दोपहर तक विस्तारकों की बैठक में भाग लेंगे ज्ञान भवन परिसर में ही दोपहर का भोजन करेंगे दोपहर 2.30 बजे से 3.30 बजे तक शक्ति केंद्र प्रभारियों की बैठक बापू

Read more

NDA में आपको कोई दिक्कत दिख रही है क्या!

NDA को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पहली बार बयान दिया है. पिछले कई दिनों से लगातार सीट शेयरिंग और टूट को लेकर एनडीए में बिखराव की खबर आ रही है. विपक्ष भी लगातार एनडीए में टूट का दावा कर रहा है. इन सबपर विराम लगाने की कोशिश करते हुए सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि एनडीए पूरी तरह साथ है. मीडिया के सवालों के जवाब देते हुए सीएम ने कहा कि जब चुनाव का वक्त आएगा तो सीट शेयरिंग पर चर्चा होगी. फिलहाल आपको कोई दिक्कत दिख रही है क्या. उन्होंने कहा कि कौन पार्टी क्या दावा कर रही है ये जानने में मेरी कोई दिलचस्पी नहीं है. नीतीश कुमार ने कहा कि आज एनडीए के सभी घटक दल मिलकर काम कर रहे हैं. इसलिए मैं बेकार की बातों पर ध्यान नहीं देता. दरअसल पिछले दिनों पहले एनडीए की पहली बैठक में उपेन्द्र कुशवाहा की अनुपस्थिति और फिर इफ्तार पार्टी में भी रालोसपा से अन्य दलों की दूरी देखने को मिली. हालांकि बीजेपी ने हरसंभव कोशिश की है रालोसपा संग नजदीकी की. लेकिन जदयू और लोजपा की रालोसपा से दूरी बीजेपी के लिए एनडीए में एकजुटता बनाने की कोशिश को मुश्किल बना सकती है.

Read more

चाचा नेहरू को श्रद्धांजलि

प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू जी को श्रद्धांजलि आज देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल की पुण्यतिथि है. इस अवसर पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पंडित जवाहर लाल नेहरु की आदमकद प्रतिमा पर माल्यार्पण कर भावभीनी श्रद्धांजलि दी. पटना जंक्शन गोलम्बर स्थित पंडित जवाहर लाल नेहरु की प्रतिमा स्थल पर पुण्यतिथि के मौके पर राजकीय समारोह का आयोजन किया गया, जहाँ मुख्यमंत्री ने शोक सलामी लेने के बाद एक मिनट का मौन धारण किया. इस अवसर पर शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा, जिलाधिकारी कुमार रवि, वरीय पुलिस अधीक्षक मनु महाराज सहित अन्य कई गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे. सूचना एवं जन-सम्पर्क विभाग के कलाकारों के द्वारा भजन एवं देशभक्ति गीतों का गायन किया गया.

Read more

मुलाकात हुई, क्या बात हुई…

जैसे-जैसे लोकसभा चुनाव नजदीक आ रहे हैं, बिहार में भी सियासी सरगर्मी तेज हो गई है. खासकर मुलाकातों का दौर कुछ ऐसा चल पड़ा है कि राजनीतिक पार्टियां एक-दूसरे के साथ भविष्य के लिए राजनीतिक बिसात बिछाने लगी हैं. एक ऐसी ही मुलाकात बिहार में चर्चा में है. पिछले कुछ महीनों के भीतर रालोसपा अध्यक्ष और केन्द्रीय मानव संसाधन राज्यमंत्री उपेन्द्र कुशवाहा दूसरी बार सीएम नीतीश कुमार से मिलने पहुंचे. एक  अन्ने मार्ग पर हुई इस मुलाकात को आधिकारिक तौर पर शिष्टाचार मुलाकात बताया गया है. लेकिन इसे लेकर राजनीतिक चर्चा जोरों पर है. बताया जा रहा है कि मुलाकात के दौरान बिहार में शिक्षा की स्थिति को बेहतर बनाने पर दोनों नेताओं के बीच चर्चा हुई. लेकिन सूत्रों की मानें तो दोनों नेताओं के बीच राजनीतिक मुद्दे पर खास बातें हुई हैं. राजेश तिवारी

Read more