हर एक मौत की जिम्मेदार है सरकार-कविता कृष्णन

हर मृतक के आश्रित को मुआवजा देना होगा-मनोज मंज़िल ये नीतीश-भाजपा सरकार पहले जिंदा लोगों से कागज मांगती थी अब मर गए लोगों से भी कागज मांग रही है-कविता कृष्णन भाकपा-माले पोलित बयूरो सदस्य कॉमरेड कविता कृष्णन ग्राम-पसौर,चरपोखरी भोजपुर में कोरोना काल मे मारे गए मृतको के परिजनों को किया संबोधित इस कोविड महामारी में अपनी जान गंवाने वाले सभी लोगों को श्रद्धांजलि दी गयी । ◆मृतक करण साह 45 वर्ष◆मृतक फुलझरिया देवी 54 वर्ष◆मृतक जीउत राम 64 वर्ष◆मृतक संतोष कुमार सिंह 48 वर्ष◆मृतक दीप नारायण यादव 50 वर्ष◆मृतक अवधेश यादव 45 वर्ष◆मृतक लोरिक यादव 80 वर्ष◆मृतक दरपानो कुंवर 79 वर्ष◆मृतक बुधराजो कुंवर 80 वर्ष◆मृतक मो.कलामुदिन अंसारी 65 वर्ष◆मृतक पिआरो देवी 85 वर्ष◆मृतक शुभग मुशहर 65 वर्ष◆मृतक रामदेईया मुशहर 70 वर्ष◆मृतक राजा कुंवर 60 वर्ष◆मृतक श्री निवास राम 40 वर्ष◆मृतक नंदजी राम 50 वर्ष◆मृतक लवंगी देवी 40 वर्ष◆मृतक सुंदरी देवी 50 वर्ष◆मृतक चिंता देवी 45 वर्ष◆मृतक पार्वती कुमारी 16 वर्ष आदि के परिजनों से मिल सांत्वना प्रकट किये। कॉमरेड कविता कृष्णन ने संबोधित करते हुए कहा कि इस कोविड-19 का देश के नागरिकों ने साझा सामना किया, एक दूसरे का हाथ थामा, जब सरकारों ने हाथ खींच लिया, हमारे लाखों अपने बच नहीं पाए – वायरस से, फंगस से, आक्सीजन, अस्पताल या दवा के अभाव में, जिन्हें कोविड के अलावा कोई जानलेवा बीमारी थी – उनके लिए अस्पतालों में जगह न होने से उनकी जान गई,जलाने, दफ़नाने की जगह कम पड़ गई, गरीबों ने अपने आंसुओं के साथ अपनों को नदी में बहा दिया या नदी किनारे कफ़न डाल विदा

Read more