राजधानी के न्यू बाईपास के पास किया सड़क जाम

पटना (स्वतंत्र पत्रकार मनोज चौधरी की रिपोर्ट) | एक ओर जहां समूचे प्रदेश में पिछले दिनों हुई भारी बारिश और जल जमाव ने जनता के नाक में दम कर दिया है, वहीं स्थानीय लोगों द्वारा सरकार के खिलाफ आवाज उठना शुरू हो गया है. बुधवार को राजधानी के न्यू बाईपास पर दशरथ्था के पास स्थानीय लोगों ने सड़क जाम कर दिया तथा प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. उनका कहना था कि वर्तमान सरकार की ओर से इस प्राकृतिक आपदा से लड़ने के लिए कुछ इंतजाम नहीं किये गए थे. उनके अनुसार आसपास के इलाकों में बहुत जल जमाव होने से जीवन अस्त व्यस्त हो गया है. प्रशासन की तरफ से उन्हें सहायता नहीं मिल पा रही है.

Read more

जाम से त्राहिमाम है जिला के सभी हाइवे

कोइलवर/भोजपुर (आमोद कुमार की रिपोर्ट) | जाम के नाम आते ही बड़े व छोटे वाहनों में सवार यात्रियों व लोगो के जेहन में कोईलवर पुल याद आता था. लेकिन अब कोईलवर के चारो तरफ हर हाइवे व लिंक रोड पर जाम का आलम इस कदर है की 36 से 40 घंटे तक वाहन एक ही जगह पर खड़े रहते है. जिससे लगभग 5 हजार ट्रके रोजाना फंसती रहती है.  जिसमे फंसे यात्रियों का हाल बुरा हो जाता है. जाम के कारण निजी स्कूल के दर्जनों बस जहाँ तहाँ फंसी रहती है. जिसके कारण बच्चे सही समय से स्कूल नही पहुँच रहे है. तो दूसरी ओर चार बजते ही स्कूल प्रबंधन के फोन पर घण्टिया बजनी शुरू हो जाती है कि फला नंबर की बस कब चली है. उनका बच्चा अभी घर नही पहुँचा है. वही आरा से पटना जाने वाले एम्बुलेंस में सवार मरीजो के अटेंडेंट की सांस अटकी रहती है की कही वह धरहरा, कायमनगर, सकडडी, कोईलवर या पटना जिला के परेव व बिहटा में फंस ना जाये. क्योकि की आरा से पटना जाने में एम्बुलेंस को जहाँ डेढ़ घंटा लगता था. अब जाम के कारण तीन से चार घंटे से ज्यादा समय लग जाता है. लेकिन इससे किसी प्रशासनिक पदाधिकारियो को कोई फर्क नही पड़ता. क्योकि वीआईपी मूवमेंट में बड़े अधिकारी या नेता, मंत्री, विधायक या अन्य डेलिगेशन के आने की सूचना बिहटा, कोईलवर थाना को पहले ही दे दी जाती है.  जिससे पुलिस के जवानों को नेशनल हाइवे में पड़ने वाले हर चौक चौराहे व जाम वाले

Read more