पटना जू के शौचालयों की हालत खराब

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) | संजय गांधी जैविक उद्यान यानि पटना जू बिहार की राजधानी के हृदय में बसा एक सुन्दर और लोगों के मनोरंजन का एक महत्वपूर्ण केंद्र है. यहां पेड़-पौधे, तमाम जड़ी बूटियां और झाड़ियों की तीन सौ से ज्यादा प्रजातियां हैं. बच्चें, बूढ़े, जवान, सभी इस हरियाली से युक्त जंगली जानवरों के उद्यान का भरपूर फायदा उठाते हैं. उद्यान में जहां एक तरफ झील है तो दूसरी तरफ बैटरी से चलने वाला टॉय ट्रेन है.इस उद्यान में लोग मनोरंजन के अलावा मौर्निंग वॉक के लिए भी आते हैं. दूषित हो रहे इस पर्यावरण में पटना जू सेहत बनाने में भी लोगों के लिए काफी महत्वपूर्ण और अच्छा स्थान माना जाता है. ज़ू में घूमने आने वालों के साथ साथ मौर्निंग वॉक पर आने वालों से ज़ू प्रशासन एंट्री शुल्क लेता है. इन शुल्कों से उद्यान का मेंटेनेंस किया जाता है.इस ज़ू में कई शौचालय बने हैं जिनका उपयोग यहां घूमने आने वाले करते हैं. पिछले कुछ महीनों से इन शौचालयों की देखभाल ठीक ढंग से नहीं हो पा रही है. इस कारण लोगों में, खासकर मौर्निंग वॉक में आने वाले लोगों में आक्रोश व्याप्त है. उनका कहना है कि शुरुआत में उद्यान के शौचालयों की देखभाल काफी ढंग से होती थी, लेकिन अब इसकी हालत खराब हो रही है.

Read more