अगर आप भी मां दुर्गा की उपासना कर रहे हैं और अपने घर में कलश स्थापना कर रहे हैं तो ये लेख आपके काम का है. आइये जानते हैं 21 सितंबर से शुरू हो रहे नवरात्र में कलश स्थापन और पूजा का उचित समय और विधि. शारदीय नवरात्रि 2017 कलश स्थापना का मुहुर्त:- 21 सितम्बर 2017 गुरूवार को प्रात: 6 बजे से 7 बजकर 30 मिनट तक शुभ का चौघड़िया है इसमें घट स्थापना कर सकते हैं क्यों कि कुछ साधक प्रातः काल घट स्थापना होने तक कुछ भी खाते पीते नहीं है उनको प्रात काल के इस महुर्त में घट स्थापना कर लेनी चाहिये. कुछ साधक अभिजीत महूर्त में घट स्थापना करना चाहते हैं उनको दोपहर 12 बजे से 12 बजकर 24 मिनट के बीच में घट स्थापना करनी होगी क्यों कि इस दिन 12 बजे से लेकर 1 बजकर 30 मिनट तक लाभ का चौघड़िया है जो लोग दुकानों व व्यापारिक प्रतिष्ठानों में घट स्थापना करना चाहते हैं उनके लिये भी लाभ के चौघड़िया में घट स्थापना करना उतम है। यहा स्पष्ट रहे कि अभिजित महुर्त 11 बजकर 36 मिनट से 12 बजकर 24 मिनट तक है व लाभ का चौघड़िया 12 बजे से लेकर 1 बजकर 30 मिनट तक माना गया है इसलिये 12 बजे से 12 बजकर 24 मिनट का समय ऐसा है कि उसमें लाभ का चौघड़िया एवम अभिजित मर्हुत दोनो ही है. प्रतिपदा तिथि – घटस्थापना , श्री शैलपुत्री पूजा द्वितीया तिथि – श्री ब्रह्मचारिणी पूजा तृतीय तिथि – श्री चंद्रघंटा पूजा चतुर्थी तिथि

Read more