कोरोना के वक्त काल बनकर आई आकाशीय बिजली

बिहार में रविवार को आकाशीय बिजली गिरने से 12 लोगों की मौत हो गई. सबसे ज्यादा 9 लोगों की जान गई सारण में. इसके अलावा जमुई में 2 और भोजपुर में एक व्यक्ति की मौत हुई है. सारण, जमुई और भोजपुर में वज्रपात के कारण 12 लोगों की मृत्यु पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शोक संवेदना व्यक्त की है और मृतकों के आश्रितों को चार-चार लाख रूपये अनुग्रह अनुदान देने का निर्देश दिया है. मुख्यमंत्री ने कहा कि इस बार हुये वज्रपात की तीव्रता काफी अधिक थी. लाॅकडाउन की वजह से लोग घरों में थे इस कारण ऐसी तीव्रता वाले वज्रपात से संभवतः क्षति कम हुयी है. मुख्यमंत्री ने लोगों से अपील की है कि सभी लोग खराब मौसम में पूरी सतर्कता बरतें. खराब मौसम होने पर वज्रपात से बचाव के लिये आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा समय-समय पर जारी किये गये सुझावों का अनुपालन करें. मुख्यमंत्री ने अपील करते हुये कहा कि लोग धैर्य रखें, सचेत रहें, सतर्क रहें, तभी स्वस्थ रहेंगे. लोग लाॅकडाउन के नियमों का पालन करते हुये घरों में रहें और सुरक्षित रहें. छपरा में रविवार को ठनका गिरने से 9 लोगों की मौत हो गई जबकि कई लोग झुलस गए. घटना छपरा के मखदूमगंज दियारा इलाके की है. स्थानीय लोगों के अनुसार सभी झुलसे लोगों को सदर हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है. बताया जा रहा है कि मरने वालों लोगों की संख्या बढ़ भी सकती है. हादसा उस समय हुआ जब कई लोग दियारा क्षेत्र में कुछ लोग जमीन नापी के लिए गए थे. वही कुछ फसल काटने के

Read more