वायु प्रदूषण नियंत्रण के लिए पटना नगर निगम का क्या है प्लान

वायु प्रदूषण पर नियंत्रण के लिए अब पटना नगर निगम भी अच्छी खासी राशि खर्च करने वाला है. बुधवार को पटना नगर निगम पर्षद की विशेष बैठक में वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए कुल 1499.85 करोड़ रुपए का बजट स्वीकृत किया गया. इसमें से 204 करोड रुपए पटना में एयर पॉल्यूशन कंट्रोल पर खर्च होंगे. यही नहीं, पटना शहर के लोगों को गंगा की सैर कराने के लिए पटना नगर निगम जहाज भी खरीदेगा. यह जहाज 75 से 80 सीट वाला होगा जिस पर करीब डेढ़ करोड़ रुपए खर्च होंगे. दरअसल केंद्र सरकार से पर्यावरण के मध्य में नगर निगम को करोड़ों रुपए मिलेंगे और इसके लिए नगर निगम में एक पर्यावरण सेल का गठन किया जाएगा. नगर आयुक्त हिमांशु शर्मा ने बताया कि अगले कुछ दिनों में एक कार्य योजना तैयार कर ली जाएग. रामाचक बैरिया में 10000 पौधे लगाए जाएंगे और निगम क्षेत्र में 10 जगहों पर वायु प्रदूषण मापक यंत्र भी लगाया जाएगा. निगम बजट 2021-22 वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए पटना नगर निगम बोर्ड ने स्वीकृत किया लगभग 15 सौ करोड़ का बजट, आधारभूत संरचना विकास पर खर्च होंगे 780 करोड़ रुपये पटना।। पटना नगर निगम पार्षद की विशेष बैठक में वित्तीय वर्ष 2021-22 हेतु कुल 1499.85 करोड़ रुपये का बजट स्वीकृत किया गया. महापौर सीता साहू की अध्यक्षता और सांसद रामकृपाल यादव की उपस्थिति में पटना नगर निगम के आयुक्त श्री हिमांशु शर्मा बजट पेश किया। वित्तीय वर्ष 2021-22 में 1499.85 करोड़ रुपये के व्यय एवं 1359.23 करोड़ रुपये आय का अनुमान है. खर्च का ब्यौरा: बजट की कुल अनुमानित राशि 1499.85 करोड़ रुपये को दो मदों यथा राजस्व व्यय एवं पूंजीगत व्यय में विभाजित किय़ा

Read more

पूजा के नाम पर गंदगी फैलाना छोड़िए जनाब

मूर्ति विसर्जन को लेकर पटना नगर निगम प्रशासन ने प्रमुख घाट गाय घाट और भद्र घाट का निरीक्षण किया. साथ ही मूर्ति विसर्जन में कोई परेशानी न हो इसके लिए नगर निगम टीम को घाटों को दुरुस्त करने का निर्देश दिया. इस मौके पर नगर निगम आयुक्त अभिषेक सिंह और पटना नगर निगम की महापौर सीता साहू समेत नगर निगम की टीम भी मौजूद थी. नगर निगम आयुक्त और महापौर का कहना था कि मूर्ति विसर्जन के लिए दो घाट प्रमुख हैं. दुर्गा पूजा समिति के आयोजक भद्र घाट और गाय घाट में मूर्ति विसर्जन करते हैं. इसलिए दोनों घाटों पर मूर्ति विसर्जन में कोई परेशानी न हो इसके लिए दोनों घाट को दुरुस्त किया जाएगा और लाइट की व्यवस्था की जाएगी. ताकि रात में भी मूर्ति विसर्जन किया जा सके. वही नगर निगम आयुक्त ने श्रद्धालुओं से अपील की है कि मूर्ति विसर्जन के दौरान मूर्ति के अलावा अन्य पूजन सामग्री को घाट पर रखे गए डस्टबिन में डालें ताकि गंगा में कचरा न जाये और गंगा भी स्वच्छ रह सके.   पटना से अरुण

Read more