सीएम के खिलाफ सीबीआई जांच की खबर गलत

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) | नीतीश के खिलाफ सीबीआई जांच की खबर गलत साबित हुई. शनिवार को अचानक मीडिया के माध्यम एक खबर फैली. इस खबर में यह बताया गया कि मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड मामले में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सहित दो आईएएस अधिकारियों के खिलाफ सीबीआई ने जांच के आदेश दिए हैं. यह आदेश इस केस को देख रही विशेष पोक्सो कोर्ट द्वारा सीबीआई को दिया गया. बाद में यह मामला महज एक कन्फूजन निकला ( देखें ऊपर का वीडियो…… ……) जब केस में आरोपी के मुजफ्फरपुर कोर्ट के अधिवक्ता शरद सिन्हा ने इस मामले को विस्तार से बताया. अधिवक्ता शरद सिन्हा के अनुसार विशेष पोक्सो कोर्ट इस तरह का आदेश जारी कर ही नहीं सकता है. बात दरअसल यह थी कि मुजफ्फरपुर शेल्टर होम मामले में गिरफ्तार आरोपी डॉ. अश्विनी ने अपने वकील के जरिए शेल्टर होम के संचालन में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की भूमिका की जांच के लिए अर्जी दाखिल की थी. अश्विनी ने आरोप लगाया कि मामले में सीबीआई तथ्यों को दबाने की कोशिश कर रही थी, जिसमें मुजफ्फरपुर के पूर्व डीएम धर्मेंद्र सिंह, वरिष्ठ आईएएस अधिकारी अतुल कुमार सिंह समेत मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की भूमिका पर जांच होनी थी. गौरतलब है, नाबालिग लड़कियों को ड्रग्स का इंजेक्शन देने के आरोप में डॉ०अश्विनी को पिछले साल नवंबर में गिरफ्तार किया गया था.

Read more

राजगीर के संरक्षण पर मुख्यमंत्री गंभीर, कहा विरासत के संरक्षण हेतु राज्य सरकार तत्पर

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) | मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज राजगीर स्थित जरासंध अखाड़े के विकास एवं संरक्षण को लेकर अखाड़े का भ्रमण एवं निरीक्षण किया. उन्होंने लगभग 20 मिनट तक इसकी संरचना एवं मिट्टी का बारीकी से अवलोकन किया तथा इसके ऐतिहासिक महत्व के बारे में विस्तृत रूप से चर्चा की. मुख्यमंत्री ने कहा कि यह धराेहर ASI द्वारा प्रोटेक्टेड माेनुमेंट की सूची में शामिल है इसलिए इसके संरक्षण एवं विकास के लिए राज्य सरकार सीधे तौर पर स्वयं कार्रवाई नहीं कर सकती है. उन्होंने कहा कि इस धरोहर के विकास एवं संरक्षण हेतु राज्य सरकार एएसआई को आर्थिक एवं अन्य आवश्यक मदद करने के लिए सदैव तैयार है. ASI द्वारा इस विरासत के सौंदर्यीकरण एवं संरक्षण हेतु कार्रवाई की जा रही है. उन्होंने इसके लिए अपने स्तर से भी महत्वपूर्ण सुझाव दिये. मुख्यमंत्री ने अखाड़े की बाहरी दीवार का निर्माण एवं अंदर की संरचना को लोहे के ग्रिल के माध्यम से घेराबंदी कर सुरक्षित करने की आवश्यकता बताई. पर्यटकों के दर्शन हेतु मूल संरचना से बगैर छेड़छाड के लोहे का प्लेटफार्म बनाने का सुझाव भी दिया. उन्होंने कहा कि पूर्व में राज्य स्तर पर अधिकारियों की एक बैठक की गई है. पुनः ASI के साथ बैठक कर इसके सौंदर्यीकरण एवं संरक्षण हेतु कार्रवाई की जाएगी. मुख्यमंत्री ने कहा कि राजगीर की हर धरोहर एवं ऐतिहासिक विरासत को संरक्षित रखने हेतु राज्य सरकार सदैव तत्पर है. इस अवसर पर ऊर्जा मंत्री बिजेन्द्र प्रसाद यादव, ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार, सांसद कौशलेंद्र कुमार, मुख्यमंत्री के परामर्शी अंजनी कुमार सिंह, प्रधान सचिव

Read more

बिहार की अपनी तरह की पहली योजना का मुख्यमंत्री ने किया उद्घाटन

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) | मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रविवार को नवादा जिले के अकबरपुर पंचायत के नेमदारगंज गाॅव में लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग द्वारा निर्मित सौर ऊर्जा चालित कैटल ट्रफ यानि पशु पेयजल सुविधा केन्द्र का उद्घाटन किया. यह बिहार की अपनी तरह की पहली योजना है. इस योजनान्तर्गत एक बोरिंग, एक एचपी का सोलर पम्प, एक हाॅज तथा एक नाद का निर्माण कराया गया है. एक एचपी पम्प से प्रतिदिन 20 से 25 हजार लीटर पानी की सुविधा मिलेगी, जिससे साढ़े तीन सौ से ज्यादा पषु पानी पी सकेंगे. इस योजना की कुल लागत 2.96 लाख रूपये है. उद्घाटन के पश्चात मुख्यमंत्री ने लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग द्वारा कराये जा रहे विभिन्न कार्यों से संबंधित पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन को भी देखा और अधिकारियों के साथ विस्तृत समीक्षा की. बैठक में ऊर्जा मंत्री बिजेन्द्र प्रसाद यादव, विधायक श्री अनिल सिंह, अन्य जनप्रतिनिधिगण, प्रधान सचिव ऊर्जा प्रत्यय अमृत, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव चंचल कुमार, सचिव लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण जीतेन्द्र कुमार श्रीवास्तव सहित लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग के अभियंतागण एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे.

Read more

ककोलत आकर मुझे सुखद अनुभूति हो रही है – नीतीश कुमार

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) | मुख्यमंत्री नीतीश कुमार रविवार को नवादा जिले के गोविंदपुर प्रखंड स्थित ककोलत जल प्रपात का भ्रमण किया. मुख्यमंत्री सीढ़ियों से ऊपर चढ़ते हुए कुंड तक पहुंचे और जल प्रपात के उद्गम धार को देखा. मुख्यमंत्री ने यहां आने पर अपनी प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि मैं पहली बार यहां आया हूं और मुझे सुखद अनुभूति हो रही है. भ्रमण के दौरान मुख्यमंत्री ने पर्यटन विभाग के प्रधान सचिव रवि मनुभाई परमार एवं प्रधान मुख्य वन संरक्षक डी0के0 शुक्ला को आवश्यक दिशा निर्देश दिए. मुख्यमंत्री ने कहा कि यह एक ऐतिहासिक जगह है और इको टूरिज्म के लिए बेहतर स्पॉट की यहां काफी संभावनाएं हैं. इसे विकसित करने की जरुरत है. उन्होंने कहा कि सीढ़ियों के अगल-बगल सुरक्षा की दृष्टि से रेलिंग की व्यवस्था की जाय. सीढ़ियों पर यहां आने वालों को असुविधा न हो इसके लिए सीढ़ियों के बीच-बीच में बैठने के भी इंतजाम किये जायें. लोगों को ऊपर चढ़ने के लिए एक्सक्लेटर आदि की व्यवस्था हो. उन्होंने कहा कि यहां साफ सफाई पर विशेष ध्यान देने की जरुरत है. सीढ़ियों के नीचे उतरने पर जो समतल जगह है, उस पर दुकान एवं अन्य सुविधाओं की व्यवस्था करने का भी मुख्यमंत्री ने सुझाव दिया. मुख्यमंत्री ने कहा कि बिजली की भी यहां पर्याप्त व्यवस्था की जाए ताकि लोगों को किसी प्रकार की असुविधा न हो. यहां आने वाले पर्यटकों की हर सुविधा का विशेष ख्याल रखा जाए. उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि ककोलत आने वाले एप्रोच रोड को भी दुरुस्त किया जाए. मुख्यमंत्री वहां उपस्थित जन

Read more

विद्युत् आपूर्ति नहीं होगी बाधित, मुख्यमंत्री ने वारिसलीगंज में ग्रिड उपकेंद्र एवं संबद्ध संचरण लाईन योजना का किया उद्घाटन

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) | मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रविवार को नवादा जिले के वारिसलीगंज (वासोचक) में 54.19 करोड़ रुपये की लागत वाली बिहार स्टेट पावर ट्रांसमिशन कंपनी लिमिटेड के 132/33 के0वी0 ग्रिड उपकेंद्र एवं संबद्ध संचरण लाईन योजना का उद्घाटन शिलापट्ट का अनावरण कर किया. नियंत्रण भवन का उद्घाटन करने के बाद मुख्यमंत्री ने स्विच गियर कक्ष और नियंत्रण एवं रिले कक्ष का मुआयना कर ऊर्जा विभाग के अधिकारियों से पूरी जानकारी ली. बिहार साउथ पावर ट्रांसमिशन कंपनी लिमिटेड के अधिकारियों ने प्रेजेंटेशन के जरिये वारिसलीगंज (वासोचक) ग्रिड उप केंद्र से होने वाले फायदे एवं पूरे बिहार में निर्मित एवं निर्माणाधीन ग्रिड सब स्टेशन की वर्तमान वस्तु स्थिति से मुख्यमंत्री को अवगत कराया. गौरतलब है कि इस ग्रिड सब स्टेशन के कार्यशील होने से सभी 7 शक्ति उपकेंद्रों (रोह, कौआकोल, पकरीबरावॉ, काशीचक, माया बिगहा, कचना एवं वारिसलीगंज) पर एक साथ विद्युत आपूर्ति बाधित नहीं होगी. ऊर्जा विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने प्रेजेंटेशन के क्रम में मुख्यमंत्री को बताया कि वारिसलीगंज ग्रिड सब स्टेशन के शुरू होने से वोल्टेज इम्प्रूव कर गया है, जिससे अब आसपास के क्षेत्रों में लो वोल्टेज की समस्या दूर होगी. उन्होंने बताया कि वर्ष 2005 में पूरे बिहार में 45 ग्रिड सब स्टेशन थे, जिनकी संख्या अब बढ़कर 142 हो गयी है और आवश्यकता के अनुरूप वर्ष 2022 तक इसकी संख्या बढ़कर 170 हो जाएगी. मुख्यमंत्री ने वारिसलीगंज (वासोचक) ग्रिड सब स्टेशन प्रांगण में बिहार शताब्दी निजी नलकूप योजना (लघु जल संसाधन), जिला निबंधन एवं परामर्श केंद्र, पशु एवं मत्स्य संसाधन विभाग, जिला उद्यान

Read more

जिनके पास कोई काम नहीं, वही चलाते हैं बहुत जुबान

राष्ट्रीय जनता दल पर सीएम ने बुधवार को बड़ा हमला बोला. उनका इशारा तेजस्वी यादव पर था जो हर दिन ट्वीट करते हैं और कहते हैं कि सीएम ने चुप्पी साध रखी है. पटना में दलित-महादलित सम्मेलन में सीएम ने कहा कि जिनके पास काम ही नहीं वही लोग ऐसी बात करते हैं. हम काम में विश्वास रखते हैं ज्यादा बोलने में नहीं. सम्मेलन में उपस्थित लोगों से आह्वान करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि हर हाल में समाज में प्रेम, भाईचारा, सद्भाव, आपसी सौहार्द्र का माहौल बनाकर रखिये, तभी विकास का लाभ मिल सकेगा. उन्होंने कहा कि हमलोग झगड़े में नहीं प्रेम, सद्भाव और एक-दूसरे की इज्जत करने में यकीन रखते हैं. बहुत लोग जिन्होंने कोई काम नहीं किया, वे अनाप-शनाप बोलते रहते हैं क्योकि जो काम नहीं करता है वह जुबान अधिक चलाता है. ऐसे लोग हमारी खामोशी पर सवाल खड़े करते हैं. जदयू के दलित-महादलित सम्मलेन में शामिल सीएम ने कहा कि जब तक अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति को मुख्य धारा तक नहीं लायेंगे, तब तक हमारा लक्ष्य पूरा नहीं होगा. मुख्यमंत्री ने कहा कि नवम्बर 2005 से हमें जब काम करने की जिम्मेवारी मिली, तब से हर क्षेत्र में हम काम करने की कोशिश कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि वर्ष 2004-05 में अनुसूचित जाति के लिए जितनी योजनायें चलती थीं, उसके लिए बजट में केवल 13 करोड़ 5 लाख 45 हजार रूपये का प्रावधान था. हमने अनुसूचित जाति/जनजाति कल्याण के लिए विभाग बनाया. शिक्षा विभाग के द्वारा छात्रवृत्ति का लाभ छात्रों तक पहुँचाया,  इसके अतिरिक्त अन्य कई योजनायें अनुसूचित जातियों

Read more

पांच लाख रूपये तक का होगा मुफ्त इलाज

रांची में आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आयुष्मान भारत योजना का शुभारंभ किया. विश्व की सबसे बड़ी योजना मानी जा रही ये स्वास्थ्य बीमा योजना के जरिए गरीब परिवार अपना इलाज सरकारी और निजी अस्पताल में भी करा सकेंगे. इधर पटना में राज्यपाल लालजी टंडन और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज सम्राट अशोक कन्वेंशन केंद्र स्थित ज्ञान भवन में आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का शुभारंभ किया. इस योजना के अंतर्गत राज्य में लगभग 1 करोड़ 8 लाख परिवार, जिसमें ग्रामीण क्षेत्रों से 99,58,392 एवं शहरी क्षेत्रों से 8,65,916 परिवार सम्मिलित हैं. योजना हेतु लाभार्थी परिवारों का चयन सामाजिक, आर्थिक एवं जातिगत जनगणना 2011 में निर्धारित पात्रता के आधार पर किया गया है. इस मौके पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के शुभारंभ के लिए बधाई दी. उन्होंने कहा कि आज राष्ट्रीय स्तर पर इस कार्यक्रम का शुभारंभ प्रधानमंत्री रांची से कर रहे हैं. आयुष्मान भारत योजना की जानकारी वित्त मंत्री अरुण जेटली के बजट भाषण से ही मिल गयी थी, उस समय भी हमने कहा था कि यह बहुत ही अच्छी योजना है, इसके अंतर्गत एक साल में एक परिवार को पाँच लाख रूपये की मदद किसी भी सरकारी या निजी अस्पताल में इलाज कराने पर दी जाएगी. इससे अधिक उत्साहजनक बात क्या हो सकती है. बिहार में आज से यह योजना लागू हो गई, इसकी मुझे बेहद खुशी है. मेरी एक ही अपेक्षा है कि इस योजना का क्रियान्वयन बेहतर तरीके से हो ताकि जरुरतमंदों तक इसका लाभ

Read more

‘नीतीश ने सामाजिक न्याय की राजनीति को अन्याय की राजनीति में बदल दिया’

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) । राजद के वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी का कहना है – बहुत कुछ गवाँ कर नीतीश कुमार को शराबबंदी के तालिबानी क़ानून में संशोधन का ख़याल आया. पहले तो बिहार की गली-गली में नीतीश सरकार ने शराब की दुकान खुलवाई. शराब का लत लगाकर लोगों को शराबी बनाया. इतनी बदतर हालत हो गई थी कि शराबियों के उत्पात से गाँव-देहात में महिलाओं का घरों से बाहर निकलना कठिन हो गया था. जगह-जगह महिलाओं ने नीतीश कुमार की सभाओं में शराब की इस प्रकार की खुली और व्यापक बिक्री का विरोध करना शुरू किया. लेकिन नीतीश कुमार से जवाब मिलता था कि अगर शराब की बिक्री बंद हो जाएगी तो लड़कियों को जो सायकिल और पोशाक का पैसा मिल रहा है वह कहाँ से आएगा ! लेकिन अचानक नीतीश जी को शराबबंदी के सहारे चेहरा चमकाने का ख़याल आया. समाज में बग़ैर शराबबंदी के पक्ष में जागरूकता फैलाए आनन-फ़ानन में तानाशाही मंडन में तालिबानी क़ानून बना कर लागू कर दिया. हमारे समाज में ग़रीबों और दलितों के शोषण का एक ज़रिया शराब भी रहा है. शराब के नशे में मदहोश कर उनसे अमानवीय काम करवाना तो हमारे यहाँ की आम रवायत रही है. आज भी है. कई दलित, आदिवासी और पिछड़ी जातियों में नशा तो उनके जीवन का अंग बन गया था. शराब पीना भी अपराध हो सकता है यह उनके सपना में भी नहीं आया होगा. इसलिए बग़ैर जागरूकता फैलाए सत्ता के झोंक में लिए गए नीतीश सरकार के शराबबंदी क़ानून के क़हर का सबसे ज़्यादा शिकार यही

Read more

शराबबंदी कानून में संशोधन के लिए बनाई गई कमिटी

बिहार के बहुचर्चित शराबबंदी कानून में संशोधन होगा. इसके लिए सीएम नीतीश कुमार ने हां कर दी है. सोमवार को एक अणे मार्ग में लोकसंवाद कार्यक्रम के बाद मीडिया से बात करते हुए सीएम ने कहा कि यह भी देखा जाएगा कि शराबबंदी कानून के किस प्रावधान के सबसे ज्यादा दुरुपयोग हो रहा है. मुख्य सचिव दीपक कुमार ने कमिटी बनाई है. संशोधन की जानकारी सुप्रीम कोर्ट को भी दी गई है. सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि कानून के विभिन्न प्रावधानों और इसके प्रभावों की समीक्षा कर कमिटी जल्द ही अपनी रिपोर्ट देगी. इसके बाद कमिटी की रिपोर्ट पर महाधिवक्ता और सुप्रीम कोर्ट के वकील से परामर्श लिया जाएगा. इसके बाद ही जरूरी संशोधन किए जाएंगे. बता दें कि बिहार में एक अप्रैल 2016 से देसी शराब को बैन किया गया था. इसके तुरंत बाद 5.04.2016 से राज्य में पूर्ण शराबबंदी लागू की गई थी. वहीं 2 अक्टूबर 2016 से बिहार में नया शराबबंदी कानून लागू हुआ था.

Read more

मुलाकात हुई, क्या बात हुई…

जैसे-जैसे लोकसभा चुनाव नजदीक आ रहे हैं, बिहार में भी सियासी सरगर्मी तेज हो गई है. खासकर मुलाकातों का दौर कुछ ऐसा चल पड़ा है कि राजनीतिक पार्टियां एक-दूसरे के साथ भविष्य के लिए राजनीतिक बिसात बिछाने लगी हैं. एक ऐसी ही मुलाकात बिहार में चर्चा में है. पिछले कुछ महीनों के भीतर रालोसपा अध्यक्ष और केन्द्रीय मानव संसाधन राज्यमंत्री उपेन्द्र कुशवाहा दूसरी बार सीएम नीतीश कुमार से मिलने पहुंचे. एक  अन्ने मार्ग पर हुई इस मुलाकात को आधिकारिक तौर पर शिष्टाचार मुलाकात बताया गया है. लेकिन इसे लेकर राजनीतिक चर्चा जोरों पर है. बताया जा रहा है कि मुलाकात के दौरान बिहार में शिक्षा की स्थिति को बेहतर बनाने पर दोनों नेताओं के बीच चर्चा हुई. लेकिन सूत्रों की मानें तो दोनों नेताओं के बीच राजनीतिक मुद्दे पर खास बातें हुई हैं. राजेश तिवारी

Read more