विद्युत् आपूर्ति नहीं होगी बाधित, मुख्यमंत्री ने वारिसलीगंज में ग्रिड उपकेंद्र एवं संबद्ध संचरण लाईन योजना का किया उद्घाटन

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) | मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रविवार को नवादा जिले के वारिसलीगंज (वासोचक) में 54.19 करोड़ रुपये की लागत वाली बिहार स्टेट पावर ट्रांसमिशन कंपनी लिमिटेड के 132/33 के0वी0 ग्रिड उपकेंद्र एवं संबद्ध संचरण लाईन योजना का उद्घाटन शिलापट्ट का अनावरण कर किया. नियंत्रण भवन का उद्घाटन करने के बाद मुख्यमंत्री ने स्विच गियर कक्ष और नियंत्रण एवं रिले कक्ष का मुआयना कर ऊर्जा विभाग के अधिकारियों से पूरी जानकारी ली. बिहार साउथ पावर ट्रांसमिशन कंपनी लिमिटेड के अधिकारियों ने प्रेजेंटेशन के जरिये वारिसलीगंज (वासोचक) ग्रिड उप केंद्र से होने वाले फायदे एवं पूरे बिहार में निर्मित एवं निर्माणाधीन ग्रिड सब स्टेशन की वर्तमान वस्तु स्थिति से मुख्यमंत्री को अवगत कराया. गौरतलब है कि इस ग्रिड सब स्टेशन के कार्यशील होने से सभी 7 शक्ति उपकेंद्रों (रोह, कौआकोल, पकरीबरावॉ, काशीचक, माया बिगहा, कचना एवं वारिसलीगंज) पर एक साथ विद्युत आपूर्ति बाधित नहीं होगी. ऊर्जा विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने प्रेजेंटेशन के क्रम में मुख्यमंत्री को बताया कि वारिसलीगंज ग्रिड सब स्टेशन के शुरू होने से वोल्टेज इम्प्रूव कर गया है, जिससे अब आसपास के क्षेत्रों में लो वोल्टेज की समस्या दूर होगी. उन्होंने बताया कि वर्ष 2005 में पूरे बिहार में 45 ग्रिड सब स्टेशन थे, जिनकी संख्या अब बढ़कर 142 हो गयी है और आवश्यकता के अनुरूप वर्ष 2022 तक इसकी संख्या बढ़कर 170 हो जाएगी. मुख्यमंत्री ने वारिसलीगंज (वासोचक) ग्रिड सब स्टेशन प्रांगण में बिहार शताब्दी निजी नलकूप योजना (लघु जल संसाधन), जिला निबंधन एवं परामर्श केंद्र, पशु एवं मत्स्य संसाधन विभाग, जिला उद्यान

Read more

हीरो के बाद ये कौन आ गया ?

40 घण्टे बाद भी जदयू नेता के घर गोली चलाने वाले पुलिस की गिरफ्त से दूर आरा, 16 नवम्बर. भोजपुर पुलिस की एक ओर जहाँ जिले का आतंक बना हीरो के एनकांउटर के बाद सराहना हो रही है वही पुलिस के लिए अभी भी चुनौतियां सिर उठाये खड़ी हैं. युवा होते बच्चों के बीच किसी भी काम को करने के जुनून और जल्द ही अपने नामो के फेमस होने की लालसा उन्हें अपराध के दलदल में धकेल रही है. अभी हीरो के एनकाउंटर हुए 24 घंटे भी नही बीते थे कि बुधवार की रात नवादा थाना के अनाइठ में पूर्व छात्र जदयू सचिव अभिषेक तिवारी के घर पर रात 8.30 बजे के करीब 2 गोलियाँ चला अपराधियों ने दहशत फैला दिया. इस घटना के बाद मुहल्ले में हड़कंप मच गया. चर्चा ये होने लगी कि अपराध का नाम बना हीरो तो मारा गया फिर ये कौन है जो गोलियां बरसा रहा है? कहीं कोई और तो हीरो बनने की तैयारी तो नही कर रहा? इस घटना के बाद हलांकि पुलिस जदयू नेता के घर पहुँची और तफ्तीश में जुट गई लेकिन 45 घण्टे बीत जाने के बाद भी अभी तक कुछ भी हाथ नही लगा है. घटना स्थल से पुलिस को 1 खोंखा और एक जिंदा कारतूस बरामद हुए और CCTV का फुटेज हाथ लगा. CCTV फुटेज में दो लोगों के गोली चलाने की तस्वीर कैद तो जरूर हुई है पर वे अभी भी पुलिस की कैद से दूर हैं. सूत्रों से मिली जानकारी की माने तो हाल में हुई

Read more