बुरी खबर : 9 अक्टूबर से Jio से अन्य पर किए गए कॉल पर IUC का करना होगा भुगतान

ग्राहक को मिलेगा IUC टॉप-अप वाउचर के मूल्य के बराबर का डेटा फ्रीJIO उपभोक्ताओं के लिए टैरिफ में कोई वृद्धि नहींटर्मिनेशन शुल्क खत्म करने के फैसले पर ट्राई द्वारा पुनर्विचार करने के बाद Jio शुल्क लेने को बाध्यIUC के जीरो होने तक ही टॉप-अप वाउचर के माध्यम से टर्मिनेशन शुल्क लिया जाएगापिछले तीन वर्षों में Jio ने अन्य ऑपरेटरों को IUC शुल्क के रूप में लगभग 13,500 करोड़ रुपये का किया भुगतानमुंबई (ब्यूरो रिपोर्ट) | जियो का नेटवर्क इस्तेमाल करने वालों के लिए एक बुरी खबर है. जियो अपने नेटवर्क से दूसरे नेटवर्क पर किये गए कॉल पर 6 पैसा प्रति मिनट IUC (इंटरकनेक्ट यूसेज चार्ज) लेगा. इंटरकनेक्ट यूसेज चार्ज या IUC एक मोबाइल टेलिकॉम ऑपरेटर द्वारा दूसरे को भुगतान की जाने वाली रकम है. जब एक टेलीकॉम ऑपरेटर के ग्राहक दूसरे ऑपरेटर के ग्राहकों को आउटगोइंग मोबाइल कॉल करते हैं तब IUC का भुगतान कॉल करने वाले ऑपरेटर को करना पड़ता है. दो अलग-अलग नेटवर्क के बीच ये कॉल मोबाइल ऑफ-नेट कॉल के रूप में जानी जाती हैं. भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (TRAI) द्वारा IUC शुल्क निर्धारित किए जाते हैं और वर्तमान में यह 6 पैसे प्रति मिनट हैं.कंपनी ने बयान में कहा कि जब तक किसी कंपनी को अपने उपभोक्ताओं द्वारा किसी अन्य नेटवर्क पर फोन करने के एवज में भुगतान करना होगा, तब तक उपभोक्ताओं से यह शुल्क लिया जाएगा. कंपनी ने कहा कि जियो के फोन या लैंडलाइन पर कॉल करने पर शुल्क नहीं लिया जाएगा. इसके साथ ही व्हाट्सऐप और फेसटाइम समेत इस तरह के

Read more

‘जियो स्वच्छ रेल अभियान’ | जियो के कर्मचारी व सदस्य जुड़े

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) | स्वच्छ वातावरण बनाने की दिशा में जियो ने अपनी जिम्मेदारी निभाने की दिशा में एक कदम और बढ़ाया. शनिवार 28 सितम्बर को देश भर में एक साथ करीब 900 रेलवे स्टेशनों की सफाई का अभियान ‘जियो स्वच्छ रेल अभियान‘ शुरू किया. जियो का मकसद स्वच्छ भारत के संदेश को जन जन तक पहुंचाने का है. इस राष्ट्र-व्यापी अभियान में 25,000 से अधिक लोगों ने भाग लिया, जिसमें जियो कर्मचारी, सहयोगी, साझेदार और उनके परिवार के सदस्य शामिल थे.‘जियो स्वच्छ रेल अभियान’ भारत के सबसे बड़े स्वच्छता अभियानों में से एक है. इस अभियान में जियो ने अपने कर्मचारियों के प्रयासों के साथ अधिक से अधिक रेलवे स्टेशनों को स्वच्छ बनाने का सफल प्रयास किया है, जिससे देश के लाखों आम लोगों के जीवन पर सकारात्मक रूप से प्रभाव पड़ेगा. इस अभियान को सफल बनाने में आम लोगों ने भी पूरी सक्रियता से सहयोग किया. इस अभियान के तहत पटना एवं दानापुर रेलवे स्टेशनों के प्रवेश द्वारों, वेटिंग रूम, बैठने की खुली जगहों, फुट ओवर ब्रिजों और दुकानों के आसपास के एरिया से सिंगल यूज प्लास्टिक यानि एक बार इस्तेमाल कर फेका गया प्लास्टिक कचरा एकत्र किया गया. इस तरह इन सबों ने स्वच्छ भारत अभियान में योगदान दिया. इस अभियान के तहत एकत्रित किये गए बोतलों, फूड पैकेजिंग, पुआल, चम्मच या सिंगल यूज प्लास्टिक कैरी बैग को पर्यावरण के सबसे अनुकूल तरीके से विशेष एजेंसियों की मदद से निपटाया जाएगा’.

Read more