तारीख पर तारीख… गांधी सेतु के पश्चिमी लेन पर क्या अब शुरू होगा परिचालन!

पिछले 2 साल से कई बार गांधी सेतु के पश्चिमी लेन को शुरू करने की घोषणा सरकार की तरफ से की गई है लेकिन हर बार किसी न किसी वजह से पश्चिमी लेन पर परिचालन प्रारंभ नहीं हो पाया है. अब एक बार फिर बिहार सरकार के पथ निर्माण विभाग ने यह दावा किया है कि पश्चिमी लेन के जीर्णोद्धार का काम पूरा हो चुका है. गंगा नदी पर बने इस 5.75 किलोमीटर लंबे पुल का पश्चिमी लेन बनकर तैयार है. जैसे ही केंद्र सरकार की ओर से हरी झंडी मिलेगी इस पर परिचालन शुरू हो जाएगा. सूत्रों के मुताबिक अगस्त के पहले हफ्ते में या 15 अगस्त तक गांधी सेतु के इस लेन पर परिचालन शुरू हो सकता है. इस बात की भी पूरी संभावना है कि वर्तमान में पुल के पूर्वी लेन पर जारी परिचालन को बरसात तक जारी रखा जाएगा क्योंकि पूर्वी लेन को भी तोड़ कर स्टील स्ट्रक्चर का रूप देना है. लेकिन यह काम बरसात के बाद होगा और तब तक गांधी सेतु का दोनों लेन चालू रहेगा. राजेश तिवारी

Read more

बड़ी राहत: शुरू होने वाला है गांधी सेतु का पश्चिमी लेन

उत्तर बिहार से आने जाने वाले लोगों को मिलेगी बड़ी राहत पटना को उत्तर बिहार से जोड़ने वाले देश के सबसे बड़े नदी पुलों में से एक महात्मा गांधी सेतु के पश्चिमी लेन का काम आखिरी स्टेज में है. पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव से मिली जानकारी के मुताबिक जून महीने में गांधी सेतु के पश्चिमी लेन का निर्माण कार्य पूरा हो जाएगा, जिसके बाद इसके शुरू होने की संभावना है. जानकारी के मुताबिक, पंद्रह जून से बिहार की लाइफ लाइन कहा जाने वाला गांधी सेतु पुल के नये स्टील स्ट्रक्चर पर परिचालन शुरू हो सकता है. इसके बाद भारी वाहनों के दबाव और महाजाम से छुटकारा मिलने की उम्मीद है. करीब 6 किलोमीटर लंबा यह पुल वर्ष 31 मार्च 1982 को शुरू हुआ था. उस समय इसका उद्घाटन तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने किया था. बता दें कि महात्मा गांधी सेतु के कंक्रीट स्ट्रक्चर को तोड़कर स्टील स्ट्रक्चर बनाया जा रहा है. इसके पश्चिमी लेन में वर्ष 2017 में काम शुरू हुआ था. कई बार इसे पूरा करने की अवधि बढ़ाई गई और आखिरकार अब जून महीने में निर्माण कार्य पूरा होने की घोषणा पत्र निर्माण मंत्री ने की है. जानकारी के अनुसार, पश्चिमी लेन पर आवागमन शुरू होने के बाद पूर्वी लेन में कंक्रीट स्ट्रक्चर को तोड़ने का काम शुरू होगा. पीएनसी

Read more

गांधी सेतु पर बड़े वाहनों को अब ‘नो इंट्री’

गांधी सेतु को जाम से निजात दिलाने की एक और कोशिश के तहत अब एक नया आदेश जारी किया गया है. सोमवार 21 मई से गांधी सेतु पर बड़े वाहनों के परिचालन पर रोक लगा दी गई है. पटना के सभी थानों को निर्देश दिया गया है कि ट्रक, हाइवा और अन्य व्यावसायिक वाहनों को गांधी सेतु की ओर ना जाने दिया जाय . सिर्फ यात्री बसों को ही इसमें छूट हासिल है. इसके अलावा पेट्रोल टैंकर भी फिलहाल गांधी सेतु से देर रात आ सकते हैं. तो किस ओर जाएँगे बड़े वाहन! ट्रैफिक पुलिस के मुताबिक पूरब से आने वाले वाहनों को राजेन्द्र सेतु(मोकामा) जबकि पश्चिम से आने वाले वाहनों को वीर कुंवर सिंह सेतु आरा की ओर मोड़ दिया जाएगा. इस संबंध में पटना के डीएम ने भी आदेश जारी कर दिया है.

Read more

तैयारी पूरी, जल्द शुरू होगा पीपा पुल

पटना- हाजीपुर के बीच पीपा पुल तैयार गांधी सेतु के महाजाम से मिलेगी निजात सात महीने तक चालू रहेगा पीपा पुल   उत्तर बिहार और दक्षिण बिहार को जोड़ने वाले महात्मा गाँधी सेतु पुल पर महाजाम से जल्द ही लंबे समय के लिए निजात मिलने वाली है. एक बार फिर गांधी सेतु के समानांतर पीपा पुल तैयार हो गया है. शनिवार को पटना और हाजीपुर के अधिकारियों ने पीपा पुल की समीक्षा की और पुल पर ट्रैफिक, लाइटिंग, बैरिकेटिंग और होर्डिंग की व्यवस्था दुरुस्त करने के निर्देश अधिकारियों और पुल निर्माण से जुड़ी कंपनी को दिए. पटना के अपर जिला दंडाधिकारी विधि व्यवस्था आशुतोष वर्मा ने इस मामले में पुल निर्माण निगम और ट्रैफिक अधिकारियों के साथ विचार विमर्श किया. लेकिन इस बार कुछ चुनिंदा गाड़ियों को ही पीपा पुल पर परिचालन की इजाज़त मिलेगी. साथ ही समय को लेकर भी प्रशासनिक अधिकारी ने कहा कि दोनों ओर से आने-जाने वाले लोगों को समय का ध्यान रखना होगा. क्या कहा अपर जिला दंडाधिकारी ने आइये सुनते हैं-   पटना से अरुण

Read more