सावधान, कहीं आप भी न हो जाये इस गन के शिकार….

जी हाँ, ये सही है। राजधानी पटना में गाड़ियों के तेज गति पर रोक लगाने के लिए आज यानी शनिवार 14 दिसंबर से स्पीडगन लगाने की योजना है। प्रमुख रूप से करबिगहिया फ्लाईओवर, बेली रोड फ्लाईओवर, राजेंद्रनगर, दानापुर में ऐसी जगहों को पॉइंट आउट कर ये मशीन लगाई जाएगी ताकि इन जगहों से तेज गति से गुजरने वाले वाहनों पर अंकुश लगाया जा सके। सबसे पहले शनिवार से बेली रोड पर स्पीडगन लगेगा।
स्पीडगन के साथ ही ट्रैफिक जवानों को वॉकी-टॉकी से लैस किया जाएगा। जैसे ही कोई वाहन ओवर स्पीड से गुजरेगा, ट्रैफिक जवान वॉकी-टॉकी से आगे सूचना दे देंगे ताकि उस वाहन को रोका जा सके तथा उसपर कार्रवाई की जा सके।

शहर की विभिन्न सड़कों पर इससे संबंधित साइनेज भी लगाए जाएंगे ताकि लोग इसके बारे में जान सके और ओवर स्पीड में वाहन न चलाएं। शुक्रवार को परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने जाम से निजात पाने को लेकर प्रमंडलीय आयुक्त कार्यालय में बैठक की जिसमें राज्य परिवहन आयुक्त सीमा त्रिपाठी, डीएम कुमार रवि, एसएसपी गरिमा मलिक, ट्रैफिक एसपी अमरकेश डी शामिल थे।
परिवहन सचिव ने ट्रैफिक एसपी को निर्देश दिया कि जाम लगने वाली जगहों को चिह्नित कर इससे निजात के उपाय करें। नो इंट्री के दौरान शहर में बड़े वाहनों के प्रवेश पर रोक लगे। बाइपास में सिपारा, बेउर, अनीसाबाद, फुलवारीशरीफ में ट्रकों की लंबी कतार की वजह से शाम में आम लोगों की परेशानी होती है।
जेपी सेतु पर स्मूथ ट्रैफिक के लिए भी मीटिंग में चर्चा हुई। परिवहन सचिव ने ट्रैफिक एसपी को निर्देश दिया कि जेपी सेतु स्थित ट्रैफिक पोस्ट पर कार्यरत कर्मियों से जाम से संबंधित रिपोर्ट ली जाए। अगर कोई वाहन खराब हो जाता है तो उसे हटाने के लिए पुल के समीप ही क्रेन की व्यवस्था रहनी चाहिए ताकि खराब वाहन को तत्काल हटाया जा सके।
(पटना नाउ ब्युरो रिपोर्ट)