सतुआन पर आपने क्या किया?

सतुआन पर गंगा में लगी डुबकी
सत्तू और मिट्टी के बर्तन को दिया दान


पटना सिटी, 14 अप्रैल. सदियों से चली आ रही परम्परा सतुआन को श्रदालुओं ने गंगा नदी में स्नान कर सत्तू और मिट्टी का बर्तन ब्राह्मणों को दान के मनाया. आज राजधानी के सभी गंगा घाटों पर सुबह से श्रद्धालुओं का तांता गंगा में डुबकी लगाने के लिए लगा हुआ है जहां उन्होंने भगवान सूर्य को अर्घ्य देकर भगवान विष्णु की पूजा की. ब्राह्मण के द्वारा गंगा घाटों पर पौराणिक कथा सुनकर श्रद्धालु सत्तू और मिट्टी के बर्तनों को डावां दिया. ऐसी परम्परा है कि वैशाख महीने में नये वर्ष की शुरुआत होती है और गेंहू की कटाई समेत कई फसलों की अच्छी पैदावार होती है जिससे नये वर्ष के मौके पर पूजा पाठ कर व्राह्मण को दान कर पुण्य का भागी बनते है.




पटना से अरुण कुमार की रिपोर्ट