रोड बना खेत तो किसानों ने रोप दिया धान

गड़हनी मे बरसात के दिनों में सरकारी ऑफिसर से मिलना मुश्किल.

लगातार बारिश से गड़हनी ब्लॉक रोड तलाब में हुआ, तब्दील,ग्रामीणों ने किया धान रोपनी.




ग्रामीणों का मानना नाला के निर्माण होता तो सड़क पर नही लगता पानी.

गड़हनी. भोजपुर के गड़हनी प्रखंड अंतर्गत गड़हनी-पड़रिया पथ पर लगातार बारिश होने से कल रविवार को अहले सुबह सड़क पर ही किसानों ने खेती करने के मिजाज से तालाब में तब्दील सड़क पर ग्रामीणो ने धान रोपनी कर डाला.रोड कि स्थिति इतनी भयावह हो चुकी है कि अगर थोड़ा सा ध्यान इधर उधर भटका तो सीधे नाली या तालाब में जा गिरेंगे, जिससे आम लोग त्रस्त हैं.

आज के समय मे सरकारी ऑफिसर से मिलना,चने चबाने के बराबर साबित हो रहा.सबसे बड़ी बात की इसी रोड में गड़हनी प्रखण्ड के तमाम सरकारी कार्यालय भी अवस्थित हैं अब लोगो को मुसीबत नजर आने लगा हैं.बतादें की इसी मार्ग से प्रखण्ड के आला अधिकारियों व थानाध्यक्ष आते-जाते है लेकिन किसी के कान में जू तक नही रेंगता.

पैदल चलना तो दूर गाड़ी से भी पार करने में रास्ता कही नजर नहीं आ रहा है,करीब एक से दो फीट पानी बह रहा है.ब्लॉक व थाना में काम से आने जाने वाले रोज दो चार लोग गाड़ी लेकर गिरते है।विडंबना तो यह है कि यह रास्ता आज से नहीं कई वर्षों से बरसात के दिनों में तलाब व किच्चर से लबरेज़ हो जाता है.बतादे की गड़हनी अगिआंव थाना, कस्तूरबा विद्यालय, सरकारी अस्पताल, प्रखंड सह अंचल कार्यालय,बी०आर०सी भवन, कृषि भवन, मनरेगा कार्यालय, एसएफसी गोदाम,कौशल युवा साक्षरता कार्यलय,पैक्स के 500 एमटी गोदाम,पशुपालन विभाग कार्यालय गड़हनी खास के काली मंदिर समेत प्रखंड के तमाम कार्यालय इसी रोड में अवस्थिति है फिर भी किसी पदाधिारियों द्वारा इस सड़क का मरम्मत नहीं कराया कराया गया.आने जाने वाले लोगो का कहना हैं कि प्रखंड मुख्यालय या किसी भी सरकारी दफ्तर पहुंचना कठिनाई एवं मुसीबत से लबरेज हैं.इस क्षेत्र कि जनता कितनी बार पूर्व बीडीओ व वर्तमान बीडीओ व इस क्षेत्र के जनप्रिनिधियों से कह चुका है लेकिन किसी ने आज तक इस तलाबनुमा सड़क की सुधि नही लिया.अब देखना यह हैं कि किस दीन इस सड़क का कायाकल्प होता हैं.

वही इस सड़क से पड़रिया,पथार, काउप,मथुरापुर, कल्याणपुर,बजेन, चांदी समेत दर्जनों गांवों में आसानी से पहुंचा जा सकता हैं. धान रोपनी करने वालो में गड़हनी निवासी संजय सिंघानिया,पंकज यादव,संजय चंद्रवंसी, महावीर, मुन्ना कुशवाहा,सतेन्द्र शर्मा,दशरथ यादव,शिवजी, शाहिद खान, आदिल, अफरोज,मो०आशिक,मो०बिच्छी, विशाल, अनिल बैठा सहित दर्जनों ग्रामीण मौजूद थे.

गड़हनी से मुरली मनोहर जोशी की रिपोर्ट