नवनियुक्त शिक्षकों के लिए सबसे अच्छी खबर

छठे चरण के तहत बहाल बिहार के 42000 नवनियुक्त शिक्षकों के लिए अच्छी खबर है. सरकार ने उनके लिए वेतन भुगतान का आदेश जारी कर दिया है. इस वर्ष फरवरी महीने से ही काम कर रहे शिक्षकों को अब तक एक महीने का भी वेतन नहीं मिला था जिसकी वजह से वे आर्थिक परेशानी से जूझ रहे थे. उनकी परेशानी को देखते हुए शिक्षा विभाग ने तत्काल उन्हें वेतन भुगतान का आदेश जारी करते हुए मार्च 2023 तक के वेतन का इंतजाम करने की बात कही है.

शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने विभाग के अपर मुख्य सचिव दीपक कुमार और रवि प्रकाश, निदेशक , प्राथमिक शिक्षा तथा अन्य अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक के बाद छठे चरण में नियुक्त 42000 नियोजित शिक्षकों को सशर्त वेतन भुगतान करने का निदेश दिया है.




अपर मुख्य सचिव दीपक कुमार सिंह ने कहा कि नव नियुक्त प्रारंभिक शिक्षकों के वेतन भुगतान का आदेश जारी कर दिया गया है. तत्काल मार्च 2023 तक के लिए आदेश है. सभी से अनुरोध है कि अपना सहयोग प्रदान कर प्रमाणपत्रों का सत्यापन शीघ्र से शीघ्र करा लें ताकि आगे भी वेतन भुगतान की कोई समस्या नहीं उत्पन्न हो उन्होंने स्पष्ट किया है कि नव नियुक्त शिक्षकों को उनके योगदान से लेकर माहवार वेतन मार्च 2023 तक के लिए , सत्यापन की प्रतीक्षा किए बगैर, करते रहने का आदेश जारी कर दिया गया है. सत्यापन की स्थिति की समीक्षा के अनुसार इसके बाद के लिए अलग से आदेश जारी किया जाएगा. इस बीच तीस सितंबर तक सर्टिफिकेट वेरिफिकेशन का काम पूरा कर लिया जाएगा.

नवनियुक्त शिक्षकों ने शिक्षा विभाग को कहा शुक्रिया

एनआइओएस डीएलएड संघ के अध्यक्ष पप्पू कुमार ने शिक्षा विभाग को धन्यवाद देते हुए कहा कि सरकार ने हमारी परेशानी समझी उसके लिए हम शिक्षा मंत्री और अधिकारियों को दिल से धन्यवाद देते हैं. उन्होंने कहा कि हम लोग अपेक्षा करते हैं विभाग के आदेश पर सभी जिला तुरंत काम करेंगे और बहुत जल्द हम नवनियुक्त शिक्षकों को वेतन मिलेगा. पप्पू कुमार ने कहा कि शिक्षा विभाग के इस निर्णय से नवनियुक्त शिक्षकों का हौसला और मजबूत होगा और स्कूल में पठन-पाठन का कार्य लगन और बेहतर तरीके से करेंगे.

pncb