देश के अन्नदाताओं को उनका वाजिब हक दिलाना है -नरेंद्र सिंह

यह बिल किसानों को गुलाम बनाने वाला है

देश में कारपोरेट घराने को किसानों के हाथों बेचने की कोशिश




पूर्व मंत्री नरेंद्र सिंह आज कल किसानों की मांग को लेकर जिलों में भ्रमण कर रहे हैं ।किसानों की दयनीय स्थिति पर केंद्र में मोदी सरकार और बिहार की नीतीश कुमार की सरकार पर मानवता के नाते भी अनदेखी करने का आरोप लगाया।आरा के सर्किट हाउस में पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि मेरा मुख्य कार्य है देश के अन्नदाताओं को उनका वाजिब हक दिलाना।

आरा के सर्किट हाउस में पत्रकारों से बात करते नरेंद्र सिंह

बिहार में शाहाबाद से संयुक्त किसान संघर्ष समन्वय समिति कृषि बिल के खिलाफ लोगों को एकजुट करने की कवायद शुरु करते हुए नरेंद्र सिंह ने कहा कि रोहतास जिले से 13 जुलाई को नोखा में चौपाल से आंदोलन का शुभारंभ हो चुका है किसानों का लागत का डेढ़ गुना पैसा मिले, खरीदारी सुनिश्चित हो प्राथमिकता यही होगी। यह बिल किसानों को गुलाम कर देगा है। अनाज भंडारण के लिए भी प्रावधान नहीं है । देश में कारपोरेट घराने को किसानों के हाथों बेचने की कोशिश की जा रही है। स्वामीनाथन कमिटी की सिफारिश को देश में लागू नहीं किया जा रहा है। इस यात्रा के दौरान संयुक्त किसान संघर्ष समन्वय समिति के संयोजक सह पत्रकार दिनेश सिंह, डॉ राजेंद्र प्रसाद, समाजसेवी डॉ जितेंद्र शुक्ला एवं अजीत सिंह समेत कई उपस्थित थे ।