एक बार पुनः इस स्कूल ने कला के आकाश पर लहराया अपना परचम

पटना (पटना नाउ ब्यूरो रिपोर्ट) | कौन कहता है कि आसमाँ में सुराख नही होता,
एक पत्थर तो तबियत से उछालो यारों।

यह फलसफा शनिवार को लिट्रा वैली स्कूल, पटना ने अक्षरशः सत्य सिद्ध कर दिया. अभी स्कूल में हुए तीन दिवसीय महोत्सव लिट्फेस्ट की थकान पूर्णतः उतरी भी नही थी कि लिट्रा वैली स्कूल को शनिवार, 30 नवम्बर 2019 को डी0 पी0 एस0 वल्र्ड स्कूल, पटना में आयोजित आटकाॅन फेस्ट तथा रेडियंट स्कूल, पटना में आयोजित कला एवं साहित्यिक प्रतियागिताओं में भाग लेने का अवसर प्राप्त हुआ. इस कला महोत्सव में राजधानी कई प्रतिष्ठित विद्यालयों ने भाग लिया. लिट्रा वैली स्कूल के प्रतिभाशाली छात्रों ने डी0 पी0 एस0 वल्र्ड स्कूल के आर्टकॉन तथा रेडियंट स्कूल के विभिन्न प्रतियोगिताओं में अपना कौशल दिखाया. सभी प्रतियोगिता चाहें वह रेडियंट स्कूल में आयोजित कोलेबोरेटिव राईटिंग हो या डी0 पी0 एस0 वल्र्ड स्कूल में आयोजित वाल-पेंटिंग हो या फिर रंगोली प्रतियोगिता हर जगह लिट्रा वैली स्कूल के छात्रों ने अपना परचम लहराया.

जहाँ एक ओर आर्टकॉन फेस्ट के ओवरऑल चैम्पियन घोषित किए गए, वही दूसरी ओर रेडियंट स्कूल में आयोजित सिनियर तथा जूनियर दोनों स्तर की प्रतियोगिताओं के एकमत से विजेता घोषित किए गए. लिट्रा वैली स्कूल के छात्रों ने यह सिद्ध कर दिया कि वह सिर्फ अपने विद्यालय के ही सिकंदर नही वरन् विद्यालय के बाहर भी बादशाह बनने का दमखम रखते है. जैसा की ज्ञातव्य है कि एक दिन पहले समाप्त हुए विद्यालय के तीन दिवसीय महोत्सव लिट्फेस्ट-4 में भी लिट्रा वैली स्कूल प्रथम स्थान पर आसीन था. बाद में अच्छे मेजबान की भूमिका निभाते हुए बड़ी नम्रता से उसने विजेता ट्राॅफी द्वितीय स्थान पर रहे संत कैरेंस स्कूल, पटना को सौंप दिया था. इसीलिए कहते है कि फल से लदा वृक्ष सदैव झुका रहता है और खाली पेड़ ठूठ की तरह अकड़ा खरा रहता है. लिट्रा वैली स्कूल अपने छात्रों को प्रतिभा कौशल के साथ-साथ विनम्रता की भी शिक्षा प्रदान करता है. जो आज के दौर में अत्यंत आवश्यक है. आज डी0 पी0 एस0 वल्र्ड स्कूल, पटना में आयोजित आर्टकॉन फेस्ट की जीत से लिट्रा वैली स्कूल ने एक बार फिर यह सिद्ध कर दिया कि अगर हममे प्रतिभा है तो हमें चमकने से कोई रोक नही सकता.