जहरीली शराब से 40 लोगों की मौत

राज्य में जहरीली शराब से मरने वालों का सिलसिला जारी

मृतकों में एक बीएसएफ का और एक सेना का जवान भी शामिल




तीन दिनों में गई 40 की गई जान,एक की अस्पताल में मौत

मिथाइल अल्कोहल मिलाकर बनाई गई थी शराब

गोपालगंज में 20,बेतिया में 16 और समस्तीपुर में 4 की मौत   

16 धंधेबाज गिरफ्तार, एसएचओ निलंबित

बिहार के बेतिया और गोपालगंज जहरीली शराब पीने से अब तक तीन दिनों में 40 लोगों की मौत हो गई है।समस्तीपुर में चार लोगों की मौत जहरीली शराब पीने से हुई है ऐसी आशंका व्यक्त की जा रही है । गोपालगंज के अस्पताल में भर्ती युवक की मौत हो गई है। जहरीली शराब पीने वाले आधे दर्जन लोग अभी भी अस्पतालों में जीवन और मौत से जूझ रहे हैं जहाँ उनकी स्थिति नाजुक बताई जा रही है। गोपालगंज में 20 और बेतिया में 16 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। समस्तीपुर जिले में भी बीएसएफ और सेना के जवान समेत 4 लोगों की मौत हो गई है। समस्तीपुर में हुई चार मौतों को लेकर एसपी मानवजीत सिंह ढिल्लो ने कहा कि प्रथम द्रष्टया मामला जहरीली शराब का लग रहा है।

 वहीँ आधा दर्जन लोग गंभीर रूप से बीमार हो गए। बीमार लोगों को इलाज के लिए अलग-अलग अस्पतालों में जाया गया है। मृतकों में एक बीएसएफ का और एक सेना का जवान भी शामिल है। दोनों छुट्टी में घर आये हुए थे। अनुसार शुक्रवार शाम तीन से चार बजे के बीच लोगों की तबीयत बिगड़ने का सिलसिला शुरू हुआ।

एक-एक कर करीब दस लोगों की तबीयत बिगड़ने से गांव में हड़कंप मच गया। शुक्रवार शाम रुपौली में लोगों के बीमार पड़ने और मरने का सिलसिला शुरू हुआ। गांव में व्याप्त चर्चा के अनुसार शुक्रवार शाम तीन से चार बजे के बीच लोगों की तबीयत बिगड़ने का सिलसिला शुरू हुआ। एक-एक कर करीब दस लोगों की तबीयत बिगड़ने के बाद गांव में हड़कंप मच गया।

ग्रामीणों के सहयोग से परिजन बीमार लोगों को इलाज के लिए ले गए। सबसे पहले बीएसएफ के जवान विनय सिंह (54) की शाम करीब आठ बजे मौत हुई। सेना के जवान मोहन कुमार (27) को परिजन इलाज के लिए दानापुर कैंट ले गए थे। उसकी वहीं इलाज के दौरान मौत हो गई। मरने वालों में किसान श्यामनंदन चौधरी और वीरचंद्र राय हैं। वहीं अभिलाख राय, बेंगा राय, सुमन कुमार, दीपक कुमार और कुंदन कुमार का अस्पताल में इलाज चल रहा है। स्थानीय लोगों का कहना है कि लोगों ने पार्टी की थी।

जहरीली शराब मामले की जांच करने के लिए पटना से एक जांच टीम गोपालगंज पहुंची। इसके बाद महम्मदपुर थाने की पुलिस व स्थानीय चौकीदारों से अलग-अलग पूछताछ की। बताया जा रहा है कि शराब तस्करी से जुड़े लोगों के बारे में जानकारी जुटाने व पुलिस कर्मियों की मिली भगत के बारे में भी साक्ष्य जुटाया जा रहा है। 

मुजफ्फरपुर क्षेत्रीय विधि विज्ञान प्रयोगशाला (आरएफएसएल) की टीम ने बेतिया और गोपालगंज पहुंचकर जांच की। जहां से लोगों ने शराब पी थी, वहां से सैंपल जमा कर पुलिस को सौंपे हैं। पुलिस कोर्ट की अनुमति से सैंपल को मुजफ्फरपुर स्थित आरएफएसएल जांच के लिए भेजेगी। प्रारंभिक छानबीन में बताया गया है कि मिथाइल अल्कोहल युक्त शराब पीने से लोगों की जान गई है। बीते गुरुवार को बेतिया के नौतन में जहरीली शराब से 18 लोगों ने दम तोड़ दिया था। वहीं, एक दर्जन से अधिक लोग मोतिहारी और गोपालगंज के विभिन्न निजी अस्पतालों में इलाज करा रहे हैं। एक सप्ताह पूर्व मुजफ्फरपुर के सरैया और सकरा थाना क्षेत्र में भी नौ लोगों की जहरीली शराब से मौत हो गई थी।

PNCDESK #biharkikhabar