32 लोगों की कथित जहरीली शराब पीने से मौत

भागलपुर में 17, बांका में 12 तो मधेपुरा में 3 लोगों की गई जान

कथित जहरीली शराब पीने से मौत




मृतक के परिजन बता रहे हैं शराब पीने से हुई मौत

कई शवों का आनन फानन में किया गया अंतिम संस्कार

सोमवार को राज्य सरकार की तरफ से दावा किया गया है कि इन लोगों की मौत जहरीली शराब पीने से नहीं बल्कि बीमारी से हुई है. राज्य सरकार की तरफ से किए गए इस दावे का आधार प्रशासन की रिपोर्ट है. भागलपुर के DM, SSP और बांका के DM-SP ने एक जॉइंट रिपोर्ट 20 मार्च को उत्पाद एवं मद्य निषेद्य विभाग के अपर मुख्य सचिव केके पाठक को भेजी है.

बिहार में कथित जहरीली शराब पीकर मरने वालों का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है. सरकार की कड़ाई के बावजूद होली का उल्लास मातम में बदल गया है. यहां अलग-अलग जिलों से शराबबंदी के बावजूद कथित रूप से शराब पीने की वजह से 32 लोगों की मौत हो गई है. हालांकि लोगों की मौत शराब पीने से हुई इसकी अधिकारिक पुष्टि अभी तक नहीं हो पाई हैं. प्रशासन ने मौत के मामलों की जांच जरूर शुरू कर दी है. इधर मरने वालों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है. भागलपुर में 17 लोगों ने जान गंवाई है. बांका में 12 लोगों ने दम तोड़ा है तो वहीं मधेपुरा में भी तीन लोगों की मौत हो गई हैं. जबकि कई लोगों की हालत गंभीर बताई जा रही है और उन्हें अस्पचाल में भर्ती कराया गया है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार भागलपुर के साहेबगंज मोहल्ले में 4, नारायणपुर में 4, गोराडीह में 3, कजरैली में 3, मारूफचक, शाहकुंड और नवगछिया के साहू परबत्ता के बोड़वा गांव में 1-1 मौत हुई है. जबकि बांका जिले के अमरपुर थाना क्षेत्र के 6 गांवों में 12 लोगों की मौत हो गई. जिले के पंजवारा थाना क्षेत्र में भी एक युवक की मौत का मामला सामने आया है.

मृतक के परिजनों के मुताबिक सभी की मौत जहरीली शराब की वजह से हुई है. भागलपुर के मृतक बिनोद राय के बेटे चंदन राय का कहना है कि शराब पीने से उसके पिता की मौत हुई है. इधर भागलपुर में एक मृतक मिथुनदा के साथ शराब पीने वाले अभिषेक का कहना है कि शराब पीने के बाद से उसे दिखाई नहीं दे रहा है. इसके साथ ही भागलपुर जिले के चोटू को भी देखने में समस्या हो रही है. तो वहीं साहेबगंज के मृतक रिटायर आर्मी के जवान संदीप कुमार यादव के परिजनों ने कहा कि सांस लेने में परेशानी के कारण मौत हो गई. ज्यादातर मृतकों के मौत से पहले सभी को पेट दर्द, उल्टी, सांस लेने में परेशानी, सिर चकराने की शिकायत थी

इधर संदिग्ध परिस्थियों में हुई मौत के बाद पुलिस भी सक्रिय हो गई है. पुलिस मुख्यालय इस पूरे मामले की मॉनीटरिंग कर रहा है. इस पूरे मामले में एडीजी (मुख्यालय) जितेंद्र सिंह गंगवार ने बताया कि दोनों क्षेत्रों से मौत से जुड़ी जितनी भी खबरें आ रही हैं, उन सभी की बारीकी से जांच करने का आदेश संबंधित एसपी को दे दिया गया है. अब तक की जांच में बहुत मिली-जुली बातें सामने आ रही हैं. मामले की एसपी के स्तर से जांच कराई जा रही है.

जहरीली शराब कांड में कलेक्टर के निर्देश पर सदर एसडीओ उपेंद्र पाल, एसडीपीओ संजीव कुमार सिंह के साथ महम्मदपुर, बैकुंठपुर व सिधवलिया थाने की पुलिस और उत्पाद विभाग की टीम ने तुरहा टोला से चार शराब धंधेबाज छोटे लाल साह, अशोक शर्मा, रामप्रवेश साह और जितेंद्र प्रसाद को गिरफ्तार किया है। पुलिस पूछताछ में खुलासा हुआ कि ये सभी तस्कर लंबे समय से इस कारोबार से जुड़े हुए थे.

आपको बता दें कि पिछले साल नवंबर महीने में दिवाली के वक्त भी 70 से ज्यादा लोगों की मौत जहरीली शराब पीने से हो गई थी जिसके बाद सरकार ने कई सख्त कदम उठाए थे. लेकिन दिवाली के बाद एक बार फिर होली में भी अवैध शराब से कई जिलों में बड़ी संख्या में लोगों की जान चली गई.

PNCDESK