दरभंगा में मॉरीशस के कलाकार करेंगे रामायण का मंचन

दरभंगा सेंट्रल स्कूल में मॉरीशस के कलाकारों द्वारा संगीतमय रामायण का मंचन :- सीताराम की पुण्यभूमि मिथिला की धरती पर पहली बार मिथिला वासी मॉरीशस के सांस्कृतिक धरोहर से रूबरू होंगे. खासकर बच्चे अभिभावक और नगरवासी इसके प्रति काफी उत्साहित हैं. वही विद्यालय के प्राचार्य ए॰ के॰ कश्यप ने कार्यक्रम की रूपरेखा बताते हुए प्रसन्नता व्यक्त की है. उन्होंने बताया कि मिथिला धाम में मॉरीशस के कलाकारों का अंतर्राष्ट्रीय प्रथम मंचन होगा. कार्यक्रम दरभंगा सेंट्रल स्कूल वासुदेवपुर एन एच 57 पर अवस्थित 12 नवंबर दिन मंगलवार को 10:00 बजे से 11:30 बजे तक विद्यालय प्रांगण में आयोजित होगा.इस कार्यक्रम के संयोजक सह विद्यालय के प्रबंध न्यासी डॉक्टर कुमार अरुणोदय भी इस अवसर पर बतौर विशिष्ट अतिथि मौजूद रहेंगे. भारत मॉरीशस संस्कृतिक यात्रा के तहत ह्यूमन सर्विस ट्रस्ट मॉरीशस के तत्वधान में संगीतमय रामायण का मंचन किया जाएगा.

Read more

तरंग महोत्सव में क्या हुआ गड़बड़ कि विजेता ही बन गए विरोधी !

तरंग महोत्सव में गड़बड़ी को लेकर छात्र अड़े, महिला कॉलेज के स्टेज पर अनशन में बैठे छात्र विजेताओं के नाम घोषित लेकिन फिर भी नही मिला प्रमाण, छात्र आयोजन स्थल पर ही रातभर जमे रहे आरा,7 नवम्बर. क्या आपने कभी पुरस्कार मिलने के बाद आयोजन के विरोध मे किसी को अनशन करते देखा है? अगर नही तो अचंभित होने की जरूरत नही. आरा के वीर कुंवर सिंह विवि द्वारा आयोजित आयोजित “तरंग 2019 अंतर महाविद्यालय सांस्कृतिक प्रतियोगिता” में यह मामला सामने आया है. महिला कॉलेज में आयोजित इस प्रतियोगिता में लगभग 27 विधाओं में भाग लेने वाले प्रतिभागियों में से मात्र विवि के 6 कॉलेजों ने भाग लिया. बताते चलें कि VKSU के अंतर्गत कुल 17 सरकारी कॉलेज और 54 अर्द्ध सरकारी कॉलेज हैं. विवि द्वारा आनन-फानन में तो तरंग महोत्सव के लिए दिनाक घोषित कर दिया लेकिन तैयारियां पूरी नही हुई. न तो ढंग का तोरण द्वार बना और न ही मंचीय साज-सज्जा. इतना ही नही छात्रों की माने तो किसी ने प्रतिभागियों के रिफ्रेशमेंट तक की व्यवस्था भी नही की. इसके बावजूद भी प्रतिभागियों ने अपना परफॉर्मेंस दिया. हद्द तो तब हो गई जब प्रतियोगिता समाप्ति के बाद इनामो की घोषणा की गई तो सिर्फ प्रथम आने वाले विजेताओं के नाम ही घोषित किये गए. विजेता द्वितीय और तृतीय नामो की घोषणा सुनने के लिए बैठे रहे लेकिन न तो उन नामो की घोषणा हुई और न ही विजेताओं को मेडल या सर्टिफिकेट ही दिया गया. काफी देर तक इंतजार करने के बाद छात्र भड़क उठे और उन्होंने

Read more

बिहार सरकार के Gr III के लिए NIELIT/डोयेक सर्टिफाइड CCAC कंप्यूटर एप्लीकेशन व कांसेप्ट कोर्स के लिए आखिरी तारीख घोषित, जल्द कराएँ रजिस्ट्रेशन

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट)। बिहार सरकार सेवक नियमावली 2011 के तहत सरकार के Gr III कर्मियों, सचिवालय सहायक व पर्यवेक्षकीय संवर्ग के लिए नाईलीट / डोयेक सर्टिफाइड #CCAC कंप्यूटर एप्लीकेशन व कांसेप्ट कोर्स अनिवार्य होने के बावजूद भी अभी भी अधिकतर लोग इस प्रशिक्षण से वंचित हैं.इस प्रशिक्षण के लिए अधिकृत GIIT (ग्लोबल इंस्टिट्यूट ऑफ इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी) के सीओओ ब्रज बिहारी प्रसाद ने बताया कि इस कोर्स का प्रशिक्षण उक्त सभी कर्मियों को करना आवश्यक है. उन्होंने बताया कि इस कोर्स को कराने के लिए GIIT ने विशेष व्यवस्था की है. इस व्यवस्था के अंतर्गत इस कोर्स के लिए संस्थान ने मोबाइल नम्बर 9304043330, 8804803330 जारी किया है. इन नम्बरों पर इस कोर्स के बारे में विस्तृत जानकारी दी जायेगी.बिहारी ने बताया कि संस्थान ने विभिन्न विभागों में पदस्थापित लोगों के लिए उनके पटना में कार्यालय से भी फॉर्म लेने की व्यवस्था कर रही है.आपको बताते चलें कि फिलहाल फॉर्म भरने की आखिरी तिथि 23 अक्टूबर है. इसकी ऑनलाइन परीक्षा नवम्बर में होने की उम्मीद है.

Read more

प्रशिक्षित शिक्षकों को अभी और करना होगा इंतजार। 23 अक्टूबर को होगी अगली सुनवाई

पटना (राजेश तिवारी) | तारीख पे तारीख तारीख पे तारीख तारीख पे तारीख……… जी हां यह एक फिल्मी डायलॉग है लेकिन NIOS से Dl.Ed किये हुए छात्रों के लिए यह तारीख काफी कष्टदायक नजर आ रही है और एक बार फिर मायूसी हाथ लगे हैं. पटना हाईकोर्ट में सोमवार को सुनवाई हुई लेकिन बिहार सरकार की लापरवाही के कारण एक बार फिर इन प्रशिक्षित शिक्षकों को थोड़ा और इंतजार करना पड़ेगा. आज पटना हाई कोट में सुनवाई के दौरान जैसे ही सुनवाई शुरू हुई शिक्षा विभाग के सरकारी वकील ने अपना पक्ष रखते हुए अदालत से दरखास्त किया कि अभी मेरी तैयारी पूरी नहीं हुई है इसलिए थोड़ा और समय दिया जाए इस पर माननीय कोर्ट ने शिक्षा विभाग के वकील को बात बात मानते हुए 1 सप्ताह का समय दिया है. अब अगली सुनवाई 23 अक्टूबर को होगी जिसमे शिक्षा विभाग अपना पक्ष रखेगी. हालाकि NIOS से Dl.Ed किए हुए प्रशिक्षित शिक्षकों को आज उम्मीद थी कि माननीय कोर्ट के द्वारा कम से कम फॉर्म भरने का समय मिलेगा. लेकिन बिहार सरकार की घोर लापरवाही की चलते एक बार फिर उन्हें अगली समय का इंतजार करना होगा.आपको बता दें कि बिहार के करीब ढ़ाई लाख प्रशिक्षित शिक्षक इस नियोजन प्रक्रिया से बाहर है. दरअसल मामला नियोजन प्रक्रिया शुरु होने के समय बिहार सरकार ने एनसीटीई से मार्गदर्शन मांगा था कि इन एनआईओएस से डीएलएड की हुए शिक्षकों को क्या किया जाए. जिस पर NCTE ने कोई सकारात्मक जवाब नहीं दिया, जिसके बाद बिहार सरकार ने इन सबको नियोजन प्रक्रिया

Read more

अनूप मास्टर कोर्स 2019 | आयोजन 12 अक्टूबर को

पटना ( ब्यूरो रिपोर्ट) | शनिवार को राजधानी के यो चाइना में अनूप इंस्टीट्यूट ऑफ रिहाबिलैटेशन द्वारा प्रेस मीट का आयोजन किया गया. इस प्रेस मीटिंग में पद्मश्री डॉ० आर.एन. सिंह और डॉ० आशीष संयुक्त रूप से मीडिया से रूबरू थे. दोनों ने बताया कि 12 और 13 अक्टूबर को “अनूप मास्टर कोर्स 2019” का आयोजन होना है, जिसमें देश विदेश के 300 अर्थो से जुड़े डॉक्टर हिस्सा लेंगे. इस आयोजन में अमेरिका से लेकर पुणे, मुंबई, झारखंड, दिल्ली, कोलकत्ता सहित देश भर के प्रसिद्ध आर्थो चिकित्सकों का जुटान होटल मौर्या में होगा. यह कार्यक्रम दो दिनों का होगा, जिसमें सेमिनार एवं वर्कशॉप का आयोजन होगा. इसमें आर्थों से जुड़े सभी तरह रोगों पर विशेष चर्चा की जायेगी. इस कार्यक्रम में वक्ता के रूप में डॉ० कमलदीप (यू. के), डॉ० कैलम एमसीब्राइट (यूके), डॉ० रोहित महेश्वरी (यूके), पद्मश्री डॉ०आर.एन. सिंह, डॉ०आशीष सिंह सहित कई डॉक्टर प्रमुख रूप से रहेंगे. 12 अक्टूबर को कार्यक्रम का उद्घाटन मुख्य अतिथि के रूप में मंगल पांडेय, स्वास्थ्य मंत्री, बिहार सरकार द्वारा न्यू पटना क्लब में शाम को 7 बजे आयोजित कार्यक्रम में किया जाएगा.

Read more

अलर्ट: कई जिलों में सरकारी स्कूल 30 तक बंद

बिहार के दरभंगा, मोतिहारी, बेतिया और मुजफ्फरपुर समेत कई जिलों में अगले दो दिन तक भारी बारिश की चेतावनी मौसम विभाग ने जारी की है. इसे देखते हुए इन जिलों में सभी सरकारी स्कूलों में शिक्षण कार्य अगले आदेश तक स्थगित कर दिया गया है. हालांकि स्कूलों में शिक्षकों को उपस्थित रहना है.

Read more

प्राइमरी टीचर के लिए इस फॉर्म का करें इस्तेमाल

बिहार प्राथमिक शिक्षक नियोजन वर्ष 2019- 20 के लिए संशोधित आवेदन पत्र एक बार फिर जारी किया गया है जो पटना नाउ पर उपलब्ध है. जी हां, पटना नाउ बिहार के तमाम प्राथमिक शिक्षक नियोजन प्रक्रिया में शामिल अभ्यर्थियों को बताना चाहता है कि इसी आवेदन फॉर्म का उपयोग आप करें. प्राथमिक शिक्षा निदेशक डॉ रणजीत कुमार सिंह ने जो संशोधित आवेदन पत्र जारी किया है, उसकी प्रति यहां आपको दिखाई जा रही है. इसमें स्पष्ट शब्दों में हर कॉलम सूचीबद्ध किया गया है. जिसमें खासकर टीईटी और सीटीईटी के उत्तीर्ण प्राप्तांक को जगह दिया गया है. साथ ही साथ यह भी स्पष्ट किया गया है कि कौन-कौन से प्रमाणपत्रों को फॉर्म के साथ संलग्न करना है. इसलिए पटना नाउ बिहार शिक्षक नियोजन प्रक्रिया में शामिल सभी अभ्यर्थियों को यह संशोधित आवेदन पत्रों की एक प्रतिलिपि उपलब्ध करा रही है. इसके साथ-साथ एक और जानकारी पटना नाउ के पाठकों के लिए है. बिहार प्राथमिक शिक्षक नियोजन में आवेदन की तिथि में विस्तार होने की संभावना है. विश्वस्त सूत्रों के मुताबिक कई जिलों में बाढ़ और रोस्टर अब तक तैयार नहींं होने के कारण आवेदन की तिथि के साथ-साथ पूरी नियोजन प्रक्रिया में भी विस्तार की पूरी संभावना है. राजेश तिवारी की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट

Read more

आज हमें बहाली प्रक्रिया से क्यों अलग रखा जा रहा है – NIOS अभ्यर्थी

पटना (राजेश तिवारी की रिपोर्ट) | बिहार सरकार और एनसीटीई के गलत नीतियों के चलते आज बिहार के करीब ढाई लाख प्रशिक्षित शिक्षक सड़क पर उतरने को मजबूर है. दरअसल बिहार प्राथमिक शिक्षक नियोजन प्रक्रिया में एनआईओएस डीएलएड किए हुए प्रशिक्षु शिक्षकों को नियोजन प्रक्रिया से अलग रखा गया है. बिहार सरकार के शिक्षा विभाग का कहना है कि नियोजन प्रक्रिया में जिन्हे 2 वर्षीय डीएलएड किए हुए छात्रों को है, को जगह दिया जाएगा. लेकिन बिहार सरकार ने एनआईओएस से डीएलएड किए हुए छात्रों को यह कर बाहर का रास्ता दिखा दिया गया कि यह कोर्स 18 महीना का है. वही बिहार सरकार के शिक्षा विभाग ने एनसीटीई से मार्गदर्शन मांगा जिसमें एनसीटीई ने भी स्पष्ट जवाब नहीं दिया कि बहाली प्रक्रिया में शामिल होंगे या नहीं होगा. हालाकि एनसीटीई ने अपने मार्गदर्शन में कहा कि नहीं नियोजन प्रक्रिया में 2 वर्षीय डीएड कोर्स होना चाहिए. उसके बाद बिहार सरकार के शिक्षा विभाग ने एक गाइडलाइन जारी किया जिसमें 2019- 20 बिहार प्राथमिक शिक्षक नियोजन प्रक्रिया में यह प्रशिक्षित शिक्षक नियोजन प्रक्रिया से बाहर कर दिया गया है. बुधवार सुबह सभी गैर सरकारी प्रशिक्षित शिक्षक राजधानी पटना के गर्दनीबाग में समान डिग्री समान अधिकार को लेकर धरना प्रदर्शन किया. इन प्रशिक्षित शिक्षकों का कहना है कि जब हम लोग पूरी पारदर्शिता के हम लोगों ने परीक्षा दी SBAऔर डब्लू बी ए पूर्ण निष्ठा के साथ पूरा किया, जब 4 सेमेस्टर में परीक्षा हुई. तभी बिहार सरकार को भी मालूम है कि परीक्षा कितनी शांतिपूर्ण और कदाचार मुक्त हुआ जिसमें

Read more

डीएलएड का अंकपत्र पाकर खुश नहीं प्रशिक्षु

पटना (राजेश तिवारी) | एनआईओएस से डीएलएड उत्तीर्ण सभी नव प्रशिक्षित शिक्षकों को सारण के यमुना चारी टेन प्लस टू उच्च विद्यालय दरियापुर केंद्र के सभी प्रशिक्षकों को अंक प्रमाण पत्र का वितरण किया गया. केंद्र समन्वयक पूनम कुमारी ने सभी नव प्रशिक्षित शिक्षकों को अंक पत्र वितरण किया. सभी नव प्रशिक्षित शिक्षक अंक पत्र मिलने से खुशी का इजहार कर रहे थे लेकिन अफसोस भी जता रहे थे कि बिहार सरकार और एनसीटीई की गलत नीतियों के चलते हैं 2019 -20 के बिहार शिक्षक नियोजन प्रक्रिया से वंचित हो गए हैं. यमुनाचार्य उच्च विद्यालय, दरियापुर के केंद्र समन्वयक पूनम कुमारी ने अंक प्रमाण पत्र का वितरण कर सभी नव प्रशिक्षित शिक्षकों को उनके उज्जवल भविष्य की शुभकामना दी. उन्होंने कहा कि सभी प्रशिक्षित शिक्षक प्रशिक्षण के दौरान बताए गए शैक्षणिक कार्यों को बड़ी सहजता से पूरा किया. वही प्रशिक्षण के दौरान नव प्रशिक्षित शिक्षकों को प्रशिक्षण में सहयोग करने के लिए सीआरसी दरियापुर कोऑर्डिनेटर विजय कुमार, प्रमोद कुमार, सविता यादव व अन्य शिक्षकों का आभार व्यक्त किया. अंक पत्र पाने वाले में नवप्रशिक्षित शिक्षक सुमंत कुमार, सूरज कुमार कुशवाहा,विकास मिश्रा, गौरी कुमारी सहित कई प्रशिक्षित शिक्षक शामिल थे.

Read more

ये तरीका भी पर्यावरण व समाज के लिए होगा मददगार

विद्यार्थियों के हवाले आसपास की सफाई, नही शामिल होने वालों के कटेंगे मार्क्स आरा. हर प्रसाद दास जैन कॉलेज के पीजी भूगोल विभाग के छात्र-छात्राओं ने कैंपस में साफ-सफाई एवं वृक्षारोपण का अभियान चलाया. जैन कॉलेज के पीजी भूगोल की ओर से स्वच्छता पखवाड़ा एवं वृक्षारोपण पर संगोष्ठी का आयोजन भी हुआ. जैन कॉलेज के प्रो डॉ ललित सागर ने कहा कि सभी युवाओं सहित लोगों में स्वच्छता की सोच जगे, इसके लिए जनजागरण कार्यक्रम हो. उन्होंने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन के तहत स्वच्छता अभियान हर जगह, हर संस्था मे चलानी चाहिए. जिससे लोग स्वच्छ एवं स्वस्थ रहें. यदि युवा स्वच्छता के प्रति जागरूक हो जाएं, तो समाज में स्वच्छता का वातावरण बने. उन्होंने कहा कि छात्र-छात्राओ को स्वच्छता के लिए हर माह 100 घंटे दें. स्वच्छता के साथ-साथ पर्यावरण बचाने हेतु वृक्षारोपण भी किया गया. जैन कॉलेज के छात्र-छात्रा अगर प्रयास करेंगे, तो हमारा कॉलेज स्वच्छ एवं सुंदर बन जाएगा  पीजी भूगोल विभाग के सहायक प्रो०नरेन्द्र  ने कहा कि स्वच्छता से सीधे हमारा स्वास्थ्य जुड़ा हुआ है. इस अभियान में भूगोल विभाग के 75 छात्र-छात्राएं शामिल हुए. इसका नेतृत्व डॉ प्रो० ललित सागर  ने कहा कि पीजी के नये सेलेबस च्वाइंस बेस्ड स्टूडेंट क्रेडिट सिस्टम (सीबीसीएस) के नियमों के अनुसार पीजी सेमेस्टर वन के पांचवे पेपर में अतिरिक्त पाठ्यक्रम कार्य करना है. इसमें आस-पास के वातावरण को साफ करने का दायित्व विद्यार्थियों को दिया गया है. यह कार्य भी एक परीक्षा की तरह है. यह परीक्षा 15 अंक होता है. इसमें शामिल नही होने पर विद्यार्थियों के फाइनल

Read more