मानव श्रृंखला को लेकर सरकार और शिक्षक आमने-सामने

19 जनवरी को बिहार में बनने वाली मानव श्रृंखला को लेकर सरकार की मुसीबत बढ़ सकती है. शिक्षकों ने मानव श्रृंखला के खिलाफ पटना हाई कोर्ट में पीआईएल दायर किया है. मानव श्रृंखला के अवसर पर रविवार (19-01-2020) को सूबे के सभी विद्यालयों को खोलकर शिक्षक और छात्रों को उपस्थित रहने का आदेश देने वाले अपर मुख्य सचिव आर के महाजन के पत्रांक 42 दिनांक 06-01-2020 के खिलाफ शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष आनंद कौशल सिंह ने हाई कोर्ट में अपने जनहित याचिका दायर कर दिया है. आनंद कौशल सिंह ने साफ कर दिया है कि बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के द्वारा सरकार को सौंपे गए मांग-पत्र में अंकित समान वेतनमान सहित सभी मांगों को 15-01-2020 तक नहीं पूरा किया गया तो मानव श्रृंखला का बहिष्कार हर हाल में करेंगे और फरवरी 2020 से सम्पूर्ण हड़ताल प्रारंभ करने के लिए भी लाखों शिक्षक तैयार हैं. आनंद कौशल ने कहा है कि मानव श्रृंखला के खिलाफ जनहित याचिका दायर हुई है और मानव श्रृंखला के बहिष्कार का ऐलान किया गया है तो कुछ लोगों से सूचना मिल रही है कि सरकार वार्ता करना चाहती है तो नीतीश सरकार सबसे पहले बिना शर्त नवप्रशिक्षित शिक्षक के वेतनमान निर्धारण वाले त्रुटिपूर्ण पत्र में संशोधन करे और 05 सितंबर के हड़ताल अवधि का सामंजन करे. तभी समझा जा सकता है कि सरकार समान वेतनमान, राज्य कर्मी का दर्जा आदि जैसे मांगो पर वार्ता करने के लिए सच में तैयार है. उन्होंने कहा कि 8-01-2020 को जनहित याचिका दायर होते ही टोकन नम्बर

Read more

सूर्यग्रहण के अध्ययन के लिए तमिलनाडु गया बिहार का बेटा

मूत्र से मोबाइल चार्ज और मिस्ड कॉल से खेत पटवन करने वाले मनोहर को सूर्यग्रहण के अध्ययन के लिए मिला न्योता पटना. ग्रहण का नाम सुनते ही मनुष्य डर के मारे तरह-तरह के उपायों और कहावतों पर अपना कार्यक्रम निर्धारित करने लगता हैं. ऐसा लगता है कि चन्द्र और सूर्य पर ग्रहण नही बल्कि मनुष्यो के जीवन मे ही ग्रहण लग गया हो. लेकिन यह चन्द्र और सूर्यग्रहण कभी-कभी जीवन मे सपनों का सवेरा लिए भी आता है. आइए हम बताते हैं कि यह शुभ अवसर किसके लिए और कहाँ से आया है. तो अब से आप ग्रहण का सुनकर डरियेगा मत. बल्कि खौगोलिये दशा को जानने के लिए आप और भी प्रयत्न कीजिये. जी हाँ अंतरिक्ष में होने वाले इन ग्रहीय घटनाओं को नजदीक से जानने के लिए विज्ञान और प्रद्योगिकी केंद्र देश के कोने-कोने से लोगो को आमंत्रित करता है. लेकिन यह मौका मिलता है कुछ खास चुनिंदा लोगो को जो देश मे विज्ञान के क्षेत्र में कुछ खास करते हैं. इस बार बिहार से भी एक युवा मनोहर कुमार को ऐसा मौका मिला जिसने वहाँ जाकर सूर्यग्रहण के बारे में विज्ञान और प्रौद्योगिकी संस्थान के जरिए खास अध्ययन किया. भारत सरकार के विपनेट,विज्ञान प्रसार,विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग,नई दिल्ली के तरफ से तमिलनाडु के कोयंबटूर में आयोजित सूर्य ग्रहण कार्यक्रम में, DST,भारत सरकार के आमंत्रण पर, IRO, बिहार के अध्यक्ष, मनोहर कुमार ने भाग लिया. सूर्य ग्रहण 2019 के अध्ययन के लिए पूरे भारत से विज्ञान के क्षेत्र में कार्यरत लगभग 50 संस्था को वहाँ आमंत्रित किया गया

Read more

अचानक बढ़ी ठंड से पटना के स्कूलों के टाइमिंग 18 दिसम्बर से बदले | DM का ऑर्डर

पटना (ब्युरो रिपोर्ट) | अचानक से बढ़ती हुई ठंड एवं न्यूनतम तापमान को देखते हुए पटना के DM कुमार रवि ने आदेश निर्गत किया है कि दिनांक 18.12.2019 से नर्सरी से लेकर 12वीं वर्ग तक की सभी कक्षाएँ अगले आदेश तक 09.00 बजे पूर्वाह्न से अपराह्न 03.00 बजे तक ही चलेगी। 09.00 बजे पूर्वाह्न से पहले एवम 03.00 बजे अपराहन्न के बाद कोई भी कक्षा संचालित नहीं होगी। यह आदेश तत्काल प्रभाव से सभी सरकारी एवं निजी विद्यालयों पर लागू होगा।

Read more

अन्याय के खिलाफ आवाज उठाने की कोशिश एनडीए के हरेक पूर्ववर्ती छात्र का कर्तव्य – सिस्टर बीना । नोट्रेडम डायमंड जुबली एलुमनी मीट 2019 सम्पन्न

पटना (अजित की रिपोर्ट) । नोट्रेडेम एकेडमी पटना के पूर्ववर्ती छात्राओं, शिक्षक एवं शिक्षिकाओं का डायमंड जुबली मिलन समारोह ‘नोट्रेडेम एलुमनी मीट 2019’ का आयोजन रविवार 15 दिसंबर, 2019 को स्कूल के प्रांगण में किया गया। यह आयोजन नोट्रेडेम एकेडमी एलुमनी एसोसिएशन के तत्वाधान में हुआ जो दोपहर 12 बजे से दोपहर 3 बजे तक चला। इस समारोह में करीब 120 पूर्ववर्ती छात्राओं, शिक्षक एवं शिक्षिकाओं ने भाग लिया। कार्यक्रम का उद्घाटन सिस्टर मैरी बीना, एनडीए की प्रांतीय सुपीरियर ऑफ सिस्टर्स मैरी टेसी, प्रिन्सपल सिस्टर मैरी जेसी ने औपचारिक रूप से दीप प्रज्जवलित कर किया। इसके बाद, पूर्व छात्रों, शिक्षकों और सिस्टर्स ने एनडीए स्कूल गीत गाया और हवा में गुब्बारे उड़ाये।इस अवसर पर सिस्टर मैरी बीना ने कहा कि एनडीए के पूर्व छात्रों के कंधों पर बहुत बड़ी जिम्मेदारी है। आज के अराजक समय में उन्हें इस दुनिया में बदलाव लाने की ज़रूरत है…. ठीक उसी तरह जैसे स्कूल का Motto है – “मुझे अंधकार से प्रकाश की ओर ले चलो”। उन्होंने कहा कि अन्याय के खिलाफ आवाज उठाने और दुनिया को एक बेहतर जगह बनाने की कोशिश करना एनडीए के हरेक पूर्ववर्ती छात्र का कर्तव्य है। उन्होंने आगे कहा कि यह कार्यक्रम अपने पसंदीदा शिक्षकों और सहपाठियों को फिर से एक साथ जुड़कर अपनी सुख दुःख और यादों को साझा करने का मंच प्रदान करता है।“यह एनडीए पटना के लिए डायमंड जुबली वर्ष है और यही कारण है कि एलुमनी के इस साल की यह बैठक सभी के लिए विशेष है। एनडीए के लिए पिछले 60 साल काफी

Read more

“प्लांट फॉर प्लेनेट” पर जोर है सांसद का । बिहार में भी लगाएंगे पौधे

पटना (पटना नाउ ब्यूरो रिपोर्ट) | “बिहार के साथ में मेरा पुराना और विशेष लगाव है. यहाँ के करीब 10 हजार छात्रों का समूह मेरे इंस्टिट्यूट में है. – ऐसा कहना है बीजद सांसद डॉ अच्युत सामंत का, जो कलिंग इंस्टीट्यूट ऑफ इंडस्ट्रियल टेक्नोलॉजी ( केआईआईटी) तथा कलिंग इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेस ( केआईएसएस) के संस्थापक भी हैं. वे शुक्रवार को पटना के एक होटल में मीडिया वालों के साथ मीटिंग के दौरान कही. डॉ. अच्युत सामंत ने कहा कि वे हर साल बिहार आकर मीडिया के माध्यम से बिहारवासियों को आभार व्यक्त करता रहता हूँ कि उन्होंने KIIT पर भरोसा किया तथा यहाँ से पास करके दुनिया के हरेक कोने में नौकरी कर अपने परिवार का पालन पोषण कर रहे है. उनके अनुसार आज भी उनके इंस्टिट्यूट में लगभग 6 हजार बिहारी बच्चे पढ़ रहे हैं. उन्होंने आगे कहा कि यदि बिहार सरकार जमीन दे, तो वे यहां 1000 गरीब बच्चों के लिए स्कूल भी खोलेंगे. “प्लांट फॉर प्लेनेट” के तहत पौधे लगाएंगेपटना नाउ से बात करते हुए डॉ सामंत ने बताया कि उनका एक प्लेटफॉर्म है, ‘आर्ट ऑफ गीविंग’ जो प्रत्येक वर्ष अलग-अलग थीम पर सामाजिक कार्य करता है. इस साल का थीम है, गो ग्रीन – “प्लांट फॉर प्लेनेट”. इसके अंतर्गत 120 देशों में करोड़ों की संख्या में पेड़ लगाया जाना है. “प्लांट फॉर प्लेनेट” के अंतर्गत पूरे भारतवर्ष में 12 करोड़ से लेकर 18 करोड़ पेड़ लगाने का लक्ष्य रखा गया है जिसमें बिहार में 2 करोड़ पेड़ लगाए जाएंगे. इस कार्य में इंस्टिट्यूट के अलुमिनी

Read more

एक बार पुनः इस स्कूल ने कला के आकाश पर लहराया अपना परचम

पटना (पटना नाउ ब्यूरो रिपोर्ट) | कौन कहता है कि आसमाँ में सुराख नही होता, एक पत्थर तो तबियत से उछालो यारों।यह फलसफा शनिवार को लिट्रा वैली स्कूल, पटना ने अक्षरशः सत्य सिद्ध कर दिया. अभी स्कूल में हुए तीन दिवसीय महोत्सव लिट्फेस्ट की थकान पूर्णतः उतरी भी नही थी कि लिट्रा वैली स्कूल को शनिवार, 30 नवम्बर 2019 को डी0 पी0 एस0 वल्र्ड स्कूल, पटना में आयोजित आटकाॅन फेस्ट तथा रेडियंट स्कूल, पटना में आयोजित कला एवं साहित्यिक प्रतियागिताओं में भाग लेने का अवसर प्राप्त हुआ. इस कला महोत्सव में राजधानी कई प्रतिष्ठित विद्यालयों ने भाग लिया. लिट्रा वैली स्कूल के प्रतिभाशाली छात्रों ने डी0 पी0 एस0 वल्र्ड स्कूल के आर्टकॉन तथा रेडियंट स्कूल के विभिन्न प्रतियोगिताओं में अपना कौशल दिखाया. सभी प्रतियोगिता चाहें वह रेडियंट स्कूल में आयोजित कोलेबोरेटिव राईटिंग हो या डी0 पी0 एस0 वल्र्ड स्कूल में आयोजित वाल-पेंटिंग हो या फिर रंगोली प्रतियोगिता हर जगह लिट्रा वैली स्कूल के छात्रों ने अपना परचम लहराया. जहाँ एक ओर आर्टकॉन फेस्ट के ओवरऑल चैम्पियन घोषित किए गए, वही दूसरी ओर रेडियंट स्कूल में आयोजित सिनियर तथा जूनियर दोनों स्तर की प्रतियोगिताओं के एकमत से विजेता घोषित किए गए. लिट्रा वैली स्कूल के छात्रों ने यह सिद्ध कर दिया कि वह सिर्फ अपने विद्यालय के ही सिकंदर नही वरन् विद्यालय के बाहर भी बादशाह बनने का दमखम रखते है. जैसा की ज्ञातव्य है कि एक दिन पहले समाप्त हुए विद्यालय के तीन दिवसीय महोत्सव लिट्फेस्ट-4 में भी लिट्रा वैली स्कूल प्रथम स्थान पर आसीन था. बाद में अच्छे मेजबान

Read more

शिक्षकों जीतेंगे नकद 1 लाख रुपये | 25 नवंबर, 2019 तक Registration

मुंबई (पटना नाउ ब्यूरो) | सेंटर फॉर टीचर एक्रेडिटेशन (सेंटा) टीचिंग प्रोफेशनल्स ऑलिम्पियाड 2019 (टीपीओ) शिक्षकों के लिए भारत की सबसे बड़ी वार्षिक राष्ट्रीय प्रतियोगिता है. सेन्टा टिपीओ 2019 भारत के 75 से अधिक शहरों में 14 दिसंबर, 2019 (www.centa.org/tpo2019 पर पंजीकरण) को आयोजित किया जाएगा. पंजीकरण 25 नवंबर, 2019 को बंद हो जाएंगे.AMITY इंटरनेशनल स्कूल, लखनऊ से सारिका चुनी, सेन्टा टिपीओ 2018 में राष्ट्रीय स्तर पर दूसरी रैंक के साथ-साथ प्राइमरी स्कूल – इंग्लिश मीडियम की सब्जेक्ट टॉपर थीं. उन्होंने रिलायंस फाउंडेशन शिक्षक पुरस्कार, 1 लाख रु. का नकद पुरस्कार, ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय – यूके में ऑक्सफोर्ड मास्टरक्लास, टिपीओ प्रमाणपत्र और एक सेन्टा माइक्रो-क्रेडेंशियल करने के लिए 75% छात्रवृत्ति जीता. सारिका कहती हैं, “मुझे एहसास हुआ कि यह उस विषय को जानने के बारे में नहीं है जो मायने रखता है, बल्कि यह भी है कि आप विषय को कैसे पढ़ाते हैं. सेन्टा टिपीओ ने मुझे अपने कौशल को बढ़ाने के लिए ऑक्सफोर्ड के मास्टरक्लास में भाग लेने के लिए जीवन में एक बार मिलने वाला मौका दिया है.”सेन्टा टिपीओ के विजेताओं को 1 लाख रुपये तक के 1000 नकद पुरस्कार सहित 1000 रिलायंस फाउंडेशन शिक्षक पुरस्कारों, अपने सहकर्मी के बीच मान्यता, एक पुस्तक का सह-लेखन करने का मौका, एक टीपीओ प्रमाणपत्र और ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी यूके में मास्टरक्लास में भाग लेने का अवसर मिलता है. इसके अलावा, सभी प्रतिभागियों को परीक्षा के बाद एक राष्ट्रीय स्तर पर निर्धारित गोपनीय निजी प्रदर्शन रिपोर्ट प्राप्त होती है, जिसमें रिकॉर्ड ऑफ पार्टिसिपेशन भी शामिल है. 12 राज्य सरकारों द्वारा समर्थित, सेन्टा टिपीओ में

Read more

SP ने किया बाल-मेले का उद्घाटन, बेहतर मनुष्य बनने की दी सलाह

हम डीएवी.वाले सबसे धनवान इसलिए हैं कि सात हजार बच्चों के अभिभावक हैं : संजय सिन्हा , धनुपरा प्रत्येक क्षेत्र में श्रेष्ठ प्रदर्शन करें , नेतृत्वकर्ता बनें : साँत्वना बनर्जी आरा. स्थानीय बी.एस.डीएवी.में पूरे हर्षोल्लास के साथ ‘बाल दिवस’ मनाया गया. इस अवसर पर विद्यालय परिसर में आयोजित ‘बाल-मेले’ का उद्घाटन सुशील कुमार,आरक्षी अधीक्षक,भोजपुर ने किया.  उन्होंने स्कूल द्वारा आयोजित इस मेले की प्रशंसा की.उन्होंने है कि ऐसे उन्मुक्त वातावरण में बच्चों को बहुत कुछ सिखने को मिलता है. निश्चित रूप से नेहरू के जीवन और कार्यों से प्रभावित होकर हमारे बच्चे बेहतर नेतृत्वकर्ता और श्रेष्ठ मनुष्य बन सकेंगें. इस अवसर पर विद्यालय के मैनेजर और डीएवी, धनुपरा के प्राचार्य संजय सिन्हा ने कहा कि हम सब डीएवी. वाले भोजपुर के सबसे धनवान लोग इसलिए हैं कि हम सात हजार बच्चों के अभिभावक हैं. हम इन बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए संकल्पित हैं. बाल-मेले में उपस्थित मेयर,भोजपुर, रूबी तिवारी ने बच्चों को शुभकामनाएँ दीं. उन्होंने कहा कि भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित नेहरू को बच्चे अत्यंत प्रिय थे. हमारे बच्चे उनकी तरह यशस्वी और सुयोग्य बनें. अतिथियों का स्वागत विद्यालय प्रभारी प्राचार्या साँत्वना बनर्जी और मैनेजर संजय सिन्हा ने किया.  उन्होंने कहा कि बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए डीएवी. कृतसंकल्प है. हमारी कोशिश है कि हमारे बच्चे जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में श्रेष्ठ प्रदर्शन करे सकें. आज के इस आयोजन में उपस्थित सभी अभिभावकों की महत्वपूर्ण भूमिका है. बाल-मेले का मुख्य आकर्षण कतार से लगी दुकानें और बच्चों द्वारा प्रस्तुत विज्ञान प्रदर्शनी व सांस्कृतिक कार्यक्रम रहे. उद्घाटन के

Read more

जल संरक्षण के लिए चिंतित बालमन और बाल-दिवस

बाल दिवस पर किया गया जल संरक्षण प्रदर्शनी का आयोजन आरा. बाल दिवस के मौके पर अक्सर बच्चे से जुड़े हुए मनोरंजन के कार्यक्रम किए जाते हैं लेकिन इस बार कुछ खास हुआ आरा के सम्भावना विद्यालय में जहां बच्चों ने आने वाले भविष्य में जल की कमी की चिंता जाहिर की और उसे संरक्षित करने संबंधित एक प्रदर्शनी लगाई. संभावना आवासीय उच्च विद्यालय के प्रांगण में बाल दिवस के अवसर पर जल संरक्षण विषय पर विज्ञान प्रदर्शनी का आयोजन किया गया. सबसे पहले पंडित जवाहरलाल नेहरू के तैल्य चित्र पर विद्यालय के प्राचार्या डॉ अर्चना सिंह और आगत अतिथियों द्वारा माल्यार्पण किया गया. कार्यक्रम के उद्घाटनकर्ता गंगा जगाओ अभियान के संयोजक कवि एवं फिल्मकार निलय उपाध्याय और मुख्य अतिथि कवि एवं सामाजिक कार्यकर्ता पवन श्रीवास्तव,प्रसिद्ध चर्म रोग विशेषज्ञ डॉक्टर विजय कुमार सिंह तथा विद्यालय के प्राचार्या  डॉ अर्चना सिंह ने दीप प्रज्वलित कर संयुक्त रूप से समारोह का उद्घाटन किया. इसके बाद महान गणितज्ञ डॉक्टर वशिष्ठ नारायण सिंह के निधन से मर्माहत  विद्यालय परिवार ने उनकी दिवंगत आत्मा की शांति के लिए 2 मिनट का मौन धारण कर श्रद्धांजलि अर्पित किया उसके बाद कार्यक्रम की शुरुआत हुई.      उद्घाटन के उपरांत विद्यालय के छात्र-छात्राओं द्वारा मनमोहक एवं समसामयिक स्वागत गीत प्रस्तुत किया गया जिसमें पर्यावरण संरक्षण एवं जल संरक्षण के माध्यम को दर्शाया गया. विद्यालय के प्राचार्या डॉ सिंह ने सभी अतिथियों को पुष्पगुच्छ देकर सम्मानित किया. इस अवसर पर अतिथियों का स्वागत करते हुए विद्यालय के प्राचार्या डॉ अर्चना सिंह ने सर्वप्रथम महान गणितज्ञ डॉक्टर वशिष्ठ नारायण सिंह

Read more

दरभंगा में मॉरीशस के कलाकार करेंगे रामायण का मंचन

दरभंगा सेंट्रल स्कूल में मॉरीशस के कलाकारों द्वारा संगीतमय रामायण का मंचन :- सीताराम की पुण्यभूमि मिथिला की धरती पर पहली बार मिथिला वासी मॉरीशस के सांस्कृतिक धरोहर से रूबरू होंगे. खासकर बच्चे अभिभावक और नगरवासी इसके प्रति काफी उत्साहित हैं. वही विद्यालय के प्राचार्य ए॰ के॰ कश्यप ने कार्यक्रम की रूपरेखा बताते हुए प्रसन्नता व्यक्त की है. उन्होंने बताया कि मिथिला धाम में मॉरीशस के कलाकारों का अंतर्राष्ट्रीय प्रथम मंचन होगा. कार्यक्रम दरभंगा सेंट्रल स्कूल वासुदेवपुर एन एच 57 पर अवस्थित 12 नवंबर दिन मंगलवार को 10:00 बजे से 11:30 बजे तक विद्यालय प्रांगण में आयोजित होगा.इस कार्यक्रम के संयोजक सह विद्यालय के प्रबंध न्यासी डॉक्टर कुमार अरुणोदय भी इस अवसर पर बतौर विशिष्ट अतिथि मौजूद रहेंगे. भारत मॉरीशस संस्कृतिक यात्रा के तहत ह्यूमन सर्विस ट्रस्ट मॉरीशस के तत्वधान में संगीतमय रामायण का मंचन किया जाएगा.

Read more