कैंसर का इलाज अब संभव

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) | कैंसर का डर लोगों के जेहन तक में बैठा हुआ है. कैंसर तेजी से फैलने वाली बीमारियों में शुमार है. अलग अलग कैंसर के कारण भी अलग होते हैं. गंगा के इलाकों में रहने वालों को कैंसर का खतरा अधिक होता है. शोध से पता चला है कि गंगा नदी के इलाकों में आर्सेनिक की अधिकता के कारण कैंसर होने का खतरा ज्यादा बढ़ जाता है. वहीं तंबाकू, गुटका, पान मशाला के सेवन से मुंह के कैंसर का खतरा और ज्यादा बढ़ गया है. मुंह का कैंसर सबसे तेजी से फैलने वाली बीमारी मानी जाती है और तीसरे चरण के मरीज की उम्र महीने में होती है. आईजीआईएमएस के ऑंकोलोजी ( दवा) विभाग के हेड डॉ अविनाश पांडे का कहना है कि कैंसर लाईलाज नहीं है, बस सावधानी की जरुरत है. उनका कहना है कि कैंसर का शुरुआत में पता चलने पर मरीज के ठीक होने की संभावना शत प्रतिशत होती है. डॉ पांडे ने बताया कि शरीर में सेल्स ग्रुप का अनियंत्रित वृद्धि हीं कैंसर है.ये सेल्स टिश्यू को प्रभावित कर शरीर के अन्य हिस्सों में फैलने लगते हैं और कैंसर बढ़ता चला जाता है. डॉ अविनाश के अनुसार गुटका पान मशाला से मुंह के कैंसर ने महामारी का रूप धारण कर लिया है. इसकी शुरुआत मुंह में लाल या सफेद धब्बा पाया जाता है. कुछ लोगों में ठीक नहीं होने वाला मुंह का छाला भी हो सकता है. डॉ अविनाश का कहना है कि मुंह के कैंसर को फैलने में देर नहीं लगती. शुरुआती

Read more

देशी मुर्गी विलायती बोल के चक्कर में पिछड़ रही है मगही

नई दिल्ली / पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) | रविवार 6 जनवरी को विश्व पुस्तक मेला, प्रगति मैदान में कविता कोश द्वारा आयोजित “उत्तर भारतीय भाषा, बोली और साहित्य : एक परिचर्चा ” में मगही भाषा पर संवाद हेतु आमंत्रित नालंदा के युवा कवि संजीव कुमार मुकेश से जब यह सवाल किया गया कि मगही आज भोजपुरी और मैथिली से क्यों पिछड़ रही है. इस पर मुकेश ने कहा कि देशी मुर्गी विलायती बोल के चक्कर में मगही पिछड़ रही है. आज हम अपने स्टेटस को मेन्टेन करने के लिये घर में भी हिंदी तो छोड़िये अंग्रेजी को बोल चाल की भाषा बना रहे हैं. बच्चों से संवाद की भाषा भी अंग्रेजी बनती जा रही है. जबकि लोकभाषा में संवाद एक अपनापन पैदा करता है. किसी व्यक्ति तक कोई बात लोक भाषा में आसानी से दिल के करीब तक पहुंचाई जा सकती है, क्योंकि लोक भाषाएं दो व्यक्तियों को वैसे ही जोड़ती है जैसे माँ की कोख. यही कारण है कि बड़े बड़े मंचो से भी शुरुआत इस क्षेत्र की लोकभाषा के अभिवादन शब्दों के साथ खूब किया जा रहा है. मुकेश ने मगही के शुरुआती दौर से आज मगही में हो रहे समृद्ध साहित्यिक विकास की चर्चा की. इस अवसर अंगिका से प्रसून लतांत, अवधी से अमरेन्द्र नाथ त्रिपाठी, बज्जिका से हरि नारायण हरि, मैथिली से कैलाश मिश्र, ब्रज से श्रुति पुरी व भोजपुरी से विनय भूषण जी ने भाग लिया. कार्यक्रम का संचालन रश्मि भारद्वाज ने किया. इस अवसर पर सभी आमंत्रित कवियों साहित्यकारों को प्रतीक चिन्ह से कविता कोश के निदेशक ललित कुमार, संयुक्त

Read more

किसके सम्मान से प्रफुल्लित है भोजपुर ?

बधाईयों और सम्मान का लगा ताँता आरा, 5 जनवरी. कहते हैं कि शोहरत और बुलन्दी जब आपके पैरों में गिर जाए तो फिर दुनिया आपकी हो जाती है. कुछ ऐसी ही भोजपुर के एक ऐसे शख्स ने अपनी शख़्सियत बनाई जिसके बाद लंदन को भी लोहा मनना पड़ा और उन्हें एक विशिष्ट सम्मान से सम्मानित कर दिया. इसके बाद तो जैसे भोजपुर का डंका पूरी दुनिया मे बज गया. हम बात कर रहे हैं शिक्षाविद डॉ कुमार द्विजेन्द्र की, जिन्हें पिछले दिनों दिल्ली के हैबिटेट सेंटर में बॉल्स ब्रिज यूनिवर्सिटी, लंदन द्वारा आयोजित डॉक्टरेट सम्मेलन में शिक्षा, संस्कृति और समाज सेवा के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए डॉक्टरेट की उपाधि से सम्मानित किया गया. डॉ कुमार द्विजेन्द्र को किसी पहचान की जरूरत नही वे “संभावना आवसीय उच्च विद्यालय, आरा” के निदेशक है. इस सम्मान के बाद बधाई देने और उन्हें सम्मानित करने वालों का तांता लगा हुआ है. कई लोग व्यक्तिगत तो कई संस्थाए उन्हें अपने कार्यक्रमो के बुला सम्मानित कर रही हैं. बताते चलें कि आरा वापस आने के बाद स्कूल में एक कार्यक्रम रखा गया था जिसमे स्कूली बच्चों ने उन्हें सम्मानित किया. इस कार्यक्रम में जिले के कई प्रतिष्ठित व्यक्तियों ने शिरकत किया और उन्होंने भी कुमार द्विजेन्द्र के इस उपलब्धि पर उन्हें सम्मानित और बधाई देकर गर्वान्वित महसूस किया. जो लोग उस समारोह के दौरान नही उपस्थित थे वे अब स्कूल पहुंच बधाई दे रहे हैं. पिछले दिनों इसी क्रम में जदयू नेता भाई जितेंद्र पाण्डेय और छात्र राजद के बिहार प्रदेश उपाध्यक्ष आलोक

Read more

अंग्रेजी ओलंपिया का गोल्ड मेडल जीता बक्सर के स्वराज ओझा ने

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) | स्वराज ओझा, जो बक्सर के छोटा सिंघनपुरा के रहने वाले हैं तथा संजीव कुमार और रितु ओझा के बेटे है, ने अंग्रेजी ओलंपियाड में गोल्ड मेल्डल जीता है. पहले भी जब वे पांचवीं क्लास में पढ़ रहे थे तब सायंस ओलंपियाड में ब्रांज मेडल जीता था. इसके अलावा इनकी स्टोरी को स्टोरी मिरर स्टोरी राइटिंग कंपीटिशन में शामिल किया है. स्वराज ओझा अभी दिल्ली के समरविले स्कूल की सातवीं क्लास में पढ़ते हैं. स्वराज ओझा के चाचा अभिषेक कुमार बापू स्मारक महिला उच्च विद्यालय में शिक्षक के पद पर कार्यरत हैं.

Read more

लंदन ने दिया सम्मान,तो घर मे जश्न का हुआ माहौल

भोजपुरवासियों के धन्यवाद का लगा ताँता मेरा नही छात्रों और शिक्षकों के मेहनत का है यह सम्मान : कुमार द्विजेन्द्र आरा, 22 दिसम्बर. कहते हैं कि अगर सच्चे मन और निष्ठा के साथ यदि आप कार्य करें तो पुरी दुनिया आपकी मुरीद बन जाती है. शिक्षा के माध्यम से अपने बेहतरीन काम की वजह से कला, खेल और सामाजिक गतिविधियों में लगातार बेहतर परिणाम देने वाले सम्भावना स्कूल के प्रबन्ध निदेशक, कुमार द्विजेन्द्र को लंदन की यूनिवर्सिटी ने सम्मानित कर इस कथन को साबित कर दिया है. लंदन की बॉल्स ब्रीज यूनिवर्सिटी उनके उत्कृष्ट कार्यो की मुरीद बन उन्हें PHD की उपाधि से सम्मानित किया है. पिछले दिनों यह सम्मान उन्हें यूनिवर्सिटी द्वारा दिल्ली में प्रदान किया गया. कुमार द्विजेन्द्र को बॉल्स ब्रीज यूनिवर्सिटी, लन्दन द्वारा डॉक्टरेट की मानद उपाधि से सम्मानित किये जाने के बाद उनके आरा आगमन पर विद्यालय के छात्रा-छात्राओं और शिक्षकों ने शनिवार को विद्यालय में ‘अभिनन्दन समारोह’ का आयोजन कर भब्य स्वागत किया. विद्यालय के छात्र-छात्राओं तथा शिक्षकों द्वारा आयोजित ‘अभिनन्दन समारोह’ में बच्चों ने स्वागत गान प्रस्तुत किया तथा निदेशक को माल्यार्पण कर स्वागत किया. तत्पचश्चात् विद्यालय की प्राचार्या डॉ. अर्चना सिंह ने निदेशक, कुमार द्विजेन्द्र को बुके और अंग-वस्त्र देकर मंच पर स्वागत किया. इस अवसर पर स्वागत सम्बोधन करते हुए प्राचार्या डॉ. अर्चना सिंह ने कहा कि निदेशक कुमार द्विजेन्द्र का सम्मान पूरे विद्यालय परिवार का सम्मान है. एक अन्तर्राष्ट्रीय विवि द्वारा निदेशक को डॉक्टरेट(PHD) की मानद उपाधि से सम्मानित किया जाना विद्यालय के लिए गर्व का विषय है. बताते चलें कि

Read more

1 दिन में कैसे होगा 27 विधाओं का सलेक्शन ?

विनर टीम के ट्रायल पर अड़ी विश्वविद्यालय विनर टीम ‘शारंगम’ शाहजहाँपुर में कर रही है प्रदशर्न आरा, 19 दिसम्बर. VKSU का विवादों से गहरा नाता रहा है. आए दिन विवि में विवाद अपनी पैठ बनाने के लिए मुँह बाये खड़े रहता है. अब इस बार लगता है विवाद ईस्ट जोन कल्चरल फेस्टिवल में सलेक्शन को लेकर है. बताते चले की अक्टूबर माह में विश्वविद्यालय से 40 सदस्य टीम 25 विधाओं में प्रदर्शन करने के लिए दरभंगा गई थी जिसमें से उसने चार पुरस्कार झटके थे. जिसमें नाटक और झांकी में 2nd, क्ले आर्ट में 3rd और वेस्टर्न म्यूसिक में 3rd अवार्ड झटक कर प्रतिभागियों ने विश्वविद्यालय की इज्जत बचाई थी. पुनः दरभंगा में ही 3 जनवरी से 7 जनवरी 2019 तक ईस्ट जोन कल्चरल फेस्टिवल का आयोजन होने वाला है जिसमे विवि नए सिरे से दमदार प्रतिभागियों के लिए हर विधाओं में ट्रायल का आयोजन कर रही है. यह चयन गुरुवार, 20 दिसम्बर को होना तय हुआ है. लेकिन फिलहाल नाटक की यह विनर टीम राष्ट्रीय नाट्य प्रतियोगिता “शारंगम”(16-19 दिसम्बर 2018) शाहजहाँपुर में अपनी प्रस्तुति देने गयी है जो 20 दिसम्बर के रात्रि में वापस आने वाली है. क्या है मामला? शारंगम में गयी विनर टीम ने 20 दिसम्बर को होने वाले ट्रायल के दिन न रहने की असमर्थता दर्शायी थी और अपने ट्रायल के लिए उक्त तिथि के पहले या बाद में ट्रायल देने का आग्रह किया था. यहाँ तक कि टीम लीडर व विवि के छात्र अध्यक्ष अमित सिंह ने प्रतियोगिता स्थल पर हुई प्रस्तुति की रिकॉर्डिंग को

Read more

बुधवार से स्कूल टाइमिंग बदली | ठंढ के चलते पटना डीएम का आदेश

पटना में स्कूल के बच्चों को ठंढ से मिलेगी राहत मौसम को देखते हुए पटना डीएम का निर्देश कक्षा 1 से 8 तक के स्कूलों के लिए निर्देश लागू कल यानि 19 दिसंबर से लागू होगा निर्देश सभी स्कूल सुबह 9.30 बजे से शुरू होंगे पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) | मौसम के गिरते हुए तापमान को मद्देनजर रखते हुए पटना के डीएम ने पटना जिले के सभी सरकारी व गैर सरकारी स्कूलों के खुलने के समय में बदलाव किया है. डीएम ने आदेश दिया है कि बुधवार यानि 19 दिसंबर से पटना जिला के सभी स्कूलों में कक्षा 1 से कक्षा 8 तक के क्लास सुबह साढ़े नौ बजे से शुरू होंगें. मालूम है कि ठंड बढ़ने लगी है तथा आने वाले दिनों में तापमान और गिरने की संभावना है, जिस कारण छोटे बच्चों को स्कूल जाने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. इसके पहले स्कूल सुबह 7 बजे और 8 बजे खुल रहे थे.

Read more

जानिए भोजपुर के किस व्यक्ति को लंदन की यूनिवर्सिटी ने किया सम्मानित !

लंदन की यूनिवर्सिटी ने किया आरा के शिक्षाविद को सम्मानित बधाइयों का लगा ताँता, जिलेवासियो में खुशी की लहर आरा, 17 दिसम्बर. आरा के संभावना आवासीय हाई स्कूल के प्रबंध निदेशक कुमार द्विजेन्द्र को लंदन की वाल्स ब्रीज यूनिवर्सिटी ने रविवार को सम्मानित किया. लंदन स्थित बॉल्स ब्रिज यूनिवर्सिटी ने नई दिल्ली के इंडिया हैबिटेट सेंटर में रविवार को यह सम्मान, कुमार द्विजेन्द्र को “डॉक्टरेट के मानद उपाधि” का प्रमाण-पत्र देकर सम्मानित किया. यह सम्मान उन्हें शिक्षा,संस्कृति और समाज सेवा के क्षेत्र में महत्वपूर्ण कार्य कर एक विशिष्ट पहचान बनाने के लिए प्रदान किया गया है. यह उपाधि उच्च शैक्षणिक योग्यता वाले व्यक्ति को ही प्रदान की जाती है. बताते चलें कि कुमार विजेंद्र ने श्रम एवं समाज कल्याण विभाग में मास्टर डिग्री,विधि में स्नातक और पत्रकारिता में भी स्नातक की डिग्री हासिल की है. कुमार विजेंद्र ने अपने करियर की शुरुआत रंगमंच, और पत्रकारिता से की थी. उन्होंने जिले की कई नाट्य संस्थाओं में बतौर अभिनेता कार्य किया तथा विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं के लिए लेखन का भी कार्य कर चुके है. पिछले कई सालों से स्कूल के जरिये शिक्षा और समाज सेवा के क्षेत्र में विशिष्ट योगदान कर समाज को सही दिशा प्रदान करने का कार्य कर रहे हैं. इस अति विशिष्ट सम्मान को पाकर वे अभिभूत है. उन्होंने “पटना नाउ” से बातचीत करते हुए कहा कि सम्मान मिलने के बाद उनकी जिम्मेवारी और बढ़ गई है. उन्होंने कहा कि शिक्षा को अपनी संस्कृति एवं संस्कार के साथ जोड़कर राष्ट्र सेवा के लिए बेहतर नागरिक तैयार किया जा सकता है.

Read more

छात्राओं ने ऐलुमिनाई मीट 2018 में यादें ताज़ा की | नोट्रेडेम एकेडमी, पटना

पटना (अजित की रिपोर्ट) | रविवार को नोट्रेडेम एकेडमी छात्र संघ के तत्वाधान में नोट्रेडेम एकेडमी के पूर्ववर्ती छात्राओं, शिक्षक एवं शिक्षिकाओं का मिलन समारोह 2018 का आयोजन किया गया. इसमे करीब 120 पूर्ववर्ती छात्राओं, शिक्षक एवं शिक्षिकाओं ने भाग लिया. सिस्टर बीना, प्रोवेंशियल सुपीरियर सिस्टर टेस्सी एवं नोट्रेडेम एकेडमी की प्रिंसिपल सिस्टर जेस्सी ने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का उदघाटन किया. ऐलुमिनाई मीट में पूर्ववर्ती छात्र -छात्राओं, शिक्षक एवं शिक्षिकाओं की नजरें जैसे ही कैम्पस में एक दूसरे से मिली तो सभी गले अपनी पुरानी यादों में खो गये. छोटों ने बड़ो के पैर छूकर आशीर्वाद लिया वहीं बड़ो ने गले लगाकर अभिवादन भी किया. इस दौरान अपनी अपनी यादें साझा करते हुए सभी भावुक हो गए. सबों ने एक दूसरे की वर्तमान गतिविधियों के बारे में जानकर रोमांचित भी होती रही. संघ की अध्यक्ष सुमन चौबे ने कार्यक्रम में शामिल होने आये पूर्ववर्ती छात्र -छात्राओं, शिक्षक एवं शिक्षिकाओं का आभार जताते हुए कहा कि इस कार्यक्रम का उद्देश्य यह है पुराने और नए छात्रो के बीच आपसी सामंजस्य पैदा हो तथा सभी लोग सामाजिक गतिविधियों में बढ़ चढ़कर भाग ले. संघ की सचिव सना फहीम ने बताया की इस सत्र में संघ ने छात्राओं, शिक्षक एवं शिक्षिकाओं, और छात्रों के अभिभावकों के लिए स्वास्थ्य शिविर, कैरियर परामर्श इत्यादि का आयोजन किया गया. उन्होंने कहा कि संघ चालू कैलेंडर वर्ष में छात्र छात्राओं, शिक्षकों, सिस्टरों और कर्मचारियों के लिए कई और कार्यक्रम का आयोजन करेगा. कार्यक्रम में नोट्रेडेम एकेडमी स्कूल के लिए लंबे समय तक समर्पित सेवा भाव के लिए

Read more

मुख्यमंत्री ने कहा कि कॉलेज का साइट बहुत ही उत्तम | डॉ० कलाम कृषि महाविद्यालय के नवनिर्मित प्रशासनिक भवन का किया उद्घाटन

डॉ० कलाम कृषि महाविद्यालय के नवनिर्मित प्रशासनिक भवन का मुख्यमंत्री ने किया उद्घाटन ईको टूरिज्म के लिए किशनगंज बेहतर साइट प्रतीत होता है – मुख्यमंत्री क्लाइमेट को ध्यान में रखते हुए बीजों की प्रजाति विकसित करें – नीतीश लोकल दलहन की प्रजाति को फिर से स्थापित करने के लिए करें काम – मुख्यमंत्री पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) |  मुख्यमंत्री  नीतीश कुमार ने बुधवार को किशनगंज जिले के पोठिया प्रखंड अंतर्गत अर्राबाड़ी स्थित डॉ० कलाम कृषि महाविद्यालय के नवनिर्मित प्रशासनिक भवन का फीता काटकर एवं शिलापट्ट का अनावरण कर उद्घाटन किया. उद्घाटन के पश्चात मुख्यमंत्री ने प्रशासनिक भवन का मुआयना किया. उन्होंने डिजिटल क्लास रुम, एग्रीकल्चरल एनटोमोलॉजी, इनसेक्ट्स म्यूजियम एवं कम्प्यूटर लैब का भी मुआयना किया एवं विभिन्न चीजों की जानकारी प्राप्त की. महाविद्यालय परिसर में ही स्थित कृषि विकास मेला 2018 का मुख्यमंत्री ने फीता काटकर उद्घाटन किया. उन्होंने मेले में लगाए गए विभिन्न स्टॉलों का भी निरीक्षण किया. इसमें सामाजिक परिवर्तन के लिए चलायी जा रही ई-तालिम शिक्षा, जीविका, महिला उत्पादक समूहों द्वारा तैयार की गई चीजें, बिहार कृषि विश्वविद्यालय, सबौर (भागलपुर) कृषि विज्ञान केंद्र किशनगंज, मात्स्यिकी महाविद्यालय किशनगंज के द्वारा लगाए गए स्टॉलों पर विशेषज्ञों से भी मुख्यमंत्री ने जानकारी प्राप्त की. मुख्यमंत्री ने मुख्यमंत्री ग्राम परिवहन योजना के तहत लाभुकों को वाहन वितरित किया एवं कन्या उत्थान योजना के तहत जन्म के बाद दी जाने वाली राशि से संबंधित चेक भी कन्या के माता-पिता को दिया गया. कृषि विज्ञान केंद्र के स्टॉल पर मुख्यमंत्री ने सलाह दी कि लोकल दलहन की प्रजाति को फिर से स्थापित करने के

Read more