‘शरीर को आत्मा से जोड़ने का काम करता है योग’

पाटलिपुत्र विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो गुलाब चंद राम जयसवाल ने कहा है कि योग शरीर को आत्मा से जोड़ने का नाम है और समस्त विश्व में यह भारत का सांस्कृतिक राजदूत है. प्रो. जयसवाल गुरूवार को चतुर्थ अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर पटना के कॉलेज आफॅ कामसॅ आटसॅ एण्ड साइंस में आयोजित योग शिविर का उद्घाटन करने के बाद लोगों को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने शिक्षकों, शिक्षकेत्तर कर्मचारियों और छात्र – छात्राओं को एकाग्रता बढाने और निरोग और स्वस्थ रहने के लिए योग को नियमित रूप से अपनाने की सलाह दी.




इस अवसर पर प्रति कुलपति प्रो. गिरीश कुमार चौधरी, प्रिंसिपल प्रो. तपन कुमार शांडिल्य ने भी योग के महत्व पर प्रकाश डाला. शिविर में योग गुरु डॉ. गुडाकेशवत्स ने सलभासन, उतानपाद आसन, प्राणायाम, शीतली प्राणायाम, अनुलोम विलोम, पवनमुक्तासन, और उतानमण्डुक आसन समेत विभिन्न आसनों का अभ्यास कराया.

इस अवसर पर पाटलिपुत्र विश्वविद्यालय के कुलानुशासक प्रो. महेंद्र प्रताप सिंह, प्रो. मनोज कुमार,प्रो. बीके मंगलम, प्रो. अशुतोष कुमार सिंहा , प्रो. सलोनी कुमार, प्रो. रश्मि अखौरी, प्रो. कंचना सिंह ,एनसीसी अफसर प्रमोद कुमार सिंह, एन. सी. सी कमान्डेन्ट कर्नल कृष्ण मोहन समेत बड़ी संख्या में शिक्षक, शिक्षकेत्तर कर्मचारी, एनसीसी कैडेट, एन. एस. एस स्वयंसेवक और छात्र-छात्राओं ने योगाभ्यास में भाग लिया.