शिक्षिका के ससुर की कारगुजारी

एमडीएम का अनाज ले जा रहे कर्मचारियों को ग्रामीणों ने बनाया बंधक
अनाज का कालाबाज़ारी का आरोप
पुलिस ने अनाज को किया जप्त
पटना / फुलवारीशरीफ (अजित कुमार) । सोमवार की दोपहर तारणपुर के समीप ग्रामीणों ने एमडीएम के अनाज से लदे पिकअप वैन को रोक हंगामा शुरू कर दिया. इस दौरान वैन पर चालक व मुंशी समेत तीन लोगों को ग्रामीणों ने बंधक बनाए रखा. ग्रामीणों का आरोप था उक्त अनाज में से कुछ हिस्सा कालाबाज़ारी के भेंट चढ़ जाता है. गौरीचक पुलिस मौके पर पहुंची और तीनो कर्मियों के साथ पीकअप वैन को जप्त कर उसे थाना ले आयी. देर शाम तक प्रखंड के पदाधिकारी मामले की जांच में लगे रहे.
प्रखंड के अंतर्गत पड़ने वाले विद्यालयों में एमडीएम के अनाज की आपूर्ति एमडीएम प्रभारी की देखरेख में किया जाता है. ग्रामीणों का आरोप है कि रास्ते मे ही कुछ अनाज कालाबाज़ारी कर उसे बेच दिया जाता है. सोमवार को यह वैन तारणपुर के समीप नवादा पुल पर रुकी दिखी जहां अनाज का बोरा सड़क किनारे उतारा जा रहा था. जैसे ही वहां 9 बोरा अनाज उतारा गया, उसी दौरान ग्रामीणों ने वैन को चारों तरफ से घेर लिया और हंगामा करने लगे. वैन पर मौजूद मुंशी सुनील कुमार, चालक रवि शंकर और एक मजदूर को घंटो बंधक बनाकर रोके रखा. वे लोग प्रखंड के पदाधिकारियों को बुलाने की मांग कर रहे थे.
मुंशी सुनील कुमार ने कहा कि जिस स्कूल में यह चावल पहुंचना था उसी स्कूल की शिक्षिका अर्चना कुमारी के ससुर बिरेन्द्र कुमार सिंह गाड़ी रोककर जबर्दस्ती गाड़ी में से अनाज उतार लिए.
संपतचक प्रखंड के एमडीएम प्रभारी विनीता सिन्हा ने बताया कि प्रखंड से 53 बोरा अनाज अलग अलग स्कूल के लिए निकला था. बीच रास्ते मे 9 बोरा अनाज वीरेंद्र सिंह द्वारा उतारा गया. मामले में सभी दोषियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई जाएगी.
ग्रामीण संतोष सिंह, नागेन्द्र कुमार (मुखिया), मुकेश सिंह, बंटी कुमार, राजू सिंह ने कहा की आज जो मामला सामने आया है उसकी उच्चस्तरीय जांच वरीय पदाधिकारी से हो. बीडीओ संपतचक, कुंज बिहारी सिंह ने कहा की मामले की जानकारी हुई है. यह गंभीर मामला है. हर पहलुओं पर जांच की जाएगी.