मैट्रिक और इंटर परीक्षा 2018 के रिजल्ट जारी करने की तिथि की घोषणा

पटना (राजेश तिवारी) । लंबे इंतजार के बाद आखिरकार बिहार में मैट्रिक और इंटर परीक्षा के रिजल्ट जारी करने की तिथि की घोषणा कर दी गई है. इस बारे में बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष आनंद किशोर ने बताया कि अगले महीने दोनों रिजल्ट जारी किया जाएगा. आनंद किशोर ने बताया कि इंटरमीडिएट वार्षिक परीक्षा, 2018 के परीक्षाफल की घोषणा 07 जून, 2018 को तथा वार्षिक माध्यमिक परीक्षा, 2018 के परीक्षाफल की घोषणा 20 जून, 2018 को की जाएगी. अध्यक्ष ने कहा कि इंटरमीडिएट वार्षिक परीक्षा, 2018 के रिजल्ट प्रोसेसिंग का कार्य अंतिम चरण में है, जिसके बाद परीक्षाफल की घोषणा समिति द्वारा की जाएगी.

Read more

सिविल सेवा (प्रारंभिक) परीक्षा–2018

नई दिल्ली/पटना (पीआईबी रिपोर्ट) | संघ लोक सेवा आयोग 03.06.2018 (रविवार) को पूरे भारत में सिविल सेवा (प्रारंभिक) परीक्षा – 2018 का आयोजन करने जा रहा है. अब तक 50% से अधिक उम्मीदवार आयोग की वेबसाइट (https://www.upsc.gov.in) से अपना ई-प्रवेश पत्र डाउनलोड कर चुके हैं. जिन उम्मीदवारों ने अभी तक अपने ई-प्रवेश पत्र डाउनलोड नहीं किए हैं, उन्हें अंतिम समय की हड़बड़ी से बचने के लिए इसे तत्काल डाउनलोड कर लेने की सलाह दी जाती है. उम्मीदवारों को यह नोट कर लेना चाहिए कि परीक्षा के प्रारंभ होने के निर्धारित समय से 10 मिनट पहले ही अर्थात पूर्वाहन सत्र के लिए प्रातः 9:20 बजे और अपराहन सत्र में 2:20 बजे परीक्षा स्थलों पर प्रवेश बंद कर दिया जाएगा. प्रवेश बंद होने के उपरांत किसी भी उम्मीदवार को परीक्षा स्थल में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी जाएगी. उम्मीदवारों को यह भी नोट कर लेना चाहिए कि उनके ई-प्रवेश पत्र में उल्लिखित परीक्षा स्थल को छोड़कर उन्हें किसी अन्य परीक्षा स्थल पर परीक्षा में भाग लेने की अनुमति नहीं दी जाएगी.

Read more

CBSE 12वीं के नतीजे के लिए क्लिक करें

सेन्ट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एडुकेशन यानि CBSE की 12वीं की परीक्षा में शामिल हुए छात्रों के लिए आज नतीजे का दिन है. सीबीएसई के चेयरमैन अनिल स्वरूप ने देशभर के करीब 12 लाख छात्रों को ट्वीट कर शुभकामनाएं दी हैं. All the best to the students who appeared in Class 12 CBSE exams. However, treat the result with equanimity. These exams are not the end of the world. Pat yourself on the back if you have done well. Any perceived failure should make you even more determined to succeed in future. — Anil Swarup (@swarup58) May 25, 2018 शनिवार को दिन के सेकेंड हाफ में रिजल्ट घोषित होने की उम्मीद है. रिजल्ट देखने के लिए आप नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें, अपना रोल नंबर डालें और सब्मिट करें. अपने रिजल्ट का प्रिंट आउट भी आप ले सकते हैं. Click here for your result http://cbseresults.nic.in/ 12वीं के नतीजे के बाद बहुत जल्द सीबीएसई के 10वीं क्लास के नतीजे भी आने की उम्मीद है.

Read more

ICSE के नतीजे जानने के लिए क्लिक करें

ICSE के 10वीं और 12वीं की परीक्षा के नतीजे आज आ रहे हैं. दोपहर तीन बजे नतीजे घोषित किए जाएंगे. रिजल्ट ऑनलाइन ही जारी होगा. परीक्षार्थी अपना रोल नंबर डालकर रिजल्ट जान पाएंगे. Click here for your 10/12th result 2018. http://www.cisce.org/ To get ICSE Results 2018 on your Mobile SMS ICSE<Space><Unique Id> to 09248082883. To get ISC Results 2018 on your Mobile SMS ISC<Space><Unique Id> to 09248082883.

Read more

कोचिंग व प्राइवेट स्कूलों को NSUI की चेतावनी

प्राइवेट स्कूलों और कोचिंग संस्थानों के खिलाफ NSUI ने खोला मोर्चा प्रशासन और सरकार से दखल की अपील वर्ना होगा बड़ा आंदोलन आरा, 12 मई. छात्र हितों के लिए सदा आगे रहने वाली NSUI की भोजपुर इकाई ने प्राइवेट स्कूलों और कोचिंग संस्थानों की बेतहासा फीस बढ़ोतरी कर मनमानी तरीके से लोगों का आर्थिक शोषण करने के खिलाफ एक प्रेस कांफ्रेंस स्थानीय पार्टी कार्यालय शहीद भवन आरा में किया. NSUI ने जिला प्रशासन और बिहार सरकार से इस दिशा में अविलंब विचार कर पहल के लिए आगे आने के लिए आग्रह किया है. प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए जिलाध्यक्ष मनीष सिंह दुलदुल ने निजी स्कूलो की मनमानी पर बोलते हुए कहा कि सरकार की गलत शिक्षा नीति के चलते अभिवावक लुटे जा रहे है. NSUI इस दिशा में सुधार के लिए एक जन आंदोलन की तैयारी का विचार कर रही है तकि घोर निद्रा अवस्था मे पड़ी सरकार की नींद खुल सके. इस मौके पर विश्विद्यालय संयोजक डॉ नवीन शंकर पाठक ने कहा कि शिक्षा के निजीकरण एवम बाजारीकरण की प्रथा ला कर शिक्षा जगत में शिक्षा माफ़िया सकरार ने उतार दिया है. शिक्षा क्षेत्र में ऐसे लुटेरों पर लगाम लगाना बहुत जरूरी है. उन्होंने कहा कि शिक्षा व्यवस्था ऐसा होना चाहिए जो हर गरीब-गुरबों तक पहुँच सके. संगठन के प्रदेश महासचिव प्रशांत ओझा ने कहा कि प्रदेश में एक समान शिक्षा नीति लागू किया जाए जिसका असर हरेक वर्ग तक हो. उन्होंने कहा कि एक छोटे से शहर आरा में प्राइवेट स्कूलों में एवम निजी कोचिंग संस्थानों की

Read more

दलितों को लुभाने की जुगत में नीतीश ने खेला बड़ा दांव

बिहार में बड़े वोट बैंक को लुभाने की कोशिश में सभी राजनीतिक दल एक-दूसरे को पछाड़ने में लगे हैं. इस बार सीएम नीतीश कुमार ने बड़ा दांव खेला है. मंगलवार को हुई कैबिनेट की बैठक में  बिहार के दलित छात्रों के लिए बड़ा फैसला लिया गया है. इसके मुताबिक बिहार सरकार UPSC और BPSC की प्रारंभिक परीक्षा (PT) में पास होने वाले SC और ST छात्रों को क्रमश: एक लाख और 50 हजार रुपये देगी. यही नहीं, SC-ST छात्रावास में रहकर पढ़ाई कर रहे छात्रों को 1000 रुपये प्रति महीने की दर से छात्रावास अनुदान का लाभ देने को भी मंजूरी दी गई है. बिहार कैबिनेट के फैसलों की जानकारी देते हुए चीफ सेक्रेट्री अंजनी कुमार सिंह ने बताया कि बैठक में 16 प्रस्तावों पर मुहर लगी है. बिहार कैबिनेट ने राज्य के सभी SC/ST के परिवारों को बिहार महादलित विकास मिशन की योजनाओं का लाभ देने की मंजूरी दे दी है. यानि अब पासवान जाति को भी महादलिय मिशन योजना का लाभ मिलेगा.   SC-ST छात्रावासों में रहने वाले विद्यार्थियों को अब सरकार हर महीने 15 किलो अनाज(9 किलो चावल, 6 किलो गेहूं) देगी. बिहार में 178 ऐसे होस्टल हैं जिनमें करीब 12 हजार से भी ज्यादा विद्यार्थी रहते हैं. कैबिनेट के अन्य महत्वपूर्ण फैसले- नालंदा के राजगीर मलमास मेला को राजकीय मेला का दर्ज शिक्षा वित्त मिगम को 100 करोड़ रूपये दिए जाएंगे. इससे स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना के तहत विद्यार्थियों को लोन मिल सकेगा.   राजेश तिवारी

Read more

जेईई (मुख्य) परीक्षा 2018 में नवोदय विद्यालय के छात्रों का शानदार प्रदर्शन

नई दिल्ली / पटना (निखिल के डी वर्मा) | मानव संसाधन विकास मंत्रालय के अंतर्गत नवोदय विद्यालय समिति नवोदय विद्यालयों का संचालन करती है. केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा आयोजित संयुक्त प्रवेश परीक्षा (मुख्य) 2018 में जवाहर नवोदय विद्यालय के छात्रों ने उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है. आईआईटी/ एनआईआईटी (विज्ञान प्रौद्योगिकी इंजीनियरिंग तथा गणित में) जैसे प्रतिष्ठित संस्थानों में नामांकन के लिए संयुक्त प्रवेश परीक्षा का आयोजन किया जाता है. मानव संसाधन विकास मंत्री ने आज एक ट्वीट के माध्यम से कहा,‘इस वर्ष नवोदय विद्यालयों के 4360 ग्रामीण छात्र जेईई एडवांस के लिए सफल घोषित किये गए हैं. जबकि पिछले वर्ष सफल छात्रों की संख्या 3653 थी. इस प्रकार सफल छात्रों की संख्या में 22 प्रतिशत की वृद्धि हुई. छात्रों को बधाई. यह सफलता गुणवत्तापूर्ण शिक्षा पर सरकार के फोकस को भी दर्शाती है.’ इस वर्ष 11653 नवोदय छात्रों ने जेईई (मुख्य) परीक्षा दी थी. इनमें से 4360 छात्र 20 मई, 2018 को होने वाली जेईई एडवांस परीक्षा के लिए सफल घोषित किए गए हैं. सफलता 37 प्रतिशत है जो किसी भी अन्य विद्यालय समूह से बेहतर है. जेईई एडवांस परीक्षा के लिए अर्हता प्राप्त 4360 में से 444 छात्रों ने एनवीएस के पूर्व छात्रों तथा स्वयं सेवी संगठनों के सहयोग से कोचिंग में पढ़ाई की थी. छात्रों ने आईआईटी, एनआईटी और आईआईएससी जैसे प्रतिष्ठित संस्थानों में नामांकन की पहली सीढ़ी पार कर ली है. ग्रामीण क्षेत्रों में प्रतिभाशाली बच्चों को आधुनिक व गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से 1986 में नवोदय विद्यालों की स्थापना की गई थी. इन विद्यालयों

Read more

मिल गया काला धन : धन कुबेर भी हुए फेल

ATM  से  पैसे नही मिलने पर ग्राहकों को पेनाल्टी क्यों नही देता बैंक ? Reality check of Patna now Exvlusive Report आरा, 29 अप्रैल. क्या आपने धन कुबेर मशीन देखा है? चक्कर खा गए क्या? अरे हुजूर, मॉर्डन जमाने का धन कुबेर तो दरअसल ATM ही है जहाँ लाखो रुपये रखे रहते हैं जो सबकी आवश्यकताओं को पूरा करता है. ATM कहने को तो ये धन कुबेर यंत्र है, लेकिन यहाँ हमेशा ताला ही मिलता है. सरकार कितने ही वादे कैश क्रंच के लिए क्यों न करे लेकिन इन धन कुबेर मशीनों की वर्तमान स्थिति तो कुछ और ही हकीकत बयां करती है. पटना नाउ ने कैश क्रंच की रियालिटी जानने के लिए इन धन कुबेर मशीनों का जब दौरा किया तो ऊपर से थाट बात और नीचे से मोकामा घाट वाली कहावत नजर आयी.  बताते चलें कि पूरे शहर में विभिन्न बैंकों के इन धन कुबेर मशीनों की संख्या लगभग 100 है. पटना नाउ को 3 घण्टे तक इनका चक्कर काटने के बाद भी इन मशीनों से कही भी पैसा नही मिला. इस दौरान हमारी ही तरह पैसों की तलाश में इन ATMs के पास पहुंचे बहुत से लोगो से बात हुई. इन लोगों में से कोई अपनी माँ का इलाज कराने शहर आया है तो कोई अपनी बेटी, बहन की शादी के लिए खरीदारी करने आये थे,लेकिन सभी पैसे नही मिलने की वजह से बैरंग वापस लौट गए. अपने पैसे बैंक में रखने और टैक्स देने के बाद भी आम आदमी बैंकों द्वारा इसी तरह ठगा महसूस कर

Read more

किसकी पढ़ाई से ‘भोजपुर का बेटा’ बना IAS ?

भोजपुरिया माटी के नीतीश ने मारी UPSC में बाजी, पूरे जिले में खुशी का माहौल “पापा की पढ़ाई” ने बेटे को IIT से UPSC तक पहुंचाया गड़हनी के बड़ौरा गांव का निवासी है नीतीश गड़हनी,29 अप्रैल. कहा जाता है कि अगर हौसला और लगन हो तो किसी भी मंजिल को पाने की कोशिश अक्सर सफल हो जाती है. कुछ इसी तरह की कामयाबी जिले के बड़ौरा गांव निवासी कुंज बिहारी सिंह के पुत्र ने प्राप्त कर भोजपुर का परचम लहराया UPSC में लहराया है. संघ लोक सेवा आयोग(UPSC) का परीक्षा परिमाण घोषित होते ही जहां देश के उतीर्ण छात्रों के घर पर ख़ुशी का माहौल छा गया. वहीं भोजपुर के लाल नीतीश के पैतृक घर भी वही ख़ुशी का वही आलम दिखा. नीतीश ने इस परीक्षा में आल इंडिया में 671 वा स्थान लाकर बिहार के साथ-साथ भोजपुर का नाम रौशन किया है. जैसे ही नीतीश के गांव बड़ौरा में यह खबर मिली कि पूरा गांव ही ख़ुशी से झुमने लगा. घर वालों ने मिठाई बाँट अपने ख़ुशी का इजहार किया. विदित हो कि नीतीश ने अपनी इस कामयाबी से जिले का गौरव बढाया है. उनकी इस सफलता से घर के सभी सदस्य फुले नहीं समा रहे है.सबसे बड़ी बात यह है कि नीतीश ने यह कामयाबी महज 25 वर्ष की उम्र में ही हासिल किया है. नीतीश ने अपनी लगन और मेहनत से पहले ही प्रयास में सफलता पायी है.नीतीश के पिता कुंज बिहारी सिंह पटना जिले के संपतचक में बतौर प्रखंड विकास पदाधिकारी के रूप में कार्यरत हैं,

Read more

छात्र जदयू के तीखे तेवर, विवि को दी आंदोलन की चेतावनी

मामला: VKSU के PG में गलत ढंग से नामांकन का आरा, 27 अप्रैल. VKSU,आरा में भ्रष्ट अफसरों द्वारा नियम-कानून की धड़ल्ले से उड़ायी जा रही धज्जियों के सामने विवि प्रशासन ने घुटने टेक दिया है. जिसका परिणाम PG के 2017-19 के नामांकन में बड़े पैमाने पर धांधली  है. छात्र जदयू के विवि अध्यक्ष अविनाश राव ने विवि पर PG नामांकन में बड़े पैमाने पर धांधली आरोप लगाया है. साथ ही प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा कि विवि ने आरक्षण रोस्टर नियम का पालन नही किया है. नामांकन की तिथि खत्म हो जाने के बाद भी विवि प्रशासन के आदेश की अनदेखी कर, कुछ विभागों में छात्रों से गलत ढंग से पैसा लेकर नामांकन किया गया है. इस संदर्भ में जाँच के लिए अविनाश ने 28 मार्च को लिखित आवेदन भी दिया था, जिसकी खबर भी विभिन्न अखबारों ने भी प्रमुखता से प्रकाशित की थी. लेकिन जांच की मांग करने के बाद भी अभी तक जांच किमिटी का  नही बनना विवि की कार्यशैली पर सवाल खड़ा करता है. बिना जाँच किये रजिस्ट्रेशन का डेट निकाल देना उचित नही हैं. अविनाश राव ने बताया कि नामांकन की अंतिम तिथि 25 जनवरी तक थी लेकिन कई विभागों ने 30 जनवरी तक नामांकन लिया है. प्रमाण के तौर पर अविनाश ने कमेस्ट्री विभाग का नामांकन रसीद भी दिया था. जदयू ने कुलपति से जल्द से जल्द जांच कमिटि बनाकर गलत ढंग से हुए नामांकन को रद्द करने के साथ इसमे संलिप्त कर्मचारियों और पदाधिकारियों पर उचित कार्यवायी करने की मांग की है.  साथ ही

Read more