बीपीएससी ने आखिरकार दे ही दिया 56 वीं से 59 वीं मुख्य परीक्षा का रिजल्ट

लगभग 2 लाख उम्मीदवारों ने बीपीएससी आम संयुक्त प्रारंभिक परीक्षा के लिए आवेदन किया था 1993 उम्मीदवारों ने साक्षात्कार के लिए उतीर्ण घोषित कुल रिक्तियां हैं 746 पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) । 56 वीं से 59 वें आम संयुक्त लिखित परीक्षा के लिए बीपीएससी मेन परिणाम बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट- bpsc.bih.nic.in पर घोषित किया है. 746 रिक्तियों के लिए कुल 1933 उम्मीदवारों साक्षात्कार के लिए चुने गए हैं. लगभग 2 लाख उम्मीदवारों ने बीपीएससी आम संयुक्त प्रारंभिक परीक्षा के लिए आवेदन किया था, जिसमें से 28308 उम्मीदवारों ने मुख्य परीक्षा के लिए उतीर्ण हुए थे. बीपीएससी कॉमन कम्बाइंड मेन (लिखित) परीक्षा 8 जुलाई से 30 जुलाई 2016 तक और 13 नवंबर 2016 को पटना में आयोजित की गई थी. जिन उम्मीदवारों ने भी इसके लिए आवेदन किया था और परिणाम का इंतजार कर रहे थे, वे नीचे दिए गए निर्देशों का पालन कर सकते हैं और उनके परिणाम की जांच कर सकते हैं: चरण 1 – आधिकारिक वेबसाइट http://bpsc.bih.nic.in पर जाएं चरण 2 – अधिसूचना पर क्लिक करें जहां लिखा है, “Results: 56th to 59th Common Combined Main (Written) Competitive Examination.” चरण 3 – अपने रोल नंबर के साथ CTRL + F और जांच लें कि क्या आप अगले दौर के लिए योग्य हैं. चरण 4 – परिणाम पीडीएफ डाउनलोड करें और आगे संदर्भ के लिए एक प्रिंटआउट लें. रिजल्ट इस लिंक से डायरेक्ट डाउनलोड करें  – http://www.bpsc.bih.nic.in/Advt/Results-56-59-Main-(Written).pdf

Read more

डिप्टी CM ने रेलमंत्री को फोन कर कहा- “थैंक यू”

Group D में रेलवे ने खत्म की ITI की अनिवार्यता बिहार के डिप्टी CM की पहल पर रेलवे ने लिया बड़ा निर्णय पटना, 23 फरवरी. रेलवे के परीक्षा देने वालों के लिए खुशखबरी है. खुशखबरी यह है कि रेलवे ने ग्रुप डी पदों के लिए ITI की अनिवार्यता समाप्त कर दी है. जिसका फायदा अब ज्यादा से ज्यादा परीक्षार्थी उठा पाएंगे. गौरतलब है कि अभी कुछ दिन पहले ही रेलवे के ग्रुप डी में ITI की अनिवार्यता को लेकर 5 हजार से ऊपर छात्रों ने आरा रेलवे स्टेशन पर बवाल काटा था. लगभग 7 घण्टे तक ट्रेनों की आवागमन बाधित के साथ पथराव और हवाई फायरिंग में 2 दर्जन से ज्यादा जख्मी भी हुए थे. इसी को लेकर पटना स्टेशन पर 18 फरवरी को छात्रों ने हंगामा किया था. इस हंगामे के बाद बिहार के डिप्टी CM सुशील मोदी ने बच्चों के भविष्य को लेकर प्रयास ITI को से रेलवे की ग्रुप डी की परीक्षा से हटाने के लिए किया तो उनका यह सकरात्मक पहल काम कर गया. रेलवे के ग्रुप डी के पदों के लिए ITI की अनिवार्यता खत्म करने पर उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने रेलमंत्री पियूष गोयल को फोन करके बधाई दी है. उन्होंने कहा है कि ग्रुप डी के पदों के लिए मैट्रिक की योग्यता ही काफी है. ITI की अनिवार्यता खत्म होने से बिहार के लाखों युवकों को फार्म भरने और परीक्षा में शामिल होने का मौका मिलेगा. बताते चलें कि सुशील मोदी ने बुधवार को रेल मंत्री से फोन पर बात कर ग्रुप डी

Read more

कदाचार पर सख्ती, पहले दिन 53 परीक्षार्थी निष्कासित

पटना (राजेश कुमार) । मैट्रिक परीक्षा के पहले दिन बुधवार को बिहार बोर्ड के सख्त दिशानिर्देशों का असर देखने को मिला. पहले ही दिन कुल 53 परीक्षार्थी निष्कासित किए गए जबकि 10 लोग दूसरे की जगह परीक्षा देते पकड़े गए. पहले दिन दोनों पालियों में अंग्रेजी की परीक्षा हुई जबकि दूसरे दिन सामाजिक विज्ञान की परीक्षा होगी. बिहार बोर्ड के अध्यक्ष आनंद किशोर के मुताबिक पहले दिन की परीक्षा पूरी तरह शांतिपूर्ण और कदाचार रहित संपन्न हुई. बिहार बोर्ड के सख्त दिशानिर्देश और हर जगह परीक्षा केन्द्रों पर कड़ाई का  बड़ा असर देखने को मिला है. पटना जिला में पहले दिन किसी भी परीक्षार्थी को निष्कासित नहीं किया गया है। बिहार बोर्ड के अध्यक्ष आनंद किशोर और पटना डीएम ने पटना के कई परीक्षा केन्द्रों का औचक निरीक्षण किया. वर्ष 2018 की इस परीक्षा में बिहार बोर्ड ने एक साथ कई नई शुरूआत की है. पहली बार मैट्रिक की परीक्षा में ऑब्जेक्टिव प्रश्न दिए गए. 50 फीसदी ऑब्जेक्टिव प्रश्नों के उत्तर ओ एमआर शीट पर देने हैं. ओ एम आर शीट पर परीक्षा की शुरूआत भी इसी साल से हुई है. इसके साथ- साथ परीक्षा केन्द्रों पर अभ्यर्थियों को जूता-मोजा पहनकर परीक्षा देने की मनाही की गई है. परीक्षार्थियों के साथ-साथ परीक्षा केन्द्र पर वीक्षक, केन्द्राधीक्षक और अन्य स्कूल कर्मियों को भी मोबाइल रखने की मनाही इस बार की गई है. इंटर परीक्षा में हर दिन प्रश्न पत्र वायरल होने की खबर से परेशान बिहार बोर्ड ने मैट्रिक परीक्षा में मोबाइल को लेकर इतने सख्त निर्देश जारी किए हैं. मैट्रिक

Read more

आया रिजल्ट….हुई अनबन, हंगामा और तोडफ़ोड़

तोड़-फोड़ और हंगामे के बीच घोषित हुआ रिजल्ट छात्र संघ चुनाव में छात्र-जदयू का बजा डंका AVBP दुसरे नम्बर पर और AISA तीसरे नम्बर पर छात्र जद यू– 60, AVBP-57, AISA-40, NSUI– 03,छात्र RJD-02 जगजीवन कॉलेज आरा मेंं क्लीन-स्वीप कर छात्र-जदयू ने रचा इतिहास आरा, 20 फरवरी. VKSU के छात्र संघ चुनाव के नतीजे सोमवार को जारी होने के बाद दिनभर कैम्पस का माहौल गर्म रहा. रहरह कर अपने अपने प्रत्याशियों के जीत की खबर सुन छात्र-छात्राएं नारे लगाते रहे. मतगणना केंद्रों पर पुलिस बल की मौजूदगी शांतिपूर्ण काउंटिंग के लिए देखी गयी. लेकिन इसके बावजूद भी काउंटिंग एरिया के बाहर कई कॉलेजो में हंगामे होते रहे. देर रात तक मतगणना स्थल पर छात्रों, शिक्षकों सहित नेताओं का जमावड़ा लगा रहा लेकिन स्पष्ट रूप से जीत की पूरी स्थिति स्पष्ट नही हो पाई. महिला कॉलेज में 10 में से अकेले 6 सीटों पर जीत हासिल के बाद AVBP नेता अमरेंद्र शक्रवार ने पटना नाउ से बात करते हुए कहा कि कुल सीटों पर विजय AVBP की ही होती लेकिन नैक एक्रीडेशन के समय AVBP द्वारा किये गए विरोध की वजह से कॉलेज की प्रोफेसर डॉ लतिका वर्मा ने षड्यंत्र कर छात्राओं को गुमराह किया जिसकी वजह से 4 सीट संगठन को कम मिला. पटना नाउ को अपने सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार छात्र जदयू को 60 सीट AVBP को 57 और AISA को 40 सीटों पर जीत हासिल हुई है. 2 कॉलेजो में 1 सीट को छोड़ दिया जाय तो छात्र जद यू ने क्लीन स्वीप किया है. वही

Read more

टीईटी 2017 अभ्यर्थियों द्वारा धरना प्रदर्शन

पटना (राजेश तिवारी) । बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने शिक्षक पात्रता परीक्षा टीईटी 2017 अभ्यर्थी संघ ने आज बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के मेन गेट पर धरना प्रदर्शन किया. अभ्यर्थियों की मांग थी कि बिहार विद्यालय परीक्षा समिति जल्द संशोधित रिजल्ट घोषित करें. अभ्यार्थी संघ का कहना है 150 अंकों की परीक्षा ली गई थी जिसमें 39 प्रश्न गलत पूछे गए, लेकिन अभी तक बोर्ड 29 प्रश्नों को ही गलत मान रहा है. अब विद्यार्थी संघ का कहना है एनसीटीई के अनुसार ही टीईटी का अंकपत्र 150 अंकों का होना चाहिए. इसलिए गलत प्रश्नों के एवज में पूर्ण मार्क्स दिया जाए. साथ ही साथ टीईटी का रिजल्ट जल्द घोषित किया जाए.         विडियो देखें –

Read more

क्या चकित करने वाले हैं ये नतीज़े?

पटना विवि में आये छात्र संघ चुनाव के नतीजे पटना, 19 फरवरी. छात्र संघ चुनाव को लेकर पिछले एक महीने से वोटरों को अपने पक्ष में करने का छात्र संगठनों का खेल मतदान के बाद खत्म हो गया और अपने-अपने भाग्य में वोट पा अपने पदों के लिये उम्मीद में उम्मीदवारों का इंतजार वोट के नतीजे के साथ ही खत्म हो गया. कोई जीता तो कोई हारा, और इस जीत हार के बाद आक्रोश में हारे लोगों का तांडव भी हुआ पर जीत के बाद पूछ इन तांडव और उपद्रव का नही विजेताओं की होगी. 5 सालों बाद हो रहे हैं छात्र संघ चुनाव के नतीजे देर रात आए और 5 साल बाद हुए पटना विश्वविद्यालय चुनाव में विद्यार्थी परिषद के बागी निर्दलीय उम्मीदवार दिव्यांशु भारद्वाज पटना यूनिवर्सिटी छात्र संघ के अध्यक्ष का चुनाव जीत गए हैं, वहीं दूसरी ओर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की उम्मीदवार युषिता पटवर्धन उपाध्यक्ष घोषित की गई हैं, तो विद्यार्थी परिषद के सुधांशु झा ने महासचिव के पद पर अपना कब्जा जमाया है. सह सचिव पद पर जन अधिकार छात्र परिषद के असजद चांद उर्फ आजाद चांद 150 मतों से विजय घोषित किए गए है तो कोषाध्यक्ष पद पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के नीतीश पटेल 213 मतों से आइसा के दानिश को पराजित किया है. एक तरह से माने तो इस छात्र संघ चुनाव में सेंट्रल पैनल के तीन पदों पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने ही अपना कब्जा जमा लिया है. 23 कॉलेज काउंसलर के पदों का भी फैसला हो गया है. ज्ञात

Read more

बिहार बोर्ड का “जूता खौफ”

जूतों से डर रहा है बिहार माध्यमिक परीक्षा बोर्ड पटना, 18 फरवरी. 21 फरवरी से राज्य भर में प्रारम्भ हो रही वार्षिक माध्यमिक परीक्षा में परीक्षार्थी इस बार जूते और मोजे पहनकर परीक्षा नही दे पाएंगे. जी हाँ चौकिये मत, पैरों में अभी से ही चप्पल पहनने की आदत डाल लीजिये क्योंकि बिहार विद्यालय परीक्षा समिति को जूतों का इतना डर सता रहा है कि उसने परीक्षा में सम्मिलित छात्र-छात्राओं को परीक्षा के दिन जूता और मोजा (Shoe & Socks) नहीं पहन कर आने का निर्देश जारी किया है. बोर्ड को विश्वास है कि जूते मोजे नही पहनने के बाद नकल के लिए चिट-पुर्जों पर लगाम लग सकेगा. परीक्षार्थियों को जूता और मोजा की जगह चप्पल (slipper) पहन कर आने का निर्देश निर्गत किया गया है. परीक्षा में नकल से हुई प्रदेश की किरकिरी के बाद बिहार विद्यालय परीक्षा समिति तरह-तरह के हथकंडे आजमा रही है. कभी इंटर की परीक्षा में OMR शीट पर जवाब देने की तरकीब, तो देर से केंद्र पर आने से परहेज से नकल पर नकेल कसने के बाद अब बिहार विद्यालय समिति ने मैट्रिक में नकल पर लगाम लगाने के लिए जूते पहनकर आने पर ही लगाम लगा दिया है. इस सम्बंध में बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष, आनंद किशोर, ने आज बताया कि परीक्षा में जूता और मोजा नहीं पहनने सम्बंधित निर्देश बिहार राज्य में अयोजित विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में दिया जाता रहा है, जिसे इस वर्ष से वार्षिक माध्यमिक परीक्षा में लागू करने का निर्णय लिया गया है. समिति इस सम्बन्ध में

Read more

महिलाओं को आत्म निर्भर बनाता वस्त्र मंत्रालय

क्या आप जानती डिजाइन बनाना? महिलाओं को आत्म निर्भर बनाता वस्त्र मंत्रालय प्रोडक्शन हाउस बनाने की हो रही है तैयारी जहां होंगे हजारों हुनरमंद हाथ ट्रेनिग ले रही महिलाओं ने कहा- ‘अब बहुत कुछ जान गई हैं…’ Patna now Exclusive आरा, 18 फरवरी. भारत सरकार के वस्त्र मंत्रालय द्वारा लोगों को हुनर के साथ व्यवसाय चालू करने के उद्देश्य से स्वरोजगार परक प्रशिक्षण दिया जा रहा है जो बिहार सरकार के उपेन्द्र महारथी शिल्प अनुसंधान केंद्र के देखरेख में किया जा रहा है. उद्योग विभाग के सहयोग से चल रहे इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में पटना नाउ ने जाना प्रशिक्षुओं से कि कितना हुनरमंद हो गई हैं अब? विशेष रिपोर्ट…… इस कर्यक्रम के अंर्तगत महिलाओं और बच्चियों को स्टिचिंग और डिजाइनिंग की ट्रेनिग दी जा रही है. कढ़ाई के जरिये बहुत सारे डिजाइनों को प्रशिक्षु प्राप्त कर रही हैं. इन डिजाइनों में स्टिचिंग की कई तरीकों को महिलाएं सिख रही हैं. एक महीने से प्रशिक्षण प्राप्त कर रही है महिलाएं कुशन, बैग, और विभिन्न उपयोगी वस्तुओं पर कपड़े का उपयोग कर बना रही हैं. प्रशिक्षण प्राप्त कर रही नीलम पांडेय ने बताया कि स्टिचिंग के तरीकों को उन्होंने सीखा. इस प्रशिक्षण के जरिये बहुत सी बातों को उन्होंने जाना जो उन्हें अबतक मालूम नही था. वे कहती हैं कि महिलाओं को स्टैंड करने के लिए यह बहुत ही अच्छा कार्यक्रम है. वही बैक स्टिच कर रही प्रशिक्षु शब्बा प्रवीण बताती हैं कि प्रशिक्षण केंद्र पर आने से पूर्व वो कुछ नही जानती थीं, लेकिन एक महीनों में सुई पकड़ने से लेकर

Read more

‘छात्र चुनाव’ के लिए छप रहा था बिना अनुमति ‘प्रपत्र’

प्रिंटिंग संचालक पर FIR, संचालक गिरफ्तार कम्प्यूटर, प्रिंटर समेत प्रपत्र और 40 पुस्तकें हुई जब्त आरा,17 फरवरी. छात्र संघ चुनाव में बिना अनुमति के कॉलेज का प्रपत्र छापने वाले शख्स को पुलिस ने बीती रात गिरफ्तार किया है. नवादा थाना के ब्लॉक रॉड स्थित अयोध्यापुरी निवासी लालजी सिंह के पुत्र प्रशांत सिंह को इस संदर्भ में पुलिस ने गिरफ्तार किया है. पुलिस ने प्रिंटिंग प्रेस संचालक के पास से कंप्यूटर और प्रिंटर जब्त किया है. इंस्पेक्टर सुबोध कुमार ने बताया कि इस संदर्भ में पकड़े गए शख्स पर केस भी दर्ज किया गया है. बिना विवि या कॉलेज की अनुमति के पुस्तकालय का प्रपत्र छापा जा रहा था जिसे चुनाव में उपयोग हेतु लाया जा सके. पकड़े गए शख्स के पास से जैन कॉलेज, और VKSU लिखा हुआ 37 प्रपत्र मिला है. इसके अतिरिक्त 40 पीस पुस्तक निकालने सम्बन्धी प्रिंटिंग पंजी भी मिली है. बिना कॉलेज के अनुमति के इतनी संख्या में प्रपत्र और पुस्तक का मिलना गोलमाल का इशारा है या फिर सचमुच गोलमाल है! बहरहाल छात्र निकाय चुनाव है भाईया, मौका पहचानने वाले इसे हाथ से जाने देने का रिस्क नही लेते भले ही उनके पकड़े जाने का रिस्क क्यों न हो. आरा से ओ पी पांडेय की रिपोर्ट

Read more

बेरोजगार छात्रों और पुलिस में भिड़ंत, पथराव और लाठी चार्ज में दो दर्जन लोग जख़्मी

रेलवे परीक्षा में शुल्क वृद्धि के खिलाफ बेरोजगार युवकों ने काटा बवाल, ट्रेन रोकी लाठी चार्ज, हवाई फायरिंग, दर्जनों घायल घायल में छात्र, पुलिस समेत 2 महिला पुलिसकर्मी भी आरा, 16 फरवरी. दानापुर रेल मंडल के आरा रेलवे स्टेशन पर हजारों बेरोजगार युवाओ ने सासाराम पैसेंजर ट्रेन को रोक बवाल काटा. बेरोजगारों ने यह बवाल असिस्टेंट लोको पायलट तथा अन्य तकनीशियन के पदों पर बहाली में लगभग 12 गुना से भी ज्यादा शुल्क में बढ़ोतरी को लेकर काटा. वे रेलवे से ITI की अनिवार्यता को हटाने की भी मांग कर रहे थे. बताते चलें कि प्रदेश ही नही देश मे व्याप्त बेरोजगारी व लंबे समय से बहाली नही होने से नाराज बेरोजगार युवकों ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. बेरोजगार छात्रों का हुजूम चलती ट्रेन पर चढ़ गया और सबसे पहले आरा सासाराम रेलखंड पर जाने वाली सासाराम पैसेंजर ट्रेन को रोककर अपना प्रदर्शन किया. हंगामे के कारण आरा रेलवे स्टेशन पर अफरा-तफरी मची रही, जिसके कारण घंटों रेलवे का परिचालन बाधित हुआ. छात्रों के इस हंगामे के कारण अप एंड डाउन लाइन पर आरा और आसपास के रेलवे स्टेशनो पर कई ट्रेनों को खड़ा करना पड़ा. बेरोजगार युवकों का कहना था कि लगभग 4 साल के बाद बहाली भी आई है तो उम्र सीमा 18-30 की जगह 18-28 कर दी गई. यही नहीं सामान्य वर्ग के अलावा OBC, SC और ST वर्ग में भी उम्र सीमा पहले 18-35 की जगह 18-33 कर दी गई जो बिल्कुल जायज नहीं है. इसके अलावे 2014 में जो आखिरी बहाली रेलवे की

Read more