अमिताभ के कंधों पर एक बार फिर अहम जिम्मेवारी

बिहार में कायस्थों के सबसे पुराने संगठनों में से एक और पटना के सबसे बड़े चित्रगुप्त परिवार के संगठन अशोक नगर चित्रगुप्त परिषद् की नई कार्यकारिणी का चुनाव संपन्न हो गया. नई कार्यकारिणी में राजीव रंजन को सर्वसम्मति से अध्यक्ष चुना गया है जबकि एन के पी वर्मा को उपाध्यक्ष चुना गया है. परिषद् के सबसे अहम पद सचिव के लिए रिकॉर्ड आठवीं बार अमिताभ सिन्हा को चुना गया है जबकि राकेश कुमार को कोषाध्यक्ष चुना गया है. कायस्थों के इस प्रतिष्ठित संगठन की नवगठित कार्यकारिणी (2017-18) इस प्रकार है- 1 राजीव रंजन – अध्यक्ष 2 नवल किशोर प्रसाद वर्मा – उपाध्यक्ष 3 लक्ष्मी कान्त प्रसाद – उपाध्यक्ष 4.  अमिताभ – सचिव 5 . डॉ अनूप कुमार अनुपम- संयुक्त सचिव 6.  अरूण कुमार श्रीवास्तव- संयुक्त सचिव 7.  सुधीर कुमार कर्ण – संयुक्त सचिव 8.  राकेश कुमार – कोषाध्यक्ष एवं कार्यकारिणी सदस्य 9.  राकेश रौशन “बबलू” 10.  राकेश कुमार वर्मा 11.  त्रिपुरारी शरण 12.  मनोज कुमार सिन्हा 13.  संजय कुमार वर्मा 14.  पंकज प्रकाश 15.  राजीव रंजन वर्मा 16.  राजेश कुमार सिन्हा 17.  रंजन कुमार श्रीवास्तव 18.  अमरेन्द्र कुमार सिन्हा 19.  मनीष कुमार 20.  सुरेन्द्र कुमार

Read more

पटना महानगर योजना समिति का चुनाव

पटना के अनुग्रह नारायण सिन्हा सामाज अध्ययन संस्थान में आज वोटिंग हो रही है. पटना डीएम संजय कुमार अग्रवाल की अध्यक्षता में हो रहे इस चुनाव में पटना महानगर योजना समिति के सदस्यों का चुनाव होगा.

Read more

ध्यान से नोट कर लें ये सारी जानकारी

पटना जिला प्रशासन की ओर से जो निर्देश जारी किए गए हैं, वे काफी महत्वपूर्ण हैं. ना सिर्फ निजी स्कूलों के लिए बल्कि बच्चों और उनके गार्जियन के लिए भी. आप इन्हें जरूर पढ़ें ताकि किसी भी जरुरत या फिर स्कूलों की मनमानी के समय आप उन्हें इनकी याद दिला सकें. यही नहीं, पटना के डीएम, एसएसपी. सिटी एसपी और  ट्रैफिक एसपी ने बिल्कुल साफ कह दिया कि अगर आपकी परेशानी स्कूल दूर नहीं कर रहे हों सीधे नजदीकी थाने में संपर्क करें या फिर डीएम, एसएसपी समेत किसी भी अधिकारी को फोन करें. लेकिन याद रहे, ना सिर्फ डीएम बल्कि पटना पुलिस ने साफ-साफ कह दिया है कि 18 साल से कम के लड़के या लड़कियां बिना ड्राइविंग लाइसेंस के स्कूल जाते या गाड़ी चलाते पकड़े गए तो अत्यंत सख्त कार्रवाई होगी. जाहिर तौर पर ये जिम्मेवारी बच्चे के गार्जियन की होगी. नोट करें- हर निजी स्कूल में पर्याप्त संख्या में CCTV कैमरे होने चाहिए जो पूरी तरह एक्टिव हों और कैमरों/ विजुअल की निगरानी के लिए एक व्यक्ति जरुर हो. इसकी नियमित मॉनिटरिंग होनी चाहिए. सभी स्कूलों में 15 दिनों के अंदर सुझाव पेटी(Suggestion Box) लगाने का आदेश. सुझाव पेटी की चाभी प्राचार्य के पास रहेगी तथा इसको खोलते वक्त इसकी वीडियोग्राफी भी करायी जायेगी. सभी स्कूलों में निबंधित सुरक्षा एजेन्सी के माध्यम से ही सुरक्षा गार्ड रखने का निदेश. सुरक्षा व्यवस्था की देख-भाल हेतु एक कर्मी को प्रभारी बनाने का निदेश. सभी सुरक्षा प्रभारियों को जिला स्तर पर दिया जायेगा प्रशिक्षण. सभी विद्यालयों में पास्को के तहत्

Read more

कोइलवर पुल मतलब जाम… ऐसा क्यों!

बात हो रही है पटना को सड़क मार्ग से पश्चिम भारत से जोड़ने वाले अत्यंत महत्वपूर्ण कोइलवर पुल की. सोन नदी पर अवस्थित कोइलवर अब्दुल बारी पुल विकास की जीवन रेखा का एक मुख्य बिन्दु है . यातायात की सुविधा विकास की कुंजी मानी जाती है . यह पुल रोड एवं रेल यातायात का न सिर्फ इस क्षेत्र के लिए मुख्य साधन है बल्कि राज्य की राजधानी पटना को राष्ट्रीय राजधानी नई दिल्ली से सीधा जोड़ता है . पुराने शाहाबाद जिला से विभाजित होकर बने इस क्षेत्र के सभी जिला मुख्यालयों को भी यह पुल राज्य की राजधानी से जोड़ने का एकमात्र साधन है. लोहे के गाटर से बने इस दोहरे एवं दो मंजिला पुल की निर्माण तकनीक व सुन्दरता लोगों को आज भी काफी आकर्षित करती है. यह पुल अपने निर्माण का शतक लगा चुका है . इसके बावजूद इस पुल के ऊपरी मंजिल स्थित अप एवं डाउन रेल लाइन से दर्जन भर सुपर फास्ट ट्रेन समेत दर्जनों यात्री एवं गुड्स ट्रेनें हर रोज गुजरती हैं . सैकड़ों भारवाहक वाहन समेत बस-कार आदि यात्री वाहन निचले मंजिल के दोहरे सुरंगनुमा सड़क मार्ग से गुजरते हैं . इसके नीचे बहती रहती है सोन नदी की अविरल धारा जिसमें नौकाएं तैरती रहती हैं . सोन नदी से निकला बालू इसी पुल से उत्तर बिहार तक और पश्चिम में उत्तर प्रदेश के पूर्वी क्षेत्र तक वाहनों द्वारा पहुंचकर विकास में योगदान देता है . पटना-आरा के बीच कोइलवर पुल के बारे में तथ्य पुल की लंबाई 1400 मीटर दक्षिणी रोड लेन 4.12

Read more

NH से हटेगा अतिक्रमण और गैर-कानूनी प्रवेश

राष्ट्रीय राजमार्गों पर गैर-कानूनी रूप से ढाबा, भवन, फ्रैक्ट्री, रेस्तरां, होर्डिंग तथा विज्ञापन, लगाने के मामले सामने आए हैं। इस तरह के प्रतिष्ठान राष्ट्रीय राजमार्ग पर चलने वाले यातायात में सुरक्षा की दृष्टि से खतरनाक हैं क्योंकि राजमार्गों पर गैर-कानूनी रूप से प्रवेश किया जाता है और वाहन खड़े किए जाते हैं. अनाधिकृत होर्डिंग तथा विज्ञापन भी सुरक्षा की दृष्टि से खतरनाक हैं क्योंकि इससे वाहन चालकों का ध्यान भटकता है. राष्ट्रीय राजमार्ग नियंत्रण (भूमि और यातायात) अधिनियम 2002 (अध्याय 3 और 4) के अंतर्गत गैर-कानूनी प्रतिष्ठानों की स्थापना दंडनीय अपराध है। एनएचएआई ने ऐसे सभी प्रतिष्ठानों से अपने स्तर पर गैर-कानूनी गतिविधियां बंद करने और नीति के अंतर्गत प्रतिष्ठान में कानूनी रूप से प्रवेश करने संबंधी आवेदन के लिए अपील जारी की है। ऐसे प्रतिष्ठानों से यह भी कहा गया है कि होर्डिंग तथा विज्ञापनों को हटाएं क्योंकि इससे वाहन चालकों का ध्यान भटकता है. ऐसा नहीं करने पर फील्ड अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि वे ऐसे गैर-कानूनी प्रवेशों होर्डिंग/विज्ञापन हटाने के लिए विशेष अभियान प्रारंभ करें और स्थानीय पुलिस और जिला प्रशासन की सहायता से राष्ट्रीय राजमार्गों पर गैर-कानूनी रूप से खड़े किए गए वाहनों के विरुद्ध कार्रवाई करें. कार्रवाई में दोषियों के विरूद्ध पुलिस में शिकायत दर्ज कराना भी आवश्यक है.

Read more

रेयान से मचे हाहाकार के बाद पटना के स्कूलों पर भी सख्ती

गुरुग्राम के रेयान स्कूल में सात साल के प्रद्यूम्न मर्डर के बाद भी पटना जिला प्रशासन आंखें मूंदे बैठा था. लेकिन patnanow और अभिभावकों की आवाज से जिला प्रशासन की आंख खुली है. पटना डीएम ने 14 सिंतबर को सभी स्कूलों के प्रबंधन की बैठक बुलाई है जिसमें स्कूली बच्चों की सुरक्षा, स्कूलों और अभिभावकों के बीच बेहतर संवाद समेत कई मुद्दों पर चर्चा होगी. File Pic क्या होगा बैठक का एजेेंडा- निजी विद्यालयों में छात्र-छात्राओं की सुरक्षा का बेहतर वातावरण तैयार करने, अभिभावक एवं स्कूल प्रबंधन के बीच बेहतर संवाद स्थापित करने तथा वि़द्यालयों में शैक्षणिक माहौल में सुधार आदि मुद्दों पर गहन समीक्षा. छात्र-छात्राओं की सुरक्षा के संबंध में वि़द्यालय में उपलब्ध सुविधाओं की समीक्षा सुरक्षा में लापरवाही बरतने पर की जायेगी कार्रवाई लापरवाही बरतने वाले विद्यालय प्रबंधन की मान्यता रद्द करने के लिए CBSE, ICSE, BSEB से की जाएगी अनुशंसा विद्यालय में उपलब्ध मूलभूत सुविधाओं के संबंध में सभी वि़द्यालयों से मांगी गयी है जानकारी सभी विद्यालयों को उपलब्ध कराया गया है विहित प्रपत्र प्रपत्र को पटना जिला की वेबसाइट से भी किया जा सकता है डाउनलोड. स्कूल प्रबंधनों से निम्नांकित बिन्दुओं पर सूचनाओं की मांग की गयी हैः- स्कूल में Complaint/Suggestion Box की उपलब्धता SMS की सुविधा CCTV की सुविधा स्कूल में सुरक्षा गार्ड की स्थिति सुरक्षा गार्ड को प्रशिक्षण देने की स्थिति आपदा की स्थिति से निपटने की तैयारी अग्निशमन की व्यवस्था बच्चों को भूकंप के दौरान बचने का प्रशिक्षण बस में GPS की सुविधा, वाहन पार्किंग की व्यवस्था बस पर चालक/कन्डक्टर का नाम, नम्बर

Read more

2 सालों से नहीं ली परीक्षा, भड़के छात्रों का हंगामा

पटना के बोरिंग रोड को छात्रों ने जाम कर दिया है. सिमेज इंस्टीट्यूट के छात्रों ने किया बोरिंग रोड जाम सिमेज प्रबंधन पर पैसा ठगने का आरोप 2 साल से परीक्षा नहीं लिए जाने से नाराज़ हैं छात्र

Read more

अब मोबाइल एप के जरिए छुट्टी लेंगे सरकारी बाबू

पटना प्रमंडल के कमिश्नर आनंद किशोर ने शनिवार को एक खास मोबाइल एप लॉंच किया. इस एप का नाम लीव इनफॉर्मेशन एप है. इसके जरिए पटना प्रमंडल से जुड़े सभी सरकारी अधिकारी और कर्मचारी अपने लीव के अप्लाइ कर सकेंगे जिसे एप के जरिए ही उनके संबंधित अधिकारी सैंक्सन या रिजेक्ट कर सकेंगे. लॉंच के दौरान पटना प्रमंडल के नालंदा, पटना, आरा, बक्सर, रोहतास और कैमूर के DM सहित सभी संबंधित अधिकारी भी उपस्थित थे. पटना आयुक्त आनंद किशोर ने बताया कि इस एप के जरिए पर्व त्योहारों के वक्त खास तौर से जिम्मेदार अधिकारियों की निगरानी की जा सकेगी. इसे एन आई सी ने डेवलप किया है और इसमें सभी संबंधित अधिकारियों के मोबाइल नंबर और उनकी छु्ट्टी की भी पूरी जानकारी उपलब्ध है. किस कर्मी ने कितना CL/SL लिया है, इसकी भी पूरी जानकारी इस एप पर उपलब्ध है.

Read more

‘शर्म करो जी, शर्म करो-खुले में शौच बन्द करो’

पटना जिले के कई प्रखंडोें में आज हर तरफ यही आवाज सुनाई दे रही थी. पटना डीएम संजय अग्रवाल के सख्त रुख के बाद जिले में शौचालय निर्माण में जहां तेजी आई है वहीं महिलाएं खुद ही अपने घर में शौचालय बनाने में जुट गई हैं.   डीएम की समीक्षा के बाद शुक्रवार को हर प्रखंड में जागरूकता रैली निकाली गई. महिलाओं ने शपथ लिया कि शौचालय बनाकर ही दम लेंगे. आज पटना के सभी प्रखंडों के लगभग 100 गाँव में निकाली गई जागरूकता रैली. डीएम ने स्पष्ट रूप से कहा कि प्रत्येक प्रखंड 2 अक्टूबर तक कम से कम एक पंचायत ODF करें. जिलाधिकारी के इस कड़े रूख से ग्रामीणों में विशेष रूप से महिलाओं में काफी ख़ुशी देखी जा रही है. सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी को चेतावनी दी गई कि कार्य में तेजी लाए तथा जितने भी लंबित भुगतान हैं, उसका शीघ्र भुगतान करें. बता दें कि अब तक पटना जिला में 42 पंचायतें 791 वार्ड ODF हो चुके हैं. इनमें  मोकामा प्रखंड द्वारा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया गया है.

Read more

‘फिट रहना है तो रहें एक्टिव’

जीवन में सक्रिय रहना बेहद जरूरी है. अगर सक्रिय ना रहे तो कई बीमारियां शरीर में जन्म ले लेती हैं और फिर तो फिजियोथेरेपी ही एकमात्र विकल्प है. ये कहना है पटना एम्स के निदेशक डॉ प्रभात कुमार सिंह का. फिजियोथेरेपी दिवस के मौके पर पटना के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि फिजियोथेरेपी विभाग को बढ़ावा देने के लिए नए जल्द से जल्द अत्याधुनिक उपकरण मंगाया जाएगा. कार्यक्रम की आयोजक फिजियोथेरेपिस्ट रीना श्रीवास्तव ने बताया कि फिजिकल एक्टिविटीज हर उम्र में जरूरी है. बचपन से लेकर वृद्धावस्था तक यदि शरीर को सक्रिय रखा जाए तो बीमारियों से दूर रहा जा सकता है. यही नहीं दर्द से छुटकारा पाने और शरीर को सामान्य स्थिति में लाने के लिए व्यायाम बेहद जरूरी है. घुटना या कूल्हा प्रत्यारोपण हो या फिर प्रसव के बाद या पेट और कार्डियक सर्जरी के बाद दर्द रहित सामान्य जीवनयापन में फिजियोथेरेपी की महत्वपूर्ण भूमिका है. एम्स में फिजियोथेरेपी सम्बंधी इन सभी समस्याओं का इलाज आधुनिक मशीनों द्वारा किया जा रहा है. उन्होंने बताया कि हर रोज एम्स की फिजियोथेरेपी ओपीडी में 80 से 100 मरीज आते हैं. AIIMS के डीन डाॅ.पीपी गुप्ता ने कहा कि हर उम्र में फिजियोथेरेपी की जरूरत पड़ती है, यह अस्पताल का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है. इस मौके पर चिकित्साधीक्षक डाॅ.एस.एस.गुप्ता ने भी फिजियोथेरेपी की महत्ता पर प्रकाश डाला. कार्यक्रम में डाॅ.रामजी सिंह, डाॅ.नीरज अग्रवाल, डाॅ.बिन्दे कुमार, डाॅ.प्रेम कुमार, डाॅ.सीएम सिंह, डाॅ.संजीव कुमार, डाॅ.वीना सिंह, डाॅ.अनूप कुमार, डाॅ.सुदीप कुमार, डाॅ.योगेश, डाॅ.मुक्ता अग्रवाल, डाॅ.प्रीतांजलि सिंह, डाॅ.संजय पांडेय समेत अन्य

Read more