पारिवारिक सर्वेक्षण कराएगा अखिल भारतीय कायस्थ महासभा 

अखिल भारतीय कायस्थ महासभा कायस्थ समाज के परिवार के लोगों का पारिवारिक सर्वेक्षण करायेगी. इसका एक डेटाबेस तैयार कर आर्थिक एवं सामाजिक रूप से पिछड़े परिवारों के लोगों के सबलता हेतु सार्थक प्रयास किया जायेगा. अभाकाम के राष्ट्रीय कार्यवाहक अध्यक्ष एवं जदयू प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने कहा कि महासभा के द्वारा आगामी फरवरी माह में समाज के विवाह योग्य युवक युवतियों का परिचय सम्मेलन आयोजित किया जायेगा जिसमे वैसे जोड़े जो दहेज़रहित विवाह के लिए इक्षुक हों , उनका सामूहिक विवाह महासभा के द्वारा कराया जायेगा.  अभाकाम प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक में महासभा के प्रदेश अध्यक्ष जे. के. दत्ता ने सेवानिवृत वरिष्ठ प्रशासनिक पदाधिकारी आनंद बिहारी प्रसाद श्रीवास्तव को महासभा के बिहार प्रदेश के मार्गदर्शक मंडल का अध्यक्ष, अधिवक्ता अपर्णा भारती को महिला कोषांग का प्रदेश अध्यक्ष एवं अधिवक्ता शशांक शेखर सिन्हा को राजनैतिक कोषांग का प्रदेश अध्यक्ष मनोनीत किया है . उक्त अवसर पर तीनों मनोनीत लोगों का अभिनंदन महासभा के राष्ट्रीय कार्यवाहक अध्यक्ष राजीव रंजन प्रसाद एवं महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं पूर्व IAS श्याम जी सहाय के द्वारा संयुक्त रूप से किया एवं पुष्प गुच्छ तथा अंग वस्त्र देकर उन्हें सम्मानित किया . प्रदेश उपाध्यक्ष एवं प्रवक्ता अतुल आनंद सन्नु ने बताया कि आगामी 2 दिसम्बर को देश के प्रथम राष्ट्रपति देशरत्न डॉ राजेंद्र प्रसाद की जयंती के पूर्व संध्या पर बांस घाट स्थित उनके समाधि स्थल पर संकल्प समारोह आयोजित किया जायेगा. बैठक में मुख्य रूप से प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष दीपक कुमार अभिषेक, कोषाध्यक्ष सुनील कुमार सिन्हा, प्रदेश प्रवक्ता मनीष कुमार, आशुतोष श्रीवास्तव, अनिल श्रीवास्तव, युवा प्रदेश अध्यक्ष राजेश कुमार सिन्हा एवं महासचिव कुमार आर्यन, उपाध्यक्ष साकेत सिन्हा, अभय श्रीवास्तव, लाला

Read more

भारी मतों से निर्वाचित हुए डॉ निगम प्रकाश

डॉ निगम प्रकाश नारायण निर्वाचित सूबे के मशहूर चाइल्लड स्पेशलिस्ट और पटना मेडिकल कॉलेज(PMC) के प्राध्यापक एवं पूर्व विभागाध्यक्ष डॉ निगम प्रकाश नारायण भारतीय शिशु अकादमी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य के पद पर भारी मतों से निर्वाचित हुए हैं. पूर्व में भी डॉ नारायण राज्य तथा राष्ट्रीय स्तर पर कई महत्वपूर्ण पदों पर अपना योगदान दे चुके हैं. patnanow से बातचीत में डॉ नारायण ने कहा कि बिहार के बच्चों में कुपोषण तथा संक्रामक रोगों के नियन्त्रण के लिये वे कृतसन्कल्प हैं. साथ ही उन्होनें शिशु स्वास्थ्य सम्बन्धी सभी राष्ट्रीय योजनाओं का लाभ सूबे के सभी बच्चों को दिलाने का भरोसा जताया है. अमित वर्मा

Read more

महापर्व पर उत्कृष्ट कार्य करने वाले सम्मानित

पटना में इस साल छठ पर्व के बेहतरीन आयोजन की चर्चा हर ओर थी. लोगों की सुविधा का हर इंतजाम इस बार किया गया था जिसके कारण लोगों को ना सिर्फ घाटों पर बल्कि सड़कों पर ट्रैफिक को लेकर भी कोई समस्या नहीं हुई. छठ के दौरान दिन-रात एक करके ड्यूटी करने वाले और सफल आयोजन में योगदान देने वाले पदाधिकारियों, पुलिसकर्मी और अन्य महत्वपूर्ण लोगों को गुरुवार को पटना कमिश्नर आनंद किशोर ने सम्मानित किया. इस मौके पर उन्होंने सभी को धन्यवाद भी दिया और कहा कि इस बार की व्यवस्था अभूतपूर्व थी जिसकी प्रशंसा हर आम और खास ने की.   पटना के हिन्दी भवन में आयोजित सम्मान समारोह में पटना डीएम संजय कुमार अग्रवाल, वरीय पुलिस अधीक्षक मनु महाराज, नगर आयुक्त अभिषेक कुमार सिंह, बुडको के प्रबंध निदेशक अमरेंद्र कुमार सिंह सहित छठ कार्य में संबद्ध सेक्टर पदाधिकारी, जिला स्तरीय प्रशासनिक पदाधिकारी, पुलिस पदाधिकारियों को भी सम्मानित किया गया. इनके अलावा पटना नगर निगम, बुडको, स्वास्थ्य विभाग, NDRF, SDRF, PHED, भवन निर्माण विभाग के अभियंताओं को भी सम्मानित किया गया. छठ महापर्व के उत्कृष्ट आयोजन में प्रशासन के साथ बेहतर समन्वय स्थापित कर उत्कृष्ट सहयोग प्रदान करने वाले 15 चयनित पूजा समितियों को भी आयुक्त ने सम्मानित किया. इनके साथ ही मीडिया से जुड़े लोगों को भी सम्मानित किया गया. इस दौरान patnanow टीम को पटना के प्रमंडलीय आयुक्त आनंद किशोर ने सम्मानित किया.   अमित वर्मा

Read more

प्रेस दिवस पर परिचर्चा का आयोजन

राष्ट्रीय प्रेस दिवस के मौके पर आरा में एक परिचर्चा का आयोजन किया गया. जिला जनसंपर्क कार्यालय की ओर से आयोजित इस परिचर्चा में विभिन्न मीडिया हाउस से जुड़े पत्रकारों ने भाग लिया. आरा से ओपी पांडे

Read more

आपर्टमेंट के अवैध हिस्सों को तोड़ने की कार्रवाई शुरू

पटना के फुलवारी शरीफ के पूर्णेन्दु नगर में सारण विहार अपार्टमेंट में अवैध निर्माण पर कार्रवाई शुरू हो गई है. patnanow ने पहले ही आपको बताया था कि मंगलवार से फुलवारीशरीफ के विभिन्न अपार्टमेंट पर कार्रवाई होगी. क्लिक करें-https://goo.gl/sZKtZG पटना हाई कोर्ट के आदेश से अवैध निर्माण पर तोड़ फोड़ के सम्बंध में नगर परिषद का कोई अधिकारी और कर्मचारी कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है. बता दें कि पटना हाईकोर्ट ने एक याचिका की सुनवाई करते हुए फुलवारी शरीफ नगर परिषद को आदेश दिया था कि नियमों को ताक पर रखकर बनाए गए अवैध तरीके के अपार्टमेंट के हिस्सों को तोड़ना है. इसी आलोक में नगर परिषद को 7 नवम्बर से 23 नवम्बर तक सभी अवैध निर्माण हिस्से को तोड़कर 24 नवंबर को नगर कार्यपालक पदाधिकारी को कोर्ट में पेश होना है . सबसे पहले आज सारण विहार अपार्टमेंट में अवैध निर्माण को तोड़ने की कार्रवाई शुरू हुई है. इस दौरान वहां सिटी मैनेजर और नगर परिषद कर्मी मौजूद हैं. पूरी खबर के लिए क्लिक करें- https://goo.gl/sZKtZG पटना से अजीत

Read more

अब फास्टैग युक्त होंगे सभी चार पहिया मोटर वाहन

1 दिसंबर, 2017 से बेचे जाने वाले सभी चार पहिया मोटर वाहनों पर होगा फास्टैग आने वाले एक दिसंबर से सभी चार पहिया वाहनों के लिए अपने विंड स्क्रीन पर फास्टैग लगाना अनिवार्य कर दिया गया है. केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने एक राजपत्र अधिसूचना जारी की है, जिसके अनुसार 1 दिसंबर, 2017 के बाद बेचे जाने वाले सभी चार पहिया मोटर वाहनों पर वाहन के विनिर्माता या उसके अधिकृत डीलर, जैसा भी मामला हो, द्वारा फास्टैग फिट किए जाएंगे. बिना विंड स्क्रीन के ड्राइव अवे चेसिस के रूप में बेचे जाने वाले वाहनों के मामले में फास्टैग वाहन मालिक द्वारा इसके पंजीकरण कराए जाने से पूर्व फिट किए जाएंगे. इस बारे में, केन्द्रीय मोटर वाहन नियम 1989 के संबंधित खंड में आवश्यक संशोधन कर दिया गया है. क्या है फास्टैग फास्टैग दरअसल एक ऐसा सिस्टम है जिसके जरिए आप देशभर के किसी भी टोल प्लाजा पर बिना रुके यात्रा कर पाएंगे. क्योंकि इसके जरिए टोल प्लाजा पर आपके वाहन के गुजरते ही ऑटोमेटिक ऑनलाइन पेमेंट हो जाएगा.   यानि आपको टोल प्लाजा पर टैक्स देने के लिए रुकना नहीं होगा. इसमें आप ऑनलाइन या कैश के जरिए रिचार्ज कर सकेंगे जो देशभर में कही भी उपल्बध होगा. इस सिस्टम से यात्रा में समय कम लगेगा और पेट्रोल-डीजल की बचत भी होगी. इसके पहले की गाड़ियों पर भी लोग किसी भी टोलप्लाजा से फास्टैग लगवा सकते हैं. देशभर के टोलप्लाजा पर एक लेन फैस्टैग वाली गाड़ियों के लिए खोल दिया गया है.

Read more

27 IAS समेत 44 अधिकारी इधर से उधर

बिहार में आज बड़े स्तर पर अधिकारियों को इधर से उधर किया गया है. 27 आईएएस समेत कुल 44 अफ़सरों का तबादला हुआ है. देखिए लिस्ट- राजेश रौशन बने पटनासिटी के SDO अरूण प्रकाश बने SDO आरा सदर शंकर शरण ओमी बने SDO जयनगर किरण सिंह बनीं SDO अरवल सुनील कुमार सिंह बने SDO मधुबनी सदर नीरज कुमार बने SDO कटिहार सदर मुकेश कुमार बने SDO नवगछिया जे प्रियदर्शनी बनीं मुजफ्फरपुर पश्चिम की SDO भावेश मिश्रा बने पटना सदर SDO सज्जन आर बने बाढ़ SDO मनेश कुमार मीणा बने खगड़िया सदर SDO सावन कुमार बने बायसी SDO प्रशांत कुमार सी एच बने सहरसा सदर SDO घनश्याम मीणा बने बगहा SDO सुहर्ष भगत बने भगलपुर सदर SDO अमर समीर बने सिवान सदर SDO सौरभ जोरवाल बने बिहारशरीफ SDO यशपाल मीणा बने किशनगंज DCC अभिलाषा कुमारी शर्मा बनी बांका DDC आदित्य प्रकाश बने पटना DDC रौशन कुशवाहा बने छपरा DDC शशांक शुभंकर बने भोजपुर DDC अमित पांडेय बने कटिहार DDC उदित सिंह बने रोहतास DDC रंजीता बनी अररिया DDC आनंद शर्मा बने भागलपुर DDC नवल किशोर चौधरी बने सुपौल DDC सुब्रत कुमार सेन बने बिहारशरीफ DDC नवदीप शुक्ला बने सहरसा DDC योगेंद्र सिंह बने बेतिया DDC धर्मेंद्र कुमार बने मधुबनी DDC राघवेंद्र सिंह बने गया DDC कृष्णा प्रसाद बने कैमूर DDC अरविंद कुमार बने बक्सर DDC प्रभात कुमार बने सीतामढ़ी DDC वारिस खान बने शिवहर के DDC अखिलेश कमार बने मोतिहारी के DDC कारी प्रसाद बने दरभंगा के DDC मुकेश कुमार बने मधेपुरा के DDC राम निरंजन सिंह बने खगड़िया के DDC

Read more

पटना के इस ब्लॉक ऑफिस में नहीं है शौचालय

प्रखंड कार्यालय कैंपस में शौचालय की सुविधा नहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छता अभियान और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा सात निश्चय में हर घर नल का जल की बानगी देखनी हो तो इसके लिए सटीक व उपयुक्त स्थान ज्यादा दूर नहीं है. राजधानी पटना से महज 15 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है मनेर प्रखंड कार्यालय. patnanow की टीम जब ने मनेर प्रखंड कार्यालय में मुख्यमंत्री के सात निश्चय योजना की जानकारी ली तो आश्चर्य का ठिकान नहीं रहा. मनेर प्रखंड कार्यालय परिसर में कहीं पर जल की व्यवस्था ही नहीं और ना ही शौचालय है. ऐसे में अब सवाल उठना लाजमी है. एक तरफ तो गांव – शहर में केंद्र सरकार के स्वच्छता अभियान की पहल हो रही है वहीं मनेर प्रखंड कार्यालय में स्वच्छता पर  ग्रहण लगता दिख रहा है. इसमें सबसे बड़ी बात तो यह है कि मनेर प्रखंड के अंतर्गत आने वाले गांवों की बड़ी संख्या है. जहां रोजाना लगभग दस हजार महिला, पुरूष व छात्र – छात्राओं का आना जाना लगा रहता है. ऐसे में उन लोगों को शौचालय जाना गंभीर समस्या बन चुकी है और प्रखंड परिसर में लगे जंगल झाड़ी का सहारा लेना पड़ता है. यहां तक कि मनेर प्रखंड कार्यालय के परिसर में बैठने की भी सुविधा नहीं है. जमीन पर ही बैठकर ग्रामीण अपना काम निपटाते हैं. इस संबंध में स्थानीय लोगों ने बताया कि बहुत समय पहले यहां चापाकल लगाया गया था जिसे खराब होने के कारण उपयोग में नहीं लाया जा रहा है और इस पर किसी भी

Read more

छठ के दौरान रिवर एंबुलेंस लगाएंगे घाटों के चक्कर

River Ambulance रखेंगे छठव्रतियों का ध्यान DM संजय कुमार अग्रवाल ने किया रिवर एम्बुलेंस का शुभारंभ काली घाट से वाटर एम्बुलेंस को किया रवाना 4 वाटर एम्बुलेंस गंगा नदी में रहेंगे घाटों के आस पास भ्रमणशील    गंगा से सटे सभी छठ घाटों पर जिला प्रशासन की ओर से तमाम इतजाम किए गए हैं. डीएम संजय अग्रवाल खुद घाटों पर सारे इंतजामों का जायजा ले रहे हैं. प्रशासन के स्तर से श्रद्धालुओं की सुविधा एवं सुरक्षा के लिए पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. घाटों पर इमरजेंसी की स्थिति के लिए डॉक्टरों की टीम और जीवन रक्षक दवाओं के साथ वाटर एम्बुलेंस आज से ही लगातार घाटों पर उपलब्ध रहेगा. ताकि इमरजेंसी की स्थिति में पीड़ितों को जल मार्ग से ही तुरंत PMCH पहुँचाया जा सके- संजय अग्रवाल, डीएम पटना     ये भी पढ़ें-  https://goo.gl/8P3Wso

Read more

स्पेशल ट्रेन के नाम पर यात्रियों के साथ मजाक क्यों?

स्पेशल ट्रेन यानि कम से कम 12 से 15 घंटे लेट. अब जरा सोचिए. छठ स्पेशल ट्रेन अगर छठ के बाद अपनी मंजिल पर पहुंचे तो फिर क्या मतलब है ऐसी ट्रेन का. सबसे बड़ा मजाक तो यही है कि बिहार के लिए कई ट्रेनें सिर्फ छठ स्पेशल के तौर पर चलाई जा रही हैं, लेकिन इससे घिनौना मजाक क्या हो सकता है कि ये ट्रेनें पूरे पैसे लेकर यात्रियों के साथ छल कर रही हैं. दिल्ली, मुंबई या फिर किसी अन्य मेट्रो सिटी से छुट्टी लेकर छठ के घर आने वाले कई यात्रियों से patnanow की टीम ने बात की. सबका एक सुर में कहना था कि रेलवे कहने को तो महापर्व में सुविधा के नाम पर स्पेशल ट्रेन चलाता है जिसमें पूरे पैसे देकर यात्री किसी तरह पर्व में घर पहुंचना चाहते हैं. लेकिन इन ट्रेनों में सुविधा के नाम पर कुछ नहीं होता. ना तो पैंट्री कार होती है, ना पीने का पानी मिलता है और सबसे बड़ी बात ये कि स्पेशल ट्रेनों को पूरे रास्ते जहां-तहां रोककर दूसरी ट्रेनों को क्रॉस कराया जाता है. नतीजा ये होता है कि स्पेशल ट्रेन अपनी मंजिल पर इतनी देर से पहुंचती हैं कि उन ट्रेनों को चलाने के मकसद पर ही सवालिया निशान लग जाता है. यही कारण है कि ज्यादातर लोग बड़ी ट्रेनों में ही सफर करना पसंद करते हैं ताकि समय पर घर पहुंच सकें. स्पेशल ट्रेनों को लेकर ये शिकायत कोई नहीं है. हर साल ये समस्या देखने को मिलती है. हर बार होली, दीवाली और

Read more