सरकार के किसी स्टार्ट अप की इन्हें नहीं जरुरत

खुद बनीं स्टार्ट अप कंपनियों के लिए मिसाल

20 साल में खड़ी कर दी उद्यमी महिलाओं की फौज

एक से बढ़कर एक ब्रांड के जरिए महिला उद्योग संघ ने पेश की नजीर

 

बात हो रही है बिहार महिला उद्योग संघ की जिसकी कर्णधार हैं पुष्पा चोपड़ा. बीस साल पहले बिना किसी बाहरी या सरकारी मदद के शुरू किया गया पुष्पा चोपड़ा का प्रयास अब रंग दिखाने लगा है. 200 से शुरूआत करने वाले आज 10-20 लाख कमा रहे हैं और वो भी बिना किसी सरकारी मदद के. 7 से 11 सितंबर तक पटना में उद्योग संघ की महिलाओं ने 23वां उद्योग मेला लगाया जिसमें देश के कई राज्यों से आए उद्यमियों ने भी अपना स्ट़ॉल लगाया.

बिहार महिला उद्योग संघ की अध्यक्ष पुष्पा चोपड़ा ने बताया कि वे 1997 से अबतक 23 बार उद्योग मेले का आयोजन  कर चुकी हैं. अब तो यहां इतनी भीड़ जुटती है कि स्टॉल के लिए भी मारामारी होती है.

उन्होंने कहा कि सरकार जितना स्टार्ट अप पर अनुदान देकर पढ़ाई और ट्रेनिंग करवा रही है उसका नतीजा कुछ नहीं निकल रहा . उन्होंने बिना किसी सरकारी मदद के इतना बड़ा स्टार्ट अप शुरू किया और आज इतनी बड़ी संख्या में महिलाएँ अपने पैरों पर खड़ी होकर बिहार का नाम रौशन कर रही हैं.

पटना से अमित वर्मा