..और मिल गया BHU को मिला नया ‘कुलपति’

..और मिल गया BHU को मिला नया ‘कुलपति’




वाराणसी, 4 फरवरी. BHU को आखिरकार नया कुलपति मिल गया. वह भी एक वैज्ञानिक कुलपति. जिस कुर्सी पर महामना बैठे, जिस कुर्सी पर सर्वपल्ली राधाकृष्णन बैठे अब उस कुर्सी को सुशोभित करेंगे नए कुलपति प्रो. बालू आनंदा चोपड़े. देश और दुनिया में भारत के विश्विद्यालयों की क्या पोजीशन है आप जान सकते हैं. BHU का स्थान भारत में 9वा और विश्व में 1056 स्थान है. बता दें कि बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के कुलपति का पद प्रोटोकॉल के तहत 27 नवंबर से रिक्त चल रहा था. यह दीगर है कि इससे महीना भर पहले ही तत्कालीन कुलपति प्रो जीसी त्रिपाठी को मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने फोर्स लीव पर भेज दिया था. वजह थी गत 21 सितंबर के बाद बिगड़ा परिसर का माहौल जिसके अंतर्गत विश्वविद्यालय की एक छात्रा के साथ भारत कला भवन के पास छेड़खानी हुई और उसकी शिकायत करने के बाद भी विश्वविद्यालय प्रशासन ने उस पर कोई कार्रवाई नहीं की. इससे उत्तेजित छात्राओं का गुस्सा फूटा और वे सिंह द्वार पर धरने पर बैठ गईं. दो दिन तक वे बस यही मांग करती रही कि कुलपति जो हमारे गार्जियन हैं वह धरना स्थल पर आएं और उन्हें सुरक्षा का आश्वासन दें लेकिन कुलपति धरना स्थल पर नहीं गए. उल्टे वह विश्वविद्यालय के ही कुछ लोगों के कहने पर बार-बार बयान बदलते रहे. इस बीच जब छात्राएं कुलपति से मिलने 23 सितंबर की रात वीसी आवास पहुंची तो उन पर विश्वविद्यालय के सुरक्षाकर्मियों ने लाठीचार्ज किया. परिसर पुलिस छावनी में तब्दील हो गया था. वीसी के विवादित बयानों के चलते एमएचआरडी को उन्हें फोर्स लीव पर भेजना पड़ा. तब से ही विश्वविद्यालय को एक स्थाई कुलपति का इंतजार था जो अब पूरा हो गया है.

आशुतोष कुमार श्रीवास्तव की रिपोर्ट